Tuesday, December 7, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutउफ! मरीजों का ये रेला, कहीं बेकाबू न हो जाएं हालात

उफ! मरीजों का ये रेला, कहीं बेकाबू न हो जाएं हालात

- Advertisement -
  • ओपीडी में टूटा बुखार के मरीजों के आने का रिकॉर्ड वायरल डेंगू से इंकार नहीं
  • बारिश के बाद भी नहीं टूटा मेडिकल में मरीजों के आने का सिलसिला

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मेडिकल में बुखार के मरीजों का रेला डराने वाला है। भारी बारिश के बाद भी बुधवार को बड़ी संख्या में बुखार के मरीजों को लेकर तीमारदार ओपीडी में पहुंचे। बुखार के अलावा इन दिनों अन्य बीमारियों के मरीज भी बड़ी संख्या में ओपीडी में पहुंच रहे हैं।

जितनी बड़ी तादात में मरीजों के आने का सिलसिला लगा हुआ है, उसके चलते ही हालात के काबू से बाहर होने की आशंका जतायी जा रही है। ओपीडी के पर्चा काउंटर के खुलने से पहले ही वहां लंबी कतार लग गयी थी। मरीजों की भारी भीड़ के चलते मेडिकल प्राचार्य डा. ज्ञानेन्द्र कुमार ने सभी चिकित्सकों से समय से पहले ओपीडी में बैठने के निर्देश दिए हैं।

डाक्टर भी पूरा टाइम ओपीडी को दे रहे हैं, लेकिन मेडिकल प्रशासन की तमाम कवायदों पर मरीजों की भीड़ ही भारी पड़ रही है। इनमें बड़ी संख्या में बुखार के मरीज हैं। बुखार के मरीजों में डेंगू या वायरल होने की बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के प्रयासों में कहीं कोई कमी नजर नहीं आती।

बारिश ने रोके वैक्सीनेशन के कदम

बेमौसम हो रही बारिश का विपरीत प्रभाव बुधवार के वैक्सीनेशन अभियान पर भी पड़ा। तमाम कोशिशों के बाद भी 19,800 का टारगेट हासिल नहीं हो सका। दरअसल, दिन की शुरूआत मूसलाधार बारिश के साथ हुई थी। स्वास्थ्य विभाग के जिला प्रतिरक्षण टीम का स्टाफ तो तमाम केंद्रों पर तामझाम के साथ पहुंच गया, लेकिन उम्मीद के विपरीत वैक्सीनेशन के लिए जिन्हें आना था वो नहीं आए।

बारिश के चलते तमाम केंद्रों पर कम संख्या में ही लोग वैक्सीन के लिए पहुंचे। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण गौतम ने बताया कि मंगलवार को टीकाकरण अभियान में 54 केंद्रों पर कोविशील्ड की 19800 डोज व 29 केंद्रों पर कोवैक्सीन की 11800 डोज टारगेट तय किया गया था। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कुल 31600 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य तय किया गया था।

वहीं, कोवैक्सीन की प्रचुर मात्रा में डोज उपलब्ध होने के बाद इसके टीकाकरण प्रतिशत में गिरावट होने को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने चिंता प्रकट की है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि कोवैक्सीन को लेकर जो गलत धारण बन गयी है वह उचित नहीं। कोवैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित व प्रमाणित वैक्सीन है। इसको लेकर कोई गलत धारणा न पालें।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments