Thursday, October 28, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबदमाश बेखौफ, दिनदहाड़े डकैती

बदमाश बेखौफ, दिनदहाड़े डकैती

- Advertisement -
  • बदमाशों ने दिया माइक्रो फाइनेंस कंपनी में लाखों की डकैती को अंजाम, बनाया बंधक
  • पांच बदमाश 51 हजार नकद, तीन मोबाइल और जेवरात ले गए

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शास्त्रीनगर में स्थित गर्वित फाइनेंस कंपनी में मंगलवार की दोपहर पांच सशस्त्र बदमाशों ने बेखौफ डकैती डाली। बदमाशों ने माइक्रो फाइनेंस कंपनी के मालिक और कर्मचारी के हाथ-पैर बांध कर 51 हजार रुपये नकद, तीन मोबाइल और जेवरात लूट लिये। दिनदहाड़े डकैती से सनसनी फैैल गई और अफरातफरी मच गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई।

अपराधी किस कदर बेखौफ हैं इसका ताजा उदाहरण बागपत रोड पर मंगलवार को दिनदहाड़े हुई चार लाख की लूट के रूप में सामने आया। बड़ी घटना के बावजूद शहर की पुलिस सक्रिय नहीं हुई और लूट की घटना को चोरी की वारदात मानकर खामोश बैठ गई।

वारदात को 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि बदमाशों ने शास्त्रीनगर क्षेत्र में पीवीएस के नजदीक स्थित एक फाइनेंस कंपनी में दिनदहाड़े लाखों की लूट को अंजाम दे डाला।थाना मेडिकल क्षेत्र के शास्त्रीनगर के आई ब्लॉक की है। यहां जीआर इंटरप्राइजेज के नाम से एक माइक्रो फाइनेंस कंपनी है। इस कंपनी का कार्यालय घर में ही है।

इस कंपनी के मालिक संजीव गोयल हैं। जिस वक्त वारदात हुई उस वक्त संजीव गोयल और महिला कर्मचारी बैठे हुए थे। कंपनी में आज हथियारों से लैस बाइक सवार चार बदमाश ग्राहक बनकर दाखिल हुए। एक बदमाश घर के बाहर खड़ा रहा। कुछ देर पूछताछ करने के बाद बदमाशों ने हथियार निकाल लिया और कर्मचारी को गन प्वाइंट पर लेकर लूट की वारदात को अंजाम दे डाला।

बदमाशों ने कर्मचारियों से 51000 की नकदी उनके मोबाइल और उनके जेवरात लूट लिए। बदमाशो ने जाते समय मालिक और कर्मचारी के हाथ-पैर बांध दिये और हथियार लहराते हुए फरार हो गए। बदमाशों के जाने के बाद संजीव गोयल ने शोर मचाया। उसके बाद घर के अंदर से परिवार के बाकी सदस्य आफिस में पहुंचे।

उन्होंने संजीव गोयल की रस्सी को खोला। घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। आनन-फानन में कई थानों की पुलिस और आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। सीओ सिविल लाइन देवेश सिंह पहले पहुंचे और दुकान में लगे सीसीटीवी को कब्जे में ले लिया। इसके बाद मेडिकल पुलिस को सूचना दी गई।

पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी में लुटेरों की करतूत कैद हो गई है। जिस को आधार मानकर पुलिस अब जांच में जुट गई है। बदमाश जाते हुए पावर सप्लाई की डीवीआर ले गए हैं। जबकि सीसीटीवी की डीवीआर बच गई।

फिलहाल पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे से कई जानकारियां मिली है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा।

मास्क लगाकर घुसे थे बदमाश

फाइनेंस कंपनी में काम करने वाली युवती शहरीन ने बताया कि चार बदमाश मास्क लगाकर आॅफिस में घुसे थे। इनके हाथ में हथियार थे। एक बदमाश ने वीवो का मोबाइल पूछा तभी दूसरे बदमाश ने दराज में रखी सोने की एक अंगूठी और मोबाइल उठा लिया। बदमाश को देखकर जब मैं रोने लगी तो बदमाशों ने कहा रो मत तुमको मारेंगे नहीं।

इसके बाद एक बदमाश ने सर पर बंदूक तान दी। दूसरे बदमाश ने सर की उंगली से अंगूठी उतरवा ली। बदमाशों ने तीन मोबाइल के अलावा 51 हजार रुपये लूट लिये थे। युवती ने बताया कि तीन दिन पहले एक संदिग्ध युवक आया था और उसने मोबाइल संबंधी विवाद के बारे में बात की थी जो जांच के बाद फर्जी निकला था।

फाइनेंस कंपनी के मालिक संजीव गोयल ने बताया कि बदमाशों ने पिस्टल कनपटी पर लगाने के बाद तीन मोबाइल, तीन सोने की अंगूठी और 51 हजार रुपये लूट कर चले गए।

सीसीटीवी कैमरे में कैद वारदात

पुलिस ने जब सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी तो उसमें बदमाशों के पिस्टल निकालने, कनपटी में लगाने और हाथ-पैर रस्सी से बांधने साफ दिख रहा है। चूंकि बदमाश मास्क लगाए हुए थे इस कारण उनको पहचानना फिलहाल मुश्किल होगा। पुलिस ने आफिस के आसपास के सीसीटीवी कैमरे भी खंगालने शुरू कर दिये हैं।

डकैती को लेकर व्यापार संघ ने एसपी सिटी से जताई नाराजगी

माइक्रो फाइनेंस कंपनी में पड़ी डकैती को लेकर संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने एसपी सिटी से मुलाकात की और नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आए दिन व्यापारियों के साथ लूटपाट की घटनाएं हो रही है।

डकैती की सूचना मिलते ही संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारी पहुंचे और उन्होंने इस घटना पर रोष व्यक्त करते हुए कहा जिस तरह से रोज शहर के अंदर व्यापारियों के साथ लूट की वारदात हो रही है उसे संयुक्त व्यापार संघ कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।

अगर इन पर लगाम नहीं कसी गई तो संयुक्त व्यापार संघ कड़ा कदम उठाने के लिए मजबूर होगा। हम पुलिस प्रशासन से मांग करते हैं कि इन दोनों घटनाओं को शीघ्र खोला जाए और आए दिन व्यापारियों के साथ हो रही हुई लूट को रोका जाए। कानून व्यवस्था स्थापित की जाए।

मौके पर पहुंचे एसपी सिटी विनीत भटनागर, मेडिकल एसओ नौचंदी व सीओ सिविल लाइन से संयुक्त व्यापार संघ संरक्षक अरुण वशिष्ठ, महामंत्री सरदार दलजीत सिंह, उपाध्यक्ष नीरज त्यागी, वरिष्ठ मंत्री ललित गुप्ता, मूल सह मीडिया प्रभारी सुधांशु महाराज, अनुज वशिष्ठ, पवन गर्ग, अशोक रस्तोगी आदि ने वार्ता की।

कपड़ा व्यापारी के घर लाखों की चोरी

  • लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के समर गार्डन का मामला

महानगर में अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। बदमाश पुलिस को खुली चुनौती देकर वारदात कर रहे हैं। समर गार्डन में सोमवार देर रात बदमाशों ने कपड़ा व्यापारी के बंद मकान को निशाना बनाते हुए लाखों रुपए की नगदी जेवरात कीमती सामान चोरी कर ले गए। पीड़ित ने थाने में तहरीर देकर शिकायत दर्ज कराई है।

जानकारी के मुताबिक थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के समर गार्डन निवासी नवाब अपने परिवार के साथ रहता है। कपड़ों का कारोबार हरियाणा में कर रखा है। मकान में पत्नी व बच्चे रहते हैं। बीते सोमवार को पत्नी बच्चों को लेकर बीमार रिश्तेदार को देखने के लिए चली गई थी।

देर शाम अपने मायके में ही रुक गई। देर रात बदमाशों ने कपड़ा व्यापारी के मकान के ताले तोड़कर अंदर घुस गए । और अलमारियों के ताले तोड़कर करीब तीन लाग की नकदी पांच के जेवरात और कीमती सामान चोरी कर ले गए। शातिर बदमाशों ने पड़ोसियों के दरवाजों की बाहर से कुंडी लगा दी थी।

जब महिला वापस लौटी तो मकान के ताले टूटे देख कर होश उड़ गए। पीड़िता ने थाने पहुंचकर चोरी की जानकारी दी। उधर, लिसाड़ी गेट थाना प्रभारी उत्तम सिंह राठौर का कहना है चोरी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

फैक्ट्री मालिक से मांगी 20 लाख की रंगदारी

जिम के उपकरण बनाने की फैक्ट्री के मालिक ने एसएसपी कार्यालय पहुंचकर शिकायत पत्र दिया बताया कि सलाउद्दीन अपने साथ चार अज्ञात युवकों के साथ हाथों में हथियार और चाकू लेकर जबरदस्ती फैक्ट्री में घुस आया और 20 लाख रुपये की रंगदारी की मांग की।

थाना पुलिस को शिकायत भी की, लेकिन थाना पुलिस कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। वही फैक्ट्री के मालिक को एसएसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

फैक्ट्री के मालिक इकबाल पुत्र नूर मोहम्मद ने बताया कि उनकी जिम की मशीन बनाने की फैक्ट्री है। फैक्ट्री लगभग 20 वर्षों से जमुना नगरपास स्थित है। शुक्रवार को सलाउद्दीन व चार अन्य अज्ञात लोगों के साथ हाथों में हथियार और चाकू लेकर जबरन फैक्ट्री में घुसकर 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी तथा ना देने पर जान से मारने की धमकी दी।

आरोपी सलाउद्दीन ने कहा कि उसने फैक्ट्री के फर्जी कागजात तैयार करा लिए हैं कुछ दिन बाद वह पूरी फैक्ट्री पर कब्जा कर लेगा शोर-शराबा होने पर तमाम लोग इकट्ठा हो गए तभी आरोपी जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।

पीड़ित फैक्ट्री के मालिक इकबाल ने थाना खरखौदा पुलिस को मौके पर सूचना दी थाना पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन दिया, लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई और बताया कि आरोपी सलाउद्दीन मेरठ का मैक्स हॉस्पिटल चलाता है और इसी तरह लोगों की जमीनों पर कब्जा करता है तथा रंगदारी न मिलने पर उन्हें जान से मारने की धमकी देता है।

उद्योगपति से 10 लाख की रंगदारी मांगी

  • 20 दिन पहले बेटे की कार का पीछा भी किया था

शास्त्रीनगर डी ब्लॉक निवासी एक स्पेयर पार्ट्स का बिजनेस करने वाले उद्यमी से 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई है। परेशान उद्यमी ने एसपी सिटी से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग को लेकर तहरीर दी है।

उद्यमी राकेश कुमार अरोड़ा ने एसपी सिटी विनीत भटनागर से मुलाकात की और बताया कि बीस दिन पहले एक अज्ञात कार ने बेटे करण की कार का पीछा किया और घर तक आ गया था।

इसके बाद एक अज्ञात फोन आया और कहा कि अगर 15 दिन में 10 लाख रुपये नहीं दिये तो जान से मार देंगे। एसपी सिटी ने क्राइम ब्रांच से इस मामले को देखने को कहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments