Wednesday, July 24, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutउफ ! उमस भरी गर्मी से तिलमिलाई जनता

उफ ! उमस भरी गर्मी से तिलमिलाई जनता

- Advertisement -
  • मौसम मेहरबान हो तो कम होगी बिजली विभाग की सिरदर्दी
  • कटौती ने रुलाया, उमस बढ़ने से लगातार बढ़ रह लोड

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: यदि इंद्र देवता मेहरबान हो तो बिजली विभाग की सिरदर्दी कुछ हद तक कम हो। बिजली अधिकारियों की निगाहें आसमन पर मानसून की आमद पर टिक गई हैं। इस समय उमस ने लोगों का दम निकाल कर रख दिया है। लगातार बढ़ती गर्मी के कारण बिजली का लोड भी काफी बढ़ गया है, जिसके चलते कटौती करना विभाग की मजबूरी बन गई है। मंगलवार को भी विभिन्न इलाकों में अलग-अलग शिफ्टों में घंटों कटौती हुई।

इस समय पश्चिमांचल के सभी 14 जिलों में बिजली का लोड बहुत ज्यादा बढ़ गया है। जो लोड पिछले दो तीन सालों में इन्ही दिनों में सात हजार मेगावॉट के आसपास रहता था वो अब बढ़कर 11 हजार के आसपास पहुंच रहा है। उधर, बाजार की स्थिति पर नजर डालें तो अकेले जून के महीने में ही मेरठ शहर में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने एसी खरीदे हैं जिस कारण लोड बढ़ना लाजिमी है।

यही हाल ग्रामीण इलाकों का है। वहां बिजली की अंधाधुंध कटौती के चलते किसानों को सिंचाई की समस्या से दोचार होना पड़ रहा है। ट्रांसफार्मर तपने व लाइनों में तकनीकी फॉल्ट आने से भी बिजली कटौती करना विभाग की भी मजबूरी बन गया है। शहर के कई इलाकों में मंगलवार को भी लोगों को अलग-अलग शिफ्टों में कई बार बिजली कटौती की मार झेलनी पड़ी। सबसे ज्यादा नुकसान औद्योगिक क्षेत्र को उठाना पड़ रहा है।

बिजली कटौती के चलते बिजलीघरों पर लोगों के फोन घनघना रहे हैं लेकिन अधिकतर बिजली घरों पर यह फोन रिसीव नहीं हो रहे हैं। उधर, बिजली अधिकारियों का कहना है कि बिजली आपूर्ति शेड्यूल के हिसाब से करने की पूरी कोशिश की जा रही है और हो भी रही है, लेकिन जमीनी सच्चाई इन दावों से जुदा है।

शहर के दर्जनों इलाके ऐसे हैं। जहां कई-कई घंटे बिजली की कटौती हो रही है। हालांकि मौसम विभाग के अधिकारियों के पूर्वानुमानों ने जरूर इन बिजली अधिकारियों को राहत की सांस दिलवाई है, लेकिन जब तक इंद्र देव मेहरबान नहीं होंगे तब तक बिजली अधिकारियों की निगाह आसमान की ओर ही रहेगी।

पांच दिन में बारिश से मिलेगी गर्मी से निजात

मोदीपुरम: जून के आखिरी सप्ताह में जिस तरह से उमस भरी गर्मी के पड़ने से गर्मी में हालात बेकाबू हो रहे हैं। उसी तरह अगले पांच दिन में बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। क्योंकि रात्रि से पश्चिमी विक्षोभ उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों में सक्रिय होगा। जिसके कारण बादलों की गरज के साथ बारिश होगी। जून के महीने में उमस भरी गर्मी का दौर शुरु हो गया। चुभन और जलन वाली इस गर्मी को जुलाई महीने में देखा जाता था, लेकिन इस बार जून के महीने में ही इस गर्मी ने अपना रुप दिखाना शुरु कर दिया। जिसके चलते लोगों को परेशानी होने लगी।

02 28

अगर मौसम का रुख जिस तरह का देखने को मिल रहा है। यही रहा तो आने वाले दिनों में तो हालात बेकाबू हो जाएंगे, लेकिन मौसम वैज्ञानिकों ने जो अनुमान दिए हैं। उनका कहना है कि अगले पांच दिन तक बारिश होगी और इस भयंकर और तपती गर्मी से लोगों को निजात मिलेगी। राजकीय मौसम वैधशाला पर मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 36.3 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 70 एवं न्यूनमत आर्द्रता 65 प्रतिशत दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिक डा. एन सुभाष का कहना है कि आने वाले दिनों में गर्मी का प्रकोप तो बढ़ेगा ही, लेकिन पांच दिन में गर्मी से लोगों को राहत मिलेगी। बारिश होने की संभावना बनी है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments