Saturday, September 30, 2023
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपिता ही निकला बेटे का हत्यारा

पिता ही निकला बेटे का हत्यारा

- Advertisement -
  • सूख रही रिश्तों की बेल, सरधना के छुर गांव में दिल दहलाने वाली वारदात
  • पिता ने की सिर कुचलकर पुत्र की निर्मम हत्या
  • पुत्र की हत्या कर शव हिंडन नदी में फेंका
  • पुलिस ने हत्यारोपी पिता समेत दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: क्षेत्र के छुर गांव में पिता द्वारा पुत्र की हत्या करने का सनसनी खेज मामला सामने आया है। पिता ने साथी के साथ मिलकर पहले पुत्र को शराब पिलाई। इसके बाद र्इंटों से उसके सिर को कुचलकर निर्मम हत्या कर दी। पुलिस से बचने के लिए शव को हिंडन नदी में फेंक दिया और उसकी बाइक भी ठिकाने लगा दी। इतना ही नहीं पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपी खुद ही पुत्र की गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंच गया। पुलिस ने गहनता से जांच की तो सब सामने आ गया। पुलिस ने हत्यारोपी पिता व उसके साथी को हिरासत में लेकर सख्ती के साथ पूछताछ की तो हत्यारोपियों ने सबकुछ उगल दिया।

11 26

कोतवाली क्षेत्र के छुर गांव निवासी संजीव कुमार रिटायर्ड फौजी है और हाल में एक बैंक में गार्ड की नौकरी करता है। लंबे समय से उसका अपनी पत्नी से विवाद चला आ रहा है। जिसके चलते संजीव की पत्नी मुनेश देवी पुत्र सचिन के साथ अलग मकान में रहती है। कुछ दिन पूर्व मुनेश देवी बीमार हो गई थी। सचिन ने उसे मेरठ के निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। बीती 21 अगस्त को सचिन बाइक पर सवार होकर अस्पताल जाने को निकला था, लेकिन रास्ते से ही गायब हो गया। जिसके बाद मुनेश देवी ने पति पर अनहोनी की आशंका जताते हुए थाने में तहरीर दी।

12 27

पुलिस अभी जांच की कर रही थी कि सचिन का पिता संजीव कमुार भी गुमशुदगी की तहरीर लेकर पहुंच गया। मगर पुलिस ने उन्हें जांच ने की बात कही। कड़ी से कड़ी जुटी तो मामला खुलकर सामने आ गया। पुलिस ने आरोपी संजीव कुमार व उसके साथ अमित को हिरासत में ले लिया। पहले तो आरोपियों ने पुलिस को गुमराह किया। मगर सख्ती करने पर सबकुछ उगल दिया। पुलिस के अनुसार संजीव कुमार के परिवार की महिला से ही अवैध संबंध हैं। जिसके रास्ते में सचिन आ रहा था। वह काफी समय से सचिन को रास्ते से हटाने की फिराक में था।

उसने गांव के ही अमित को पैसों का प्रलोभन देकर हत्या के लिए तैयार कर लिया। इसके बाद बीती 21 अगस्त को फोन करके सचिन को कंकरखेड़ा बुलाया। यहां से दोनों सचिन को लेकर हिंडन नदी के पास लेकर पहुंचे। आरोपियों ने सचिन को शराब के नशे में धुत कर दिया। इसके बाद उसके सिर पर शराब की बोतल व र्इंट से ताबड़तोड़ प्रहार करके निर्मम हत्या कर दी। आरोपियों ने शव को हिंडन में फेंक दिया। साथ ही उसकी बाइक व मोबाइल भी ठिकाने लगा दिया।

13 28

पूछताछ के बाद रविवार को पुलिस आरोपियों की निशानदेही पर पहुंची। यहां पीएसी के गोताखोरों की मदद से पुलिस ने दिनभर सर्चिंग अभियान चलाया। दोपहर तक पुलिस ने करीब 15 किलोमीटर दूर बागपत के दोघट थाना क्षेत्र के पिलाना से नदी में शव बरामद कर लिया। जिसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस संबंध में इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी का कहना है कि पिता व उसके साथी ने मिलकर युवक की हत्या की है। हिंडन नदी से शव बरामद करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस को किया गुमराह

आरोपी संजीव कुमार ने पुलिस को गुमराह करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। आरोपी खुद सचिन की गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंचा। मगर जब पुलिस को पता चला कि लंबे समय से वह अपने पुत्र व पत्नी से अलग रहता है तो शक हुआ। जांच करने पर सामने आया कि मामला अवैध संबंध से जुड़ा है। जांच आगे बढ़ी और पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो सबकुछ सामने आ गया।

पहले भी हत्या के मामले में जा चुका जेल

सचिन के पिता संजीव कुमार ने पुत्र की हत्या के लिए गांव के ही अमित से संपर्क किया। उसको पैसे का प्रलोभन दिया। क्योंकि अमित पहले भी हत्या के मामले में जेल जा चुका है। इसलिए अमित सही मोहरा लगा। अमित भी पैसे के लिए उसके साथ हो लिया। इसके बाद दोनों ने मिलकर सचिन को मौत के घाट उतार दिया।

संदिग्ध परिस्थिति में युवक की मौत

सरधना: क्षेत्र के रार्धना गांव से ससुराल गए युवक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। रविवार को मृतक की पत्नी शव लेकर ससुराल पहुंची। युवक के परिजनों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही महिला को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। कोतवाली क्षेत्र के रार्धना गांव निवासी दीपक पुत्र ऋषिपाल की पत्नी कुछ दिन से मायके गई हुई थी। दो दिन पूर्व दीपक पत्नी को लेने ससुराल गया था।

जहां उसकी संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। रविवार को दीपक की पत्नी पिंकी उसका शव लेकर ससुराल पहुंची। परिजनों को बताया कि वह बीमार था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया था। परिजनों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही पिंकी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। इस संबंध में इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

- Advertisement -
- Advertisment -spot_img

Recent Comments