Wednesday, December 1, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutदिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे: तारीख-पर-तारीख, इंतजार लंबा

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे: तारीख-पर-तारीख, इंतजार लंबा

- Advertisement -
  • पांच बार एक्सप्रेस-वे की तिथि आगे खिसकी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: निर्धारित की गई दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के लिए फिर से एक तारीख आगे खिसक गई है। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पहले कहा था कि 31 दिसंबर तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे तक कार्य पूर्ण कर वाहनों को दौड़ाया जाएगा, लेकिन अब फिर से केन्द्रीय मंत्री की तरफ से 31 जनवरी तक कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य दे दिया गया है। इस तरह से पांच बार इसकी तिथि आगे खिसक चुकी है। बार-बार एक्सप्रेस-वे का काम पिछड़ता जा रहा है। यह हाल तो 32 किमी लंबी सड़क तैयार करने में समय लग रहा है।

यदि इससे ज्यादा लंबाई की सड़क तैयार करने की जिम्मेदारी मिल गई होती तो कई बरस गुजर जाते। कुशलिया में अंडर पास का निर्माण अधूरा है,जिसको फिलहाल एनएचएआई को फोकस करने की आवश्यकता है। इसके अलावा भी परतापुर व डासना में काफी काम बाकी है। डामर की 27 किमी सड़क तो बना दी है, लेकिन इस पर भी फाइनल कोट होना बाकी है। इस तरह से काफी काम एक्सप्रेस-वे के निर्माण पूरा होने में अभी बाकी है।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के लिए कुशलिया गांव में अंडरपास तैयार हो रहा है। इस अंडरपास के नीचे से डासना और मुरादनगर के बीच पुराना रास्ता गुजर रहा है। इस अंडरपास पर छत डालने का कार्य शुरू हो गया है। छत का कार्य 15 दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। छत के साथ ही दोनों तरफ आरई वाल तैयार करने का कार्य भी चल रहा है।

कुशलिया में ही ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे पर दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे का लूप बन रहा है। कुशलिया से डासना दो किमी दूर है। कुशलिया से ही आगे बढ़कर 700 मीटर का एलिवेटेड स्ट्रक्चर भी बनाया जा रहा है। ये स्ट्रक्चर आइएमएस गाजियाबाद के सामने एनएच 24 पर उतरेगा। गौरतलब है कि मेरठ के रेलवे ओवरब्रिज से लेकर कुशलिया के निर्माणाधीन अंडरपास तक 27 किमी का हिस्सा पूरा हो चुका है।

उस पर डामर की दो परत भी डाली जा चुकी है। अंतिम परत डालने का कार्य जारी है। डिवाइडर के बीच में पौधरोपण का कार्य अंतिम चरण में है। सीसीटीवी कैमरे के लिए खंबे लगाए जा रहे हैं। दोनों किनारे क्रैश बेरियर भी लगाने का कार्य जोरों से चल रहा है। गौरतलब है कि केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भले ही 31 जनवरी तक कार्य पूरा करने की छूट दे दी है, लेकिन एनएचएआई अभी भी 31 दिसंबर को ही लक्ष्य मानकर कार्य को पूरा करने के लिए जुटा हुआ है। 31 दिसंबर का लक्ष्य भी नितिन गडकरी ने ही दिया था, लेकिन रेलवे ओवरब्रिज का कार्य बाधित होने के कारण उन्होंने अतिरिक्त समय दिया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments