Monday, November 29, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरैपिड रेल: निर्माण कार्य से जाम के जंजाल में फंसा बेगमपुल

रैपिड रेल: निर्माण कार्य से जाम के जंजाल में फंसा बेगमपुल

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बेगमपुल पर इन दिनों रैपिड रेल का कार्य जोरों पर चल रहा है, लेकिन चौराहे पर जाम के हालत दिनोंदिन बदतर होते जा रहे हैं। यातायात पुलिस जाम की स्थिति काबू करने में नाकाम दिख रही है। शिवाजी चौक से लेकर पीएल शर्मा रोड तक जाम की स्थिति रोजाना बनी रहती है। जिससे व्यापार भी प्रभावित होने लगा है।

दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कोरिडोर का कार्य पिछले काफी समय से चल रहा है। जिसके कारण बेगमपुल पर सड़क को डिवाइड किया गया है। ऐसे में सड़क पर पहले ही जाम की स्थिति रहती थी, लेकिन सड़क छोटी होने की वजह से घंटों तक लोग फंसे रहते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं शास्त्री चौक के पास खड़े होने वाले तीन पहिया वाहन भी जाम का कारण बन रहे हैं।

उधर, पीएल शर्मा रोड से रॉग साइड से आने वाले लोग भी जाम में अपनी भागीदारी निभा रहे हैं। प्रशासन प्रयास कर रहा है, लेकिन जाम की स्थिति काबू में नहीं आ पा रही है। इसके अलावा स्कूल की छुट्टी की समय में यह स्थिति और भी नाजुक हो जाती है।

बच्चों को भी घंटों धूप में परेशान होना पड़ता है। वहीं, गड्ढा मार्केट के दुकादारों ने बातचीत में बताया कि रैपिड रेल के कार्य की वजह से तो जाम है ही, लेकिन यहां पार्किंग की व्यवस्था न होने से अक्सर जाम लगा रहता है। कैंट बोर्ड द्वारा बोला गया था कि पार्किंग की व्यवस्था जल्द ही की जाएगी, लेकिन अभी तक वाहनोें को सड़क पर ही खड़ा करना पड़ता है।

जिससे पहले ही छोटी हो चुकी सड़क पर और भी कम जगह हो जाती है। गड्ढा मार्केट व्यापार संघ के अध्यक्ष सत्यपाल भाटी ने बताया कि जाम की समस्या के लिए रैपिड रेल का कार्य करने वाले कर्मी कुछ प्रयास नहीं कर रहे हैं। रैपिड रेल की कंस्ट्रक्शन टीम में मार्शल भी शामिल होते हैं, जोकि यातायात को काबू करते हैं, लेकिन इनके द्वारा फिलाहल कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया जा रहा है। सड़क पर अक्सर भयंकर जाम ही लगा रहता है।

सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक जाम की स्थिति ही रहती है। मार्केट के लोगों ने बताया कि यातायात पुलिस से अब हमें कोई भी अपेक्षा नहीं रह गई है। जाम की स्थिति ज्यों की त्यों ही बनी रहेगी। लालकुर्ती पैंठ एरिया और गड्ढा मार्केट का व्यापार दिन प्रतिदिन प्रभावित होता जा रहा है।

वहीं, नैय्यर पैलेस के सामने पर्किंग तो है, लेकिन वह नाकाफी है। इससे दुकानदार भी परेशान है और कारोबार पर भी असर पड़ रहा है।

क्योंकि जाम के कारण अब लोग भी यहां से किनारा करने लगे हैं और कोई व्यक्ति दूसरा रास्ता ही पसंद करता है।

कमिश्नर के आदेश हवा हवाई बस स्टैंड का प्लान नहीं तैयार
मंडलायुक्त ने बस स्टैंड को शिफ्ट करने के दिए थे निर्देश

मेरठ: कमिश्नर द्वारा रोडवेज बस स्टैंड को शहर से बाहर शिफ्ट करने के निर्देश कई बार दिए जा चुके हैं, लेकिन बार-बार मंडलायुक्त के आदेशों की अवहेलना की जा रही है। निगम द्वारा अभी तक इसको लेकर कोई प्लान तैयार नहीं किया गया है। जबकि सिटी ट्रांसपोर्ट के लिए एक नया बस स्टैंड तैयार किया जा रहा है।

मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह द्वारा कई बार बैठकों में भी परिवहन निगम को भैंसाली बस स्टैंड शिफ्ट कराने के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन इसको लेकर अभी तक काफी समय बीत चुका है, लेकिन बस स्टैंड के लिए जमीन तक का चयन नहीं किया गया है। बता दें कि बस स्टैंड के कारण दिल्ली रोड पर जाम की स्थिति बनी रहती है।

वहीं, रैपिड का भी शहर में कार्य चल रहा है। जिससे बेगमपुल से एचआरएस चौक को जाने वाली रोड पर ही बस स्टैंड के कारण घंटो तक जाम लग जाता है। गौरतलब है कि भैंसाली बस स्टैंड से रोजाना करीब दो सौ बसों का संचालन होता है। निगम द्वारा अभी तक बस स्टैंड शिफ्ट करने की कवायद शुरु नहीं की गई है।

सिटी ट्रांसपोर्ट को नया बस स्टैंड रोडवेज के लिए जमीन तक नहीं

सिटी ट्रांसपोर्ट को सोहराब गेट बस स्टैंड से शिफ्ट करने के लिए नया बस स्टैंड लोहिया नगर में तैयार किया जा रहा है, लेकिन रोडवेज बस अड्डे को शिफ्ट करने के लिए अभी तक जमीन का भी चयन नहीं किया गया है। जबकि सिटी ट्रांसपोर्ट की बात करें तो कुछ ही बसें सोहराबगेट बस स्टैंड से संचालित की जा रही है।

हालांकि सोहराबगेट बस स्टैंड के कारण भी गढ़ रोड पर पूरे दिन जाम की स्थिति बनी रहती है। बताते चलें कि लोहिया नगर में हाईटेक बस स्टैंड करोड़ों रुपयों की लागत से तैयार किया जा रहा है।

जिसमें इलेक्ट्रिक सिटी बसों के लिए चार्जिंग स्टेशन भी लगाए जाने हैं। वहीं, बस स्टैंड के इंफ्रास्ट्रक्चर का भी निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, लेकिन अभी तक चार्जिंग स्टेशन लगने का इंतजार किया जा रहा है। जिसके लिए कंपनी भी नामित कर दी गई है, लेकिन अभी तक कंपनी द्वारा कार्य शुरु नहीं किया गया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments