Monday, August 2, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliफार्मेसिस्ट, पैरामेडिकल स्टॉफ ने काली पट्टी बांधकर किया कार्य

फार्मेसिस्ट, पैरामेडिकल स्टॉफ ने काली पट्टी बांधकर किया कार्य

- Advertisement -
  • 25 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि एक समान न मिलने पर जताया विरोध

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के आह्वान पर डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सभी मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टाफ को समान रूप से 25 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि नहीं दिये जाने के विरोध में काली पट्टी बांधकर किया।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के आवाहन पर जिला सयुंक्त चिकित्सालय एल-2 शामली पर डीपीए शामली के अध्यक्ष यूएस भट्ट के नेतृत्व में चिकित्सालय के समस्त फार्मेसिस्ट एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा विरोथ स्वरुप काली पट्टी बांध कर कार्य किया।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की घोषणा के प्रतिकूल शासन में बैठे अधिकारियों द्वारा सभी मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टाफ को समान रूप से 25 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि नहीं दिये जाने के विरोध में काली पट्टी बांध कर कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कोविड अथवा नानकोविड ड्यूटी में लगे समस्त कर्मियों को समान रूप से प्रोत्साहन राशि दिये जाने एवं कोविड संक्रमण से मृत समस्त चिकित्सा कर्मियों को शीघ्रातिशीघ्र अनुकम्पा राशि उनके आश्रितों को अनुमन्य कराने की शासन से मांग की गई। यूएस भट्ट ने कहा कि इमरजेंसी में सीएचसी, पीएचसी पर तैनात चिकित्सक, फार्मासिस्ट, पैरामेडिकल एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को भी समान लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने बताया कि झिंझाना, कुड़ाना, कैराना आदि में भी विरोध प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर जिला मत्री संजीव शर्मा, नवनीत शर्मा, मनोज वर्मा, सुनील कुमार, दीपक अग्रवाल, अजय कुमार आदि शामिल हुए

संविदा कर्मचारी टेंडर एग्रीमेंट में अनियमिता का आरोप

विद्युत निविदा संविदा कर्मचारी समिति के पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष भीष्म सिंह पंवार के नेतृत्व में डीएम को ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होने कहा कि 55 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले कर्मचारियों को हटाने व कई वर्ष से कार्यरत कर्मचारियों को हटाने व लगाने के नाम पर पैसों की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा कि एग्रीमेंट और टेंडर की प्रतिलिपि मांगने पर कर्मचारियों को उपकेन्द्रों से हटाया जा रहा है।

उक्त समस्या को लेकर कई बार अधीक्षण अभियंता को शिकायत की गई, लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई। आरोप है कि अधीक्षण अभियंता द्वारा भी नौकरी से निकाले जाने की धमकी दी गई। समस्या का समाधान न होने पर कर्मचारी कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन करने को विवश होंगे। इस अवसर पर संदीप, ललित चौधरी, देवी सिंह, संजय सैनी, महफूज, राजेन्द्र, सचिन, इकराम, सूरजमान, राजकुमा, आशीष, अनिल आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments