Saturday, June 19, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut741 कोरोना संक्रमित, चार की मौत

741 कोरोना संक्रमित, चार की मौत

- Advertisement -
0

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना का कहर लगातार बढ़ रहा है और संक्रमितों की संख्या बेइंतहा बढ़ती जा रही है। लगातार दूसरे दिन 700 का आंकड़ा पार करने के कारण स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है। रविवार को हुई 7905 टेस्टिंग में 741 पॉजिटिव निकले और चार मरीजों की मौत हो गई। जनपद में अब तक 26674 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 428 लोगों की मौत हो चुकी है।

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। कोरोना ने शहर का लगभग हर हिस्सा अपनी चपेट में ले लिया है। पुरानी मोहनपुरी में दो दर्जन से अधिक लोग संक्रमित निकले हैं। गंगा नगर स्थित तमाम कालोनियों में कोरोना घुस गया है।

मेडिकल कालेज का स्टाफ बुरी तरह से कोरोना की चपेट में आ रहा है। शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ने से प्रशासन चिंतित हो गया है। पंचायत चुनावों के कारण लोग भीड़ के रूप में निकल रहे हैं और कोरोना उनको अपनी चपेट में ले रहा है।

वहीं, कोरोना के कारण लल्लापुरा में 82 वर्षीया महिला, जैदी सोसायटी में 48 वर्षीया महिला, ब्रह्मपुरी पंजाया में 71 वर्षीया महिला और सूरजकुंड निवासी 30 वर्षीय युवक की कोरोना से मौत हो गई। कोरोना दूसरी लहर में हर उम्र के बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक को चपेट में ले रहा है। कोरोना ने पुलिस, डाक्टर, फौजी और छात्रों को ज्यादा संक्रमित किया है। उधर, देहात के गांव पाथौली, भगवानपुर, जेवरी, सरधना, मवाना, सरूरपुर, किठौर आदि इलाकों मे कोरोना पैर पसार रहा है।

कोरोना से सिपाही की मौत

वक्त रहते इलाज न मिलने की वजह से कोरोना संक्रमित सिपाही ने मेडिकल में दम तोड़ दिया। सिपाही अरुण लखनऊ के हजरत गंज थाना में तैनात था। सिम्टम नजर आने पर उसने मेरठ में ही कोरोना की जांच करायी थी। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी।

इसकी जानकारी मिलने पर इंस्पेक्टर थाना हजरत गंज श्याम बाबू शुक्ल ने अरुण को उपचार के लिए घर जाने को छुट्टी दे दी थी। श्याम बाबू ने बताया कि मेरठ के लिए रवाना हो गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी अचानक तबीयत खराब होने लगी। सांस लेने में दिक्कत हो रही थी।

उसने यह बात थाने में सहकर्मियों को कॉल कर बतायी। रास्ते में तबीयत अधिक खराब होने पर मेरठ पहुंचने के बजाय घर जाने के वह सीधे गढ़ रोड स्थित आनंद हॉस्पिटल पहुंचा, लेकिन उसको बेड नहीं मिल सका। बताया गया कि सभी 50 बेड पहले ही भर चुके हैं।

उसकी तेजी से बिगड़ रही तबीयत को देखते हुए आनंद से उसको मेडिकल रेफर कर दिया। आरोप है कि जब तक वह मेडिकल को कोविड इमरजेंसी में पहुंचा, तब तक मेडिकल के डाक्टरों के हाथ से तमाम विकल्प निकल चुके थे। उसको तत्काल वेंटिलेटर पर ले जाया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका।

अरुण के परिवार में पत्नी के अलावा दो बच्चे भी हैं। पुलिस महकमे में नौकरी पिता रामपाल सिंह के स्थान पर आश्रित कोटे में मिली थी। वहीं, दूसरी ओर आरआई मेरठ लाइन मुकेश कुमार ने बताया कि मृतक सिपाही मूलरूप से मुरादाबाद का निवासी है।

जनपदों में कोविड बेड की संख्या बढ़ाने के सीएम के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वर्चुअल माध्यम से एक उच्च स्तरीय बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। प्रदेश सरकार की प्राथमिकता एक-एक व्यक्ति की जान बचाना है। इसलिए सभी कोरोना मरीजों को आॅक्सीजन एवं आवश्यक दवाओं की उपलब्धता के साथ ही होम आइसोलेशन में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मेडिकल किट की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने कहा कि बेड की संख्या को मौजूदा अवसंरचना में ही बढ़ाया जाए, जिससे आने वाले कोविड मरीजों को इलाज में असुविधा न हो। जब कोरोना से दस कदम आगे की सोच रखेंगे, तभी उसको नियंत्रित करने में सफलता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जनपदों में आॅक्सीजन की अनवरत आपूर्ति बनी रहे।

उन्होंने सभी अस्पतालों में आॅक्सीजन की अगले 15 दिन की संभावित आवश्यकता का आकलन करते हुए भारत सरकार को मांग प्रेषित करने के निर्देश दिए। उन्होंने मेडिकल आॅक्सीजन के वितरण कार्य को सुचारू बनाये रखने के निर्देश देते हुए कहा कि रिफिलिंग प्लांट पर निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाय।

वहां कार्य के सुचारू संचालन की व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए आवश्यकतानुसार पुलिस प्रबंध किए जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि आॅक्सीजन की कालाबाजारी न होने पाए। मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से कोविड बेड की संख्या में वृद्धि तथा आॅक्सीजन आपूर्ति की मॉनिटरिंग करने की अपेक्षा की।

उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री से रेमडेसिविर सहित मेडिकल किट की दवाओं तथा एम्बुलेंस सेवाओं की समीक्षा करने की बात की। स्वच्छता, सैनिटाइजेशन, फॉगिंग के विशेष अभियान को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश दिये। सभी जनपदों में क्वारंटाइन सेंटर को प्रभावी ढंग से क्रियाशील रखने के निर्देश दिये।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments