Friday, December 1, 2023
HomeUttar Pradesh Newsनया उत्तर प्रदेश बनाएंगे यूपी के स्किल्ड युवा: सीएम योगी

नया उत्तर प्रदेश बनाएंगे यूपी के स्किल्ड युवा: सीएम योगी

- Advertisement -
  • सीएम बोले, प्रदेश के युवाओं की स्किल को बढ़ाने के लिए चलाया जा रहा बड़ा अभियान

  • सीएम ने युवाओं को रोजगार और नौकरी के लिए किया गया आश्वस्त

  • सीएम योगी ने लोकभवन में सैमसंग इनोवेशन कैंपस के तहत लविवि के विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को किया संबोधित

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: देश में सबसे बड़ी युवा शक्ति उत्तर प्रदेश में है। ऐसे में युवा शक्ति के टैलेंट को टेक्नोलॉजी एंड ट्रेनिंग के साथ जोड़ करके हम उसे डेवलपमेंट के साथ आगे बढ़ा रहे हैं। आज इसी की आवश्यकता है। इसी कड़ी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, बिग डाटा तथा कोडिंग एंड प्रोग्रामिंग फ्यूचरिस्टिक स्किलिंग के कार्यक्रम हैं इसलिए प्रदेश की युवा शक्ति को इससे जोड़ना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। प्रदेश में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में 35 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव आये हैं, जिसे जमीनी धरातल पर उतरने के लिए युद्धस्तर पर काम हो रहा है, जो प्रदेश के एक करोड़ से अधिक युवाओं को नौकरी और रोजगार की संभावनाओं के प्रति आश्वस्त करता है। इसमें सैमसंग इनोवेशन कैंपस कार्यक्रम बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन कर सकता है।

ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लोक भवन के सभागार में लखनऊ विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह पर आयोजित सैमसंग इनोवेशन कैंपस के तहत लविवि के विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र वितरण के दौरान कही। इससे पहले सीएम योगी ने कई छात्र छात्राओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किये। इस अवसर पर 383 छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र वितरित किये गये।

प्रदेश में फ्यूचरिस्टिक प्रोग्राम के लिए चलाया जा रहा अभियान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के स्केल को स्किल में बदलने के लिए बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत टाटा टेक्नोलॉजी के साथ मिलकर प्रदेश में 150 से अधिक आईटीआई का पुनरुद्धार करने के लिए एमआेयू साइन किया गया है, जो वहां के इंफ्रास्ट्रक्चर, लेबोरेटरी की स्थापना, फ्यूचरिस्टिक प्रोग्राम के साथ न्यूज़ कोर्स को शुरू किया जाएगा। इसमें 35000 युवा प्रतिवर्ष ट्रेनिंग लेंगे और वह देश के विकास में अपना योगदान देने के साथ नए युवाओं को भी सिखाने का काम करेंगे। सीएम योगी ने छात्र-छात्राओं से कहा कि आज यहां पर आप सभी ने अपना प्रशिक्षण पूरा किया है। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि प्रशिक्षण के दौरान ना केवल थ्योरी बल्कि प्रोजेक्ट वर्क पर भी पूरा समय दिया गया है। प्रोजेक्ट वर्क युवाओं में आत्मविश्वास जगाता है। यह आत्मविश्वास उनके उज्जवल भविष्य के प्रति आश्वस्त होने का प्रमाण है। उन्होंने युवाओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि डबल इंजन की सरकार विकास के साथ उन्हे रोजगार और नौकरी उपलब्ध कराने के लिए भी पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

युवाओं को तकनीकी रूप से सक्षम बनाने के लिए सरकार दे रही टैबलेट और स्मार्टफोन

सीएम योगी ने कहा कि ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट को लेकर प्रदेश के 100 से अधिक शैक्षिक संस्थानों में सरकार की ओर से रिटायर्ड अधिकारियों ने युवाओं से संवाद किया, जिसके अच्छे परिणाम मिले। इतना ही नहीं प्रदेश के युवाओं को तकनीकी रूप से सक्षम बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने दो करोड़ युवाओं को खास तौर पर विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्टफोन वितरित कर रहे हैं। यह पूरे देश में उत्तर प्रदेश का टेक्नोलॉजी को लेकर सबसे बड़ा अभियान है।

अब तक 20 लाख युवाओं को इस कार्यक्रम से जोड़ा जा चुका है। इसके लिए बजट में अलग से व्यवस्था की गई है। आज उत्तर प्रदेश का युवा अपनी पहचान के लिए मोहताज नहीं है। पिछले 6 वर्षों में साढ़े पांच लाख युवाओं को प्रदेश सरकार ने सरकार नौकरी उपलब्ध कराई है। वहीं प्रदेश में पौने दो करोड़ युवाओं को रोजगार से जोड़ने का काम किया गया है। इस अवसर पर लखनऊ विश्वविद्यालय के वीसी आलोक राय, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, सैमसंग साउथवेस्ट एशिया के प्रेसिडेंट एंड सीईओ जेबी पार्क आदि मौजूद थे।

- Advertisement -

Recent Comments