Wednesday, May 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarजिला पंचायत की बोर्ड बैठक में हुआ जमकर हंगामा

जिला पंचायत की बोर्ड बैठक में हुआ जमकर हंगामा

- Advertisement -
  • विपक्षी पंचायत सदस्यों ने लगाया भेदभाव बरते जाने का आरोप
  • विपक्षी विधायकों ने जिलापंचायत अध्यक्ष व सीडीओ को लिया आड़े हाथों

जनवाणी संवाददाता|

मुजफ्फरनगर: जिला पंचायत की बोर्ड बैठक में जमकर हंगामा हुआ। इस दौरान विपक्षी जिला पंचायत सदस्यों ने बोर्ड पर भेदभाव बरते जाने का आरोप लगाया। सत्ताधारी पंचायत सदस्यों द्वारा उनका विरोध किया गया, जिसको लेकर बोर्ड बैठक में जमकर हंगामा किया। इस दौरान सीडीओ ने स्थिति को संभालने का प्रयास किया, परन्तु विपक्ष के चारों विधायकों की मौजूदगी में विपक्ष बोर्ड बैठक में भारी रहा।

बुधवार को जिला पंचायत के चैधरी चरणसिंह सभागार में जिला पंचायत की बोर्ड बैठक आयोजित की गयी थी, जिसमें करोड़ों रूपयों के प्रस्ताव पारित होने थे। यह बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष वीरपाल निर्वाल की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी, जबकि इस बैठक में जनपद के पांच विधायक व एक विधान परिषद सदस्य भी मौजूद थे।

बैठक में जब प्रस्ताव पढ़ने शुरू हुए, तो अधिकतर प्रस्तावों को सर्वसम्मति से पारित किया गया, परन्तु जब विपक्षी जिला पंचायत सदस्यों को लगा कि उनके वार्डों को विकास कार्यों से महरूम रखा जा रहा है, तो इस पर विपक्षी सभासदों ने ऐतराज जताया और कहा कि उनके साथ यह सौतेला व्यवहार कब तक होता रहेगा।

उन्होंने कहा कि वह भी निर्वाचित सदस्य हैं और उन्हें जनता के बीच जाना होता है, जहां पर जनता उनसे जवाब मांगती है। इस पर सत्ताधारी सदस्यों द्वारा इस ऐतराज को गलत बताया गया और कहा गया कि सभी वार्डों में विकास कार्य कराये जा रहे हैं। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में जमकर हंगामा हुआ।

बुढाना विधायक राजपाल सिंह ने कहा कि हर कार्य को सत्ता की नजर से नहीं देखा जाता है। जिला पंचायत में चुनकर आये सभी निर्वाचित सदस्य हैं और बोर्ड का बजट बनाने से पहले सभी सदस्यों से राय लेनी चाहिए, जबकि इस सदन में ऐसा नहीं हो रहा है। केवल सत्ता पक्ष के सदस्यों के वार्डों में विकास कार्य कराये जा रहे हैं, जबकि विपक्षी सदस्यों के वार्डों को महरूम रखा जा रहा है।

चरथावल विधायक पंकज मलिक ने सीडीओ आलोक कुमार से कहा कि विपक्षी जिला पंचायत सदस्यों से उनके वार्डों की आवश्यकताओं को क्यों नहीं पूछा जाता है और यह प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वह इस सामंजस्य को बनाये रखे। उन्होंने कहा कि इस बोर्ड बैठक में तो बात नहीं हो पायी है अब वह बतायें कि कब बात की जाये, इस पर सीडीओ ने विपक्षी विधायकों से दो दिन का समय मांगा।

बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष वीरपाल निर्वाल, खतौली विधायक विक्रम सैनी, विधान परिषद सदस्य वंदना वर्मा, मीरापुर विधायक चंदन सिंह चैहान, चरथावल विधायक पंकज मलिक, पुरकाजी विधायक अनिल कुमार, बुढ़ाना विधायक राजपाल बालियान, सीडीओ आलोक कुमार, एमए जिला पंचायत समेत सभी वार्डों के जिला पंचायत सदस्य मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments