Home Uttarakhand News उत्तराखंड : चार महीने बाद पर्यटक योगनगरी में रिवर राफ्टिंग हुई शुरू

उत्तराखंड : चार महीने बाद पर्यटक योगनगरी में रिवर राफ्टिंग हुई शुरू

0
उत्तराखंड : चार महीने बाद पर्यटक योगनगरी में रिवर राफ्टिंग हुई शुरू

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: चार महीने बाद पर्यटक योगनगरी में रिवर राफ्टिंग के रोमांच का मजा ले पाएंगे। रविवार से ऋषिकेश में राफ्टिंग शुरू हो गई है।

आज राफ्टिंग व्यवसायियों ने खारास्रोत घाट पर गंगा पूजन कर इसकी शुरुआत की। इस दौरान पर्यटक मंत्री सतपाल महाराज और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल मौजूद रहे।

मानसून सीजन के चलते राफ्टिंग का संचालन बंद था

कोविड कर्फ्यू और मानसून सीजन के चलते राफ्टिंग का संचालन बंद था। अब गंगा में रीवर राफ्टिंग खुलने से राफ्टिंग व्यावसायियों को इस बार अच्छे व्यापार की उम्मीद है।

साहसिक खेलों के शौकीन पर्यटक तीर्थनगरी के मुनिकीरेती, स्वर्गाश्रम, तपोवन, लक्ष्मणझूला पहुंचते हैं। यहां संचालित राफ्ट कार्यालयों में पहुंचकर पर्यटक राफ्टिंग का लुत्फ उठाते हैं।

राफ्ट संचालक पर्यटकों को ब्रह्मपुरी, शिवपुरी, कौड़ियाला, मरीन ड्राइव, फूलचट्टी आदि जगहों से राफ्टिंग कराते हैं। 1 सितंबर से तीर्थनगरी में राफ्टिंग का संचालन शुरू हो जाता था। लेकिन गंगा का जलस्तर बढ़ने से इस बार देरी से राफ्टिंग का संचालन शुरू हुआ है।

राफ्टिंग पर छाया कोरोना का साया

तीर्थनगरी में एक सितंबर से 30 जून तक राफ्टिंग का संचालन होता था। बरसात में गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने से जुलाई और अगस्त दो महीने संचालन बंद रहता था।

कोरोनाकाल के कारण राफ्टिंग का कारोबार ठप हो गया है। इस बार राफ्टिंग व्यावसायियों को उम्मीद है कि उनके कारोबार को एक नई दिशा मिलेगी।

इतने किमी के होते हैं राफ्टिंग के ट्रेक

– कौडियाला से रामझूला, नीमबीच – 35 किमी
– कौडियाला से शिवपुरी – 20 किमी
– मरीन ड्राइव से शिवपुरी- 10 किमी
– मरीज ड्राइव से रामझूला, नीमबीच – 25 किमी
– शिवपुरी से रामझूला, नीमबीच- 15 किमी
– ब्रह्मपुरी से रामझूला, नीमबीच – 9 किमी
– क्लब हाउस से रामझूूला, नीमबीच- 9 किमी

मानसून पर निर्भर करता है, बारिश के कारण गंगा नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। जिसके कारण राफ्टिंग के संचालन की अनुमति नहीं दी जा रही है।
– सोबन सिंह राणा, जिला पर्यटन अधिकारी टिहरी

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Reply