Tuesday, March 2, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut दूसरे राज्यों की गाड़ियां बनीं कमाई का सबब ?

दूसरे राज्यों की गाड़ियां बनीं कमाई का सबब ?

- Advertisement -
0
  • शहर के प्रत्येक चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस का जमावड़ा, दूर से ही पढ़ ली जाती है नंबर प्लेट
  • मुख्य मार्गों समेत शहर के चोर रास्तों पर भी तैनात रहने लगी है ट्रैफिक पुलिस

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: खाकी पर दाग लगना कोई नई बात नहीं है। सरकार और डीजीपी के लाख आदेशों के बाद भी ट्रैफिक पुलिस अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है। दूसरे राज्यों के नंबर की गाड़ी इस वक्त ट्रैफिक पुलिस के लिए गाढ़ी कमाई का जरिया बनीं हुई है।

दूसरे राज्यों के नंबर की गाड़ी भीड़ में खड़ी हो या फिर दूर से आ रही हो, ट्रैफिक पुलिस उसका नंबर पढ़ ही लेती है। इसके बाद उनसे कमाई की जाती है। ऐसा ही एक मामला सोमवार को एल-ब्लॉक चौकी के पास कैमरे में कैद किया गया। जहां पर एक होमगार्ड कुछ चालकों से वसूली करते हुए दिखाई दे रहा है।

दूसरे राज्यों के नंबरों की गाड़ी से वसूली करने का मामला लखनऊ तक जाने के बाद डीजीपी ने मामले का खुद संज्ञान लिया था। साथ ही निर्देश दिए थे कि दूसरे राज्यों से आने वाले वाहन चालकों को परेशान नहीं किया जाए। यदि ऐसा मामला पाया गया तो ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी, लेकिन ट्रैफिक पुलिस के लिए दूसरे राज्यों के नंबरों के वाहन गाढ़ी कमाई बने हुए है। जिस कारण ट्रैफिक पुलिस दिन निकलते ही शहर के मुख्य मार्गों समेत चोर रास्तों पर तैनात हो जाती है।

इसके बाद ट्रैफिक पुलिस होमगार्ड से जमकर वसूली कराती है। हालात ऐसे बन चुके है कि ट्रैफिक सिपाही व होमगार्ड बिना एसआई के ही चालान करने के नाम पर जमकर वसूली करते है। यही नहीं दूसरे राज्यों के नंबर के आने वाले वाहन चालकों से सेटिंग का सारा काम होमगार्ड के जिम्मे ही होता है।

यही नहीं शहर के कुछ चौराहों पर यह खेल खुलेआम चलता है। जहां होमगार्ड के जवान चालकों को एक कोने में ले जाकर खुलेआम सेटिंग करते है। ऐसा ही एक मामला सोमवार को एल-ब्लॉक चौकी के पास देखने को मिला। जहां एक होमगार्ड चार वाहन चालकों के साथ सेटिंग करते हुए नजर आ रहा है। यह सारा मामला दैनिक जनवाणी की टीम ने अपने कैमरे में कैद कर लिया है।

जाम पर नहीं ध्यान, बाहरी नंबरों पर रहती है नजर

शहर में इस वक्त हर ओर जाम ही जाम दिखाई देता है। हालात ऐसे है कि शहर के ज्यादातर चौराहों पर दिनभर जाम की स्थिति बनी रहती है। इसके बावजूद ट्रैफिक पुलिस वसूली में मस्त रहती है। ट्रैफिक पुलिस जाम में फंसे दूसरे राज्यो के वाहनों पर ही नजर रखते है। ऐसे वाहनों पर नजर पड़ते ही होमगार्ड के जवान उन्हें सड़क किनारे ले जाते है और चालकों से सेटिंग का खेल शुरू हो जाता है।

यातायात व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए ट्रैफिक पुलिस को निर्देश दिए हुए है। फिलहाल शहर कई मार्गों पर कार्य चल रहे हैं। जिस कारण इन मार्गों पर जाम की स्थिति बनी रहती है। वहीं चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मियों के अनदेखी करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।                                 -जितेंद्र श्रीवास्तव, एसपी ट्रैफिक।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments