Sunday, October 17, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBijnorपुलिस विभाग का अंग है ग्राम प्रहरी, एसपी ने प्रहरियों को दिए...

पुलिस विभाग का अंग है ग्राम प्रहरी, एसपी ने प्रहरियों को दिए जर्सी-लाठी

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

चांदपुर: स्थानीय कोतवाली में आयोजित कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने ग्राम प्रहरी चौकीदारों को सर्दी से बचाव के लिए जर्सी के साथ ही लाठी वितरित की। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रहरी पुलिस विभाग की धड़कन है। ग्राम प्रहरी व पुलिसकर्मियों को वेतन एक ही खजाने से मिलता है।

शुक्रवार को नगर स्थित कोतवाली परिसर में ग्राम प्रहरी चौकीदारों के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में पहुंचे पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह ने क्षेत्र से आये एक सौ सत्तर ग्रामप्रहरियो को आवश्यक दिशा निर्देश देने के सा ही लाठी तथा सर्दी से बचाव के लिए जर्सी भेंट की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्राम प्रहरी पुलिस विभाग की धड़कन है ।ग्राम पहरी गांव में होने वाली समस्त घटनाओं पर पूरी तरह से निगेहबान रहते हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस व ग्राम प्रहरियों का गहरा नाता है। जिस खजाने से पुलिसकर्मियों को वेतन दिया जाता है उसी खजाने से ग्राम प्रहरियो को भी बेतन वितरित होता है।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ग्राम प्रहरियों को अन्य सभी विभागों से पहले वेतन दिया जा रहा है। थानों में ग्राम प्रहरियो के बैठने लिए अलग से कुर्सियां डलवाई जा रही है। जिन पर ग्राम प्रहरियों के ही बैठने की व्यवस्था की रहेगी। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यदि ग्राम प्रहरी पूरी जिम्मेदारी व सतर्कता के साथ अपने कार्य को अंजाम देंगे तो क्षेत्र में अपराधी सिर नहीं उठा सकेंगे और अपराधिक घटनाओं पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में पुलिस विभाग को अहम योगदान मिलेगा।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि बार घटाओ के मामले में ग्राम प्रहरियों की लापरवाही देखने को मिली है जिसे बर्दाश्त नही किया जाएगा। हत्या जैसी घटना होने के बाद भी ग्राम प्रहरी इसकी सूचना संबंधित थाने को नहीं देते हैं और घटनास्थल पर अधिकारियों के पहुंचने के बाद भी ग्राम प्रहरी पहुंचते हैं। यह लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने बुजुर्ग हो चुके ग्राम प्रहरियों के साथ ही असाध्य बीमारी से ग्रस्त ग्राम प्रहरियो को अपने स्थान पर परिजनों को ग्राम पहरी बनाए जाने की अपील भी की।

उन्होंने कहा कि पुलिस महकमे के कर्मचारी व अधिकारी बदलते रहते हैं लेकिन ग्राम प्रहरी का पद विरासत के अनुसार चलता है। ग्राम प्रहरी के की मृत्यु होने या कार्य करने में अक्षम हो जाने के बाद उसी के परिवार के व्यक्ति को ग्राम प्रहरी बनाया जाता है। उन्होंने पंचायत चुनाव से पूर्व खाली चल रहे ग्रामों में ग्राम प्रहरी नियुक्त कराए जाने की बात भी कही।

कोतवाली में आयोजित कार्यक्रम के उपरांत पुलिस अधीक्षक ने ग्राम प्रहरियों के साथ मिलकर नगर में पैदल मार्च निकाला जिसमे क्षेत्र से आए एक सौ सैतालिस ग्राम प्रहरियों ने भाग लिया। इस मौके पर उप जिलाधिकारी कुंवर वीरेंद्र सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी भी मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments