Monday, January 24, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliरामायण सामाजिक और राष्ट्र मूल्योें की आदर्श: तिवारी

रामायण सामाजिक और राष्ट्र मूल्योें की आदर्श: तिवारी

- Advertisement -
  • ग्राम पंचायत खेड़ीकरमू में महर्षि वाल्मीकि जयंती मनाई

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: बुधवार को ब्लॉक शामली की ग्राम पंचायत खेड़ीकरमू स्थित महर्षि वाल्मीकि मन्दिर के प्रागण में महर्षि वाल्मीकि की जयन्ती के उपलक्ष्य में रामायण पाठ का आयोजन किया गाय। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, शंभूनाथ तिवारी, जिला उद्यान अधिकारी, विकास खंड अधिकारी डा. हरित कुमार एवं अन्य द्वारा महर्षि वाल्मीकि की मूर्ति के समक्ष दीप प्रवज्वलित एवं माल्यार्पण कर भजन कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

इसके पश्चात हवन पूजन किया गया। इस अवसर पर सीडीओ शंभूनाथ तिवारी ने उपस्थित जन समूह को महर्षि वाल्मीकि के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि महर्षि वाल्मीकि विश्व के आदि कवि रहे, जिन्होंने विश्व प्रसिद्ध कालजयी कृति रामायण की रचना श्री राम के जीवन काल में की।

महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण सामाजिक मूल्यों मानव मूल्यों एवं राष्टÑ मूल्यों की स्थापना का आदर्श है। महर्षि वाल्मीकि द्वारा वर्णित स्थल जिन्हें राम-जानकी मार्ग, राम वन-गमन मार्ग आदि के रूप में जाना जाता है, सम्पूर्ण भारत वर्ष में लगभग 280 स्थलों के रूप में आज भी विद्यमान हैं।

उत्तर प्रदेश में राम-जानकी मार्ग तथा राम-गमन मार्ग के अन्तर्गत अनेक स्थल विद्यमान हैं, जहां भारतीय संस्कृति के मूल तत्व एवं मान्यताएं सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि जाति भाव से परे होकर सब एक बने, एक समान मिल-जुलकर रहे। देश को मजबूत बनाने में अपनी अदा करें।

इस अवसर पर ग्राम सचीव सुशीला, ग्राम प्रधान सुनिता के अलावा मुकेश कुमार, यशवीर, बिटटू कुमार, भरतवीर सिंह समाजसेवी, शिवचरण सिंह, ब्रह्म सिंह, अशोक कुमार, नंद किशोर आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments