Friday, January 27, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनिराशा: पीआरडी की भर्ती निरस्त

निराशा: पीआरडी की भर्ती निरस्त

- Advertisement -
  • प्रक्रिया पर रोक से आवेदकों में मायूसी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: प्रांतीय रक्षक दल (पीआरडी) में स्वयंसेवकों की भर्ती के लिए शुरू की गई प्रक्रिया पर लखनऊ से आए रोक लगाने के आदेश से आवेदन करने वाले बेरोजगारों में मायूसी छा गई है। पीआरडी में जवानों को स्वयं सेवक की श्रेणी में रखा गया है। जिनको ड्यूटी करने की स्थिति में रोज 395 रुपये के हिसाब से मानदेय दिया जाता है। मुख्यालय से मिले निर्देश के अनुपालन में जिला युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल विभाग की अधिकारी डॉ. सलोनी गर्ग ने मेरठ जनपद में 67 ग्रामीण और 80 शहरी क्षेत्र से कुल 147 स्वयं सेवक चयनित करने की प्रक्रिया शुरू की। जिसके अंतर्गत व्यापक प्रचार करते हुए आवेदन लिए गए।

डॉ. सलोनी गर्ग ने बताया कि शनिवार को मुख्यालय से निर्देश मिले। जिनके अनुपालन में अग्रिम आदेश तक भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया इस बीच मेरठ कार्यालय में लगभग 1800 आवेदन जमा किए जा चुके हैं। हाईस्कूल की योग्यता वाली इस नौकरी के लिए ग्रेजुएट से लेकर बीटेक डिग्री धारक भी आवेदन कर चुके हैं। बताते चलें कि पीआरडी जवानों को सरकारी स्थानों, थानों और यातायात व्यवस्था संभालने समेत कई तरह की जिम्मेदारियां दी जातीं हैं। जिसकी एवज में उन्हें 395 रुपये रोज मानदेय दिया जाता है।

आशा: सीएनजी बसों में लगेंगी नई सीटें

महानगर सेवा में लगी सीएनजी बसों की टूटी-फूटी सीटों को बदलकर नई सीटें लगाने का काम शुरू हो गया है। पहली खेप के रूप में 200 सीटें वर्कशॉप आ चुकी हैं। जबकि इतनी ही नई सीटें जल्दी पहुंचने की उम्मीद है।

आरएम और प्रभारी एमडी केके शर्मा ने बताया कि संबंधित कंपनी की ओर से पहले चरण में 200 सीटें उपलब्ध कराई हैं। इस संबंध में वर्कशॉप के लिए क्षतिग्रस्त सीटों को तत्काल प्रभाव से बदलने के आदेश जारी किए गए हैं।

सिटी बस सेवा में सुधार के निर्देश

सिटी बसों की सेवा को लेकर सरधना मार्ग और अन्य स्थानों से शिकायत मिली। जिसमें कहा गया कि शाम के समय से रात तक इन मार्गों से बसें गायब हो जाती हैं। इस संबंध में एआरएम फाइनेंस मुकेश अग्रवाल ने संबंधित संचालन प्रभारियों को दिशा निर्देश दिए हैं। जिनमें कहा गया कि वे स्वयं मौके पर पहुंचकर बसों के संचालन की व्यवस्था में सुधार कराएं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments