Tuesday, March 2, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut किसानों ने आवंटियों को नहीं लेने दिया कब्जा

किसानों ने आवंटियों को नहीं लेने दिया कब्जा

- Advertisement -
0
  • जागृति विहार एक्सटेंशन योजना में पहुंचे थे आवंटी
  • अंडर ग्राउंड डाली जा रही विद्युत लाइन का कार्य भी रोका

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जागृति विहार एक्सटेंशन में किसानों और अधिकारियों के बीच मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। किसान अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। सोमवार को भी किसानों ने आवंटियों को कब्जा नहीं लेने दिया। उन्हें कार्य करने से रोककर हंगामा किया। किसानों ने वहां चल रहे विद्युत लाइन डाले जाने के कार्य को भी रुकवा दिया और पहले किसानों की मांगे पूरी किये जाने की बात कही।

जागृति विहार एक्टेंशन स्कीम 11 में आवास विकास की ओर से फ्लैटों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। यहां परिषद की ओर से पहले भी लोगों को लॉटरी के माध्यम से प्लॉट आवंटित किये गये थे, लेकिन आवास विकास परिषद अभी तक लोगों को कब्जा नहीं दिलवा पाया है।

क्योंकि किसानों ने आवंटियों को कब्जा नहीं लेने दिया। किसान अभी अपनी मांगों पर अड़े हैं। सोमवार को भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। यहां तीन आवंटी योजना दो के सेक्टर-तीन में अपने प्लॉटों पर कब्जा लेने पहुंचे, लेकिन किसानों ने उन्हें कब्जा नहीं लेने दिया।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस सेवादल के प्रदेश सचिव व पीसीसी सदस्य रोहित गुर्जर के नेतृत्व में पहुंचे किसानों ने कहा कि जब तक आवास एवं विकास परिषद किसानों को विकसित कर भूखंड नहीं देगा जब तक किसी भी आवंटी को कब्जा नहीं लेने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 में आवास विकास ने सरायकाजी, काजीपुर व कस्बे के किसानों से 1000 रुपये वर्ग मीटर, घोसीपुर को 600 रुपये, कमालपुर को 800 रुपये के हिसाब से जमीन अधिग्रहण की थी।

किसानों को पांच प्रतिशत विकसित भूखंड भी दिया जाना था, लेकिन किसनों को अभी तक बढ़ा हुआ प्रतिकर और प्लॉट नहीं मिल पाया है। जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं होती किसी को कब्जा नहीं लेने दिया जाएगा। इस दौरान उन्होंने विद्युत लाइन डाल रहे ठेकेदार को भी भगा दिया।

ठेकेदार यहां 33 केवी की लाइन डाल रहा था जिसके लिये जमीन में गड्ढा खोदने का कार्य किया जा रहा था, लेकिन किसानों ने जमीन नहीं खोदने थी और ठेकेदार को वहां से भगा दिया। इस दौरान मौजूद परिषद के अधिकारियों ने किसानों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं माने। यहां किसान बिल्लू सिंह, जयपाल सिंह, एसके शाहरुख, राजिन्द्र कुमार, रमेश, भीम सिंह, तुलसी दास, इकराम आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments