Monday, October 25, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकस्तूरबा विद्यालयों में करोड़ों का गबन, प्रबंध निदेशक गिरफ्तार

कस्तूरबा विद्यालयों में करोड़ों का गबन, प्रबंध निदेशक गिरफ्तार

- Advertisement -
  • ईओडब्लू इससे पहले प्रोजेक्ट मैनेजर को कर चुकी अरेस्ट

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जब बाड़ ही खेत को खाने लगे तो कोई कुछ नहीं कर सकता है। कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के लिये बन रहे आवासीय विद्यालयों के निर्माण में जमकर घोटाला चल रहा है। ईओडब्लू ने कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माण की साढ़े तीन करोड़ की राशि का गबन करने वाले राज्य सहकारी निर्माण एंव विकास के तत्कालीन प्रबंध निदेशक को उसके आवास लखनऊ से दबोच लिया। ईओडब्लू की टीम पांच दिन पहले ही इस मामले में वांटेड चल रहे प्रोजेक्ट मैनेजर धर्मेंद्र सिंह निवासी बांदा को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है।

ईओडब्लू एसपी स्वप्निल ममगाई ने बताया कि अभी एक आरोपी फरार चल रहा है। उसकी भी जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी। उनका कहना है कि आरोपी पिछले कई साल से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। नौ साल पहले बिजनौर में प्रोजेक्ट मैनेजर धर्मेंद्र सिंह निवासी जिला बांदा ने परियोजना प्रबंधक कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश सहकारी निर्माण एंव विकास लिमिटेड ईकाई बिजनौर में 13 कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माण के लिए चार करोड़ रुपये के निर्माण कराने का ठेका लिया था।

आरोप है कि प्रोजेक्ट मैनेजर धमेंद्र सिंह व विनोद पुत्र देवीशरण तत्कालीन प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश राज्य सहकारी निर्माण एंव विकास लिमिटेड लखनऊ द्वारा अपनी सहयोगी के साथ फर्म बनाकर 13 कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माण करने के लिए आवंटित राजकीय धनराशि साढ़े तीन करोड़ रुपयों को प्राप्त करके उनका निर्माण शुरू किया गया। इसके बाद गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माण आधा अधूरा करके फर्म के संचालक फरार हो गए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments