Home Uttar Pradesh News Meerut मेरठ विकास प्राधिकरण की कार्रवाई, रामकुंज पर लगाई सील

मेरठ विकास प्राधिकरण की कार्रवाई, रामकुंज पर लगाई सील

0
मेरठ विकास प्राधिकरण की कार्रवाई, रामकुंज पर लगाई सील
  • लावड़ रोड पर विकसित की जा रही थी अवैध कॉलोनी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: एमडीए इंजीनियरों की टीम ने आखिर अवैध बिल्डर अनिल चौधरी की अवैध कॉलोनी रामकुंज पर आखिर शिकंजा कस ही दिया। बुधवार को एमडीए इंजीनियरों की टीम लावड़ रोड पीलना सोफीपुर में पहुंची, जहां पर 150 बीघा जमीन में अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही हैं।

इसका कोई मानचित्र स्वीकृत नहीं है। इसमें चल रहे अवैध निर्माण पर एमडीए टीम ने सील की कार्रवाई कर दी। एमडीए टीम की कार्रवाई का विरोध करने के लिए भी लोग पहुंच गए थे, लेकिन टीम ने एक नहीं सुनी।

इससे पहले निर्माण रोकने के लिए बिल्डर को एमडीए इंजीनियरों की तरफ से बार-बार नोटिस दिये जा रहे थे, मगर बावजूद इसके बिल्डर अवैध निर्माण किये जा रहा था। अब आगे ध्वस्तीकरण की कार्रवाई अवैध कॉलोनी पर की जाएगी।

पीलना सोफीपुर (लावड़ रोड) श्मशान घाट के पीछे पिछले तीन माह से अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी। एमडीए इंजीनियरों के अनुसार यह अवैध कॉलोनी करीब 150 बीघा जमीन में विकसित की जा रही है, जिसके कुछ भाग पर फिलहाल मिट्टी का भराव कर सड़क व मकानों के निर्माण किये जा रहे हैं।

मकान निर्माण से पहले नींव भर दी गई हैं। कुछ आठ फुट ऊंचे पिलर्स भरकर तैयार कर दिये गए हैं। तेजी से पिलर्स व फाउंडेशन का काम चल रहा था। सड़क का निर्माण भी कॉलोनी में कर दिया गया है।

इस तरह से कॉलोनी का बोर्ड भी गेट पर ही लगा दिया गया है। समरसेबिल भी इस कॉलोनी में पानी की आपूर्ति के लिए कर दिया गया है। क्योंकि निर्माण कार्य में पानी की आवश्यकता होती है, उसे पूरा करने के लिए समरसेबिल भी चालू कर दिया गया है।

इस तरह से पूरी प्लानिंग के साथ इसमें काम चल रहा है। अवैध कॉलोनी की शिकायत प्राधिकरण उपाध्यक्ष मृदुल चौधरी को मिली, जिसके बाद प्राधिकरण उपाध्यक्ष नाराज हो गए तथा संबंधित इंजीनियरों की बुलाकर क्लास लगा दी तथा इसमें अवैध कॉलोनी पर तेजी से कार्रवाई करने के निर्देश दिये।

इसके बाद ही एमडीए इंजीनियरों की टीम ने कई नोटिस बिल्डर को भेजे, इसके बाद भी निर्माण कार्य जारी रहा। बिल्डर अनिल चौधरी की इस कॉलोनी में एमडीए इंजीनियरों की टीम बुधवार को पहुंची तथा निर्माणाधीन बिल्डिंग पर सील लगा दी। इंजीनियरों ने चेताया कि यदि एमडीए की सील तोड़ी गई तो इसमें एफआईआर भी दर्ज करायी जाएगी।

सील लगाने वाली टीम में जोनल अधिकारी धीरज सिंह, अवर अभियंता मनोज सिसौदिया व पूरी टीम मौजूद रही। सील की कार्रवाई के दौरान कोई बवाल नहीं हो, इसको देखते हुए पल्लवपुरम थाने से फोर्स भी ली गई थी।

जोनल अधिकारी धीरज सिंह ने बताया कि अवैध कॉलोनी पर अगली कार्रवाई ध्वस्तीकरण की होगी। इसके लिए तिथि निर्धारित की जाएगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Reply