Home Uttar Pradesh News Meerut नहीं थम रहा डेंगू का कहर, नए मरीज मिले 17

नहीं थम रहा डेंगू का कहर, नए मरीज मिले 17

0
नहीं थम रहा डेंगू का कहर, नए मरीज मिले 17

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जिले के लोग डेंगू और वायरल फीवर की मार झेल रहे हैं। डेंगू और वायरल फीवर की चपेट में आकर मरीज लगातार अस्पताल में भर्ती हो रहे है। दिन प्रतिदिन डेंगू बुखार का आंतक बढ़ता जा रहा है जनपद में डेंगू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को डेंगू के 17 नए मामले सामने आए है।

अब तक डेंगू के मरीजों की कुल संख्या 529 है। जिसमें डेंगू के एक्टिव केस 244 है। जबकि होम आइसोलेशन मरीजों की कुल 102 संख्या है। डेंगू बुखार थमने की बजाय जिले में बढ़ता ही जा रहा है। डेंगू के डंक से लोग त्रस्त है। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू बुखार कहर बरपा रहा है।

भूल कर भी न करें नजरअंदाज

लोगों को अभी कोरोना से पूरी तरह से राहत नहीं मिली थी कि जिले में डेंगू ने अपने पैर पसार लिए है। डेंगू के रोज नए मामले सामने आए है। डेंगू के आंकडे हर किसी को डरा रहे है।

ऐसे में जरूरी हो जाता है कि लोग अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखे अपने परिवार व खुद को डेंगू मलेरिया जैसी घातक बीमारी से बचा कर रखे।

डेंगू के लक्षणों को भूलकर भी नजरअंदाज न करे। डेंगू के लक्षण दिखने पर तत्काल जांच कराए व डॉक्टर से सलाह ले और परिवार के किसी एक सदस्य के डेंगू होने पर शारीरिक दूरी बनाकर रखे। साथ ही मास्क का प्रयोग करे और ज्यादा से ज्यादा पानी पिए।

जांच जरूर कराएं

अगर किसी व्यक्ति में डेंगू के लक्षण नजर आते हैं तो सावधान हो जाए ऐसे में डेंगू से बचने के लिए अपने खून की जांच कराए और डेंगू की पुष्टि होने पर डॉक्टर की सलाह से ही अपना इलाज कराए।

बुखार से किसान की मौत

सरधना: बुखार लोगों पर मौत बनकर टूट रहा है। सोमवार की रात दबथुवा गांव के एक किसान की बुखार के चलते मौत हो गई। सरधना तहसील के दबथुवा गांव निवासी सतपाल पुत्र रामसहाय किसान थे। गांव के ही किसान नेता रामबोस ने बताया कि करीब चार दिन पूर्व सतपाल को बुखार आया था।

जिस पर परिजनों ने उन्हें स्थानीय चिकित्सक से दवाई दिलाई। मगर तबीयत में कोई सुधार नहीं आया। हालत बिगड़ने पर परिजन सतपाल को गाजियाबाद एक निजी अस्पताल ले गए।

जहां उपचार के दौरान सोमवार की रात सतपाल की मौत हो गई। किसान की मौत से उसके परिजनों में कोहराम मच गया। मंगलवार को गमगीन माहौल में शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं, स्वास्थ्य विभाग मामले की जानकारी से अंजान है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Reply