Thursday, August 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut2020 ने दिये सिर्फ घाव: दुआ करिये ‘स्ट्रेन’ न दे ‘स्ट्रेस’

2020 ने दिये सिर्फ घाव: दुआ करिये ‘स्ट्रेन’ न दे ‘स्ट्रेस’

- Advertisement -
  • थम गए शहर व जिंदगी को नये साल पर मिले ऊर्जा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: नर हो न निराश करो मन को। कोरोना वायरस ने भले ही 2020 को अपनी चपेट में लेकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ किया हो, लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि 2021 के रूप में नया साल लोगों की जिंदगी में खुशियां लेकर आएगा और थम-सी गई जिंदगी को रफ्तार देगा। न जाने कितने लोगों के सपने बीता हुआ साल तोड़ गया और लगभग 21 हजार लोगों को कोरोना अपनी चपेट में ले गया और 393 लोगों को इस जालिम बीमारी की वजह से दुनिया छोड़ कर जाना पड़ा।

22 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब कोरोना के कारण एक दिन का जनता कर्फ्य और उसके बाद लॉकडाउन की घोषणा की थी, तब किसी को अहसास नहीं हुआ था कि पूरा साल इसी कोरोना के साये में दम तोड़ दोगा। मार्च से लेकर जुलाई तक शहर रेंग-रेंगकर चलता रहा।

10 जून तक को पूरा शहर एक जगह थम-सा गया था। बाजार, उद्योग, रियल एस्टेट, ज्वेलर्स, सिनेमाघर, डाक्टरों के क्लीनिक, स्कूल-कालेज और कार्यालयों तक पर ताले पड़ गये थे। इससे पहले किसी ने वर्क फ्राम होम शब्द सुना भी नहीं था, लेकिन कोरोना ने लोगों को घरों में कैद कर दिया।

जुलाई से जिंदगी शुरू हुई, लेकिन वायरस के आतंक और सितंबर, अक्टूबर और नवंबर के तूफानी संक्रमण ने पूरे मेरठ को हिलाकर रख दिया। राजनीतिक गतिविधियां और वाणिज्यक गतिविधियों से लेकर शादी ब्याह और जन्म और मौत भी कोरोना के साये में आकर लोगों को दहशत में डालते रहे।

जब बाजार, होटल, रेस्टोरेंट और सिनेमाघर आदि खुले तब तक लोगों की जेबें खाली हो चुकी थी। विवाह मंडपों पर कड़े प्रतिबंध लगा दिये गए, जिससे न केवल आर्थिक नुकसान हुआ बल्कि लोगों के धूमधाम से शादी समारोह आयोजित करने के अरमान भी धरे के धरे रह गए। रही सही कसर सरकारी आदेशों और प्रतिबंध ने पूरी कर दी।

लोग उम्मीद लगा रहे थे कि नये साल की शुरूआत भव्य तरीके से होगी, तभी ब्रिटेन के कोरोना स्ट्रेन ने दस्तक देकर लोगों के भविष्य पर एक सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। हर कोई यही दुआ कर रहा है कि नया साल पुराने घावों को भरने में सफल रहेगा और लोग एक बार फिर से कोरोना के जाल से मुक्त होकर खुले आसमान में विचरते हुए हंसते-खेलते हेप्पी न्यू ईयर बोलेंगे। इसी उम्मीद और संभावनाओं के साथ सबको मिलकर नये साल का स्वागत करना चाहिये।

कहर-ए-कोरोना: शहर में होटलों की न्यू ईयर पार्टी को ‘ना’

कोरोना संक्रमण का कहर और ब्रिटेन के स्ट्रेन वायरस के खौफ के चलते इस बार शहर के होटलों ने हर साल न्यू ईयर पर आयोजित की जाने वाली पार्टियों से तौबा कर ली है। वहीं, दूसरी ओर मंडप एसोसिएशन ने भी इस साल संक्रमण के खतरे को देखते हुए इस प्रकार के आयोजनों से परहेज बरतने की सलाह दी है।

एसोसिएशन के महामंत्री विपुल सिंहल ने बताया कि नए साल पर कार्यक्रम के लिए बुधवार को एडीएम सिटी से वार्ता की गई। उन्होंने बताया कि किसी भी तरह का कार्यक्रम आयोजित करने के लिए पूर्व में एसीएम अथवा सिटी मजिस्ट्रेट से अनुमति के पश्चात ही कार्यक्रम किया जा सकेगा।

चाहे वह बर्थडे पार्टी हो, सेवानिवृत्ति को पार्टी रखी गई हो अथवा न्यू ईयर सरीखा कोई आयोजन। अनुमति लेना जरूरी है। अगर पार्टी के अंदर मदिरा का उपयोग होता है तो एसीएम से अनुमति के उपरांत जिला आबकारी अधिकारी के दफ्तर से आॅकेजनल बार लाइसेंस लेना जरूरी होगा।

जिनके पास बार है उन्हें अतिरिक्त एक दिन का लाइसेंस लेना होगा जिन प्रतिष्ठान के पास बार नहीं है। उन्हें दो दिन का शुल्क जमा कर दो दिन का लाइसेंस प्राप्त करना होगा। एक दिन का आॅकेजनल बार लाइसेंस लेने का शुल्क 11 हजार है तथा दो दिन का शुल्क 22 हजार सरकारी कोष में जमा करना होगा।

किसी भी कार्यक्रम में एक समय में 100 लोगों से ज्यादा की अनुमति नहीं होगी तथा खुले स्पेस में 40% कैपेसिटी के लोगों के आने की अनुमति मिल सकेगी। मेरठ रेस्टोरेंट एंड होटल एसोसिएशन तथा मेरठ मंडप एसोसिएशन के महामंत्री विपुल सिंघल ने सभी होटल मंडप तथा रेस्टोरेंट स्वामियों को वाट्सऐप के माध्यम से न्यू ईयर पार्टी से परहेज रखने की सलाह दी है।

साथ ही अगर किसी अन्य कार्यक्रम को अपने यहां आयोजित कर रहे हैं तो कार्यक्रम की अनुमति एसीएम से लें। साथ ही जिन जगहों पर कार्यक्रम है वहां पर कोरोना वायरस से बचाव के सभी उपाय जिस प्रकार ग्लब्स सैनिटाइजेशन, मास्क, टोपी आदि उपयोग करने के लिए सब को कहा गया।

नववर्ष: होटल और रेस्टोरेंट पर रहेगी पैनी नजर, शराबियों की होगी धरपकड़

नववर्ष पर होटल व रेस्टोरेंट में होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों के मद्देनजर पुलिस की कड़ी निगरानी रहेगी। जिला प्रशासन ने नववर्ष को लेकर अपनी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है। साथ ही शासन के दिशा-निर्देशों का पालन करने के निर्देश भी जारी कर दिए हैं।

नववर्ष पर होटल, रेस्टोरेंट, शापिंग माल, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, मुख्य मार्गों, बाजारों व चौराहों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। साथ ही नववर्ष के दौरान रात में वाहन चालकों की प्रभावी रूप से चेकिंग भी की जाएगी। इसके अलावा शराब की दुकानों व बार आदि के आसपास भी पर्याप्त पुलिस बल तैनात रहेगा।

असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। नववर्ष पर होने वाले कार्यक्रमों को लेकर आयोजकों पर ही कोविड-19 से बचाव संबंधी दिशा-निदेर्शों के पालन की जिम्मेदारी होगी। कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले व्यक्तियों की निर्धारित संख्या का पालन करना होगा।

जिले में डीएम की अनुमति के बाद ही कार्यक्रम का आयोजन किया जा सकेगा। उधर, एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि शहर के मुख्य चौराहे पर पुलिस बल सहित रंगरूट मस्तैद रहेगे। सभी सीओ को अपने-अपने सर्किल फोर्स के साथ गश्त करेंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments