Sunday, August 7, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarकांवड़ मेला-2022 की तैयारी, कांवड़ मेले की व्यवस्थाएं जल्द दुरुस्त हो

कांवड़ मेला-2022 की तैयारी, कांवड़ मेले की व्यवस्थाएं जल्द दुरुस्त हो

- Advertisement -
  • जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में शनिवार को कलक्ट्रेट सभागार में आगामी कांवड़ मेला-2022 की तैयारियों के सम्बन्ध में एक समीक्षा बैठक आयोजित हुई

जनवाणी संवाददाता |

हरिद्वार: जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में शनिवार को कलक्ट्रेट सभागार में आगामी कांवड़ मेला-2022 की तैयारियों के सम्बन्ध में एक समीक्षा बैठक आयोजित हुई।
बैठक में जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय को अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) वीर सिंह बुदियाल ने कांवड़ मेले की तैयारियों के सम्बन्ध में विभिन्न विभागों द्वारा प्रस्तुत किये गये बजट प्रस्तावों तथा उनके द्वारा सम्पन्न किये जाने वाले कार्यों आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।

जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 योगेन्द्र सिंह रावत ने बैठक में आगामी जुलाई माह में होने वाले कांवड़ मेले में काफी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की सम्भावना को देखते हुये सुरक्षा व्यवस्था आदि की क्या रणनीति रहेगी, के सम्बन्ध में भी विस्तृत विचार-विमर्श किया।

बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से आगामी कांवड़ मेले की दृष्टि से क्या-क्या तैयारियां की जा रही हैं, के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 कुमार खगेन्द्र ने बताया कि कांवड़ रूट में हरकीपैड़ी, चण्डीघाट, शंकराचार्य चौक, आशफनगर सहित विभिन्न चिह्नित स्थानों पर 16 मेडिकल पोस्ट बनाये जा रहे हैं। जिस पर पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नजीबाबाद रूट पर भी एक मेडिकल पोस्ट बनाया जाना चाहिये। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि नजीबाबाद रूट पर भी मेडिकल पोस्ट बनाना सुनिश्चित करें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि दवाओं की कहीं पर भी कोई कमी नहीं होनी चाहिये।

इसके अलावा सांप कांटने, कुत्ते के काटने आदि घटनाओं को ध्यान में रखते हुये सभी प्रकार की व्यवस्थायें सुनिश्चित की जायें। उन्होंने कहा कि अन्य व्यवस्थाओं के साथ ही 24 घण्टे मोटर साइकिल एम्बुलेंस की भी व्यवस्था की जाये ताकि कांवड़ के समय भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में आसानी से प्रवेश किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिये कि कांवड़ के समय आकस्मिकता की दृष्टि से निजी अस्पतालों से भी निरन्तर संवाद बनाये रखें।

बैठक में विद्युत विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विद्युत विभाग से सम्बन्धित कार्यों के टेण्डर किये जा चुके हैं। कांवड़ रूट में प्रमुख स्थानों व चौराहों पर 150 फ्लड लाइट लगाई जा रही हैं। जिलाधिकारी द्वारा पावर बैकअप के सम्बन्ध में पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि जनरेटर की व्यवस्था की जा रही है। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया कि घाटों की सफाई, कांवड़ रोड की रिपेयरिंग आदि के लिये टेण्डर हो चुका है। इस पर जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कार्य जल्द से जल्द शुरू हो जाना चाहिये।

जिलाधिकारी ने बैठक में नगर निगम हरिद्वार के अधिकारियों से कांवड़ मेले में की जाने वाली व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि 150 अस्थाई शौचालयों तथा जगह-जगह यूरिनल की व्यवस्था की जा रही है तथा 1500 के करीब अतिरिक्त मानव संसाधनों का इस्तेमाल इसमें किया जायेगा, जिनका टेण्डर किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा जाये, जहां भी आवश्यक हो ब्लीचिंग पाउण्डर तथा चूने का छिड़काव अवश्य करें। जल संस्थान के अधिकारियों ने बताया कि कांवड़ रूट पर पानी की व्यवस्था के लिये 286 टैंकरों की व्यवस्था की गयी है, जगह-जगह पीने के पानी की व्यवस्था की जा रही है तथा आवश्यकतानुसार हैण्डपम्पों की स्थापना/मरम्मत की जा रही है।

जल निगम के अधिकारियों ने बताया कि शौचालयों में पानी की आपूर्ति की जायेगी। आठ किलोमीटर की पाइप लाइन बिछाई जा रही है तथा आवश्यकतानुसार पानी की समुचित व्यवस्था की जायेगी। जिलाधिकारी ने एनएचआई के अधिकारियों को निर्देशित किया कि एन0एच0 पर सफाई की व्यवस्था के साथ ही कहीं पर अगर पेड़ व झाड़ियां उगी हैं, तो उन्हें हटाना भी सुनिश्चित करें। बैठक में अधिशासी अधिकारी नगरपालिका मंगलौर, नगरपालिका शिवालिक नगर आदि ने भी कांवड़ मेले की दृष्टि से की जा रही तैयारियों के सम्बन्ध में जानकारी दी।

जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने बैठक में सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि आगामी 10 जुलाई तक कांवड़ मेले से सम्बन्धित जो भी तैयारियां हैं, उन्हें पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस कार्य में ढिलाई कत्तई बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की अंशुल सिंह,एसडीएम लक्सर गोपाल राम बिनवाल, उप जिलाधिकारी पूरण सिंह राणा, एस0पी0 सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह, सीओ सिटी शेखर सुयाल, सचिव रेडक्रास डॉ0 नरेश चौधरी, जिला पर्यटन अधिकारी सुरेश सिंह यादव, आपदा प्रबन्धन अधिकारी सुश्री मीरा कैन्तुरा, ई0ई0 जल संस्थान मदन सेन, ईई लोक निर्माण प्रवीन कुमार, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान अजय कुमार, एआरटीओ रत्नाकर सिंह, एसीएमओ एचडी शाक्य, गुरूनाम सिंह, सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments