Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएमपी साहब! कहां से लाएं खाली आक्सीजन सिलेंडर ?

एमपी साहब! कहां से लाएं खाली आक्सीजन सिलेंडर ?

- Advertisement -
0
  • सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने लोगों से की खाली सिलेंडर जमा कराने की अपील

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सांसद ने शहर के लोगों से खाली सिलेंडर जमा कराने की अपील की है जिससे प्रशासन खाली सिलेंडर जमा करने के बाद एक बैंक बना सके और उन लोगों को आॅक्सीजन उपलब्ध करा सके जिन्हें तत्काल आॅक्सीजन की आवश्यकता है, लेकिन इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है कि आखिर खाली सिलेंडर मिलेगा कहां।

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने सॉशल मीडिया पर पोस्ट कर लोगों से खाली आॅक्सीजन सिलेंडर प्रशासन की ओर से निर्धारित तीनों केन्द्रों पर जमा कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास खाली सिलेंडर हैं वह लोग निर्धारित केन्द्रों पर जमा करा दें। अगर उन लोगों को आॅक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता पड़ेगी तो उन्हें दो घंटों के अंदर आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा दिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि आॅक्सीजन की कमी के कारण लोग परेशान हैं, लेकिन वास्तव में आॅक्सीजन तो हैं, लेकिन आॅक्सीजन के लिये खाली सिलेंडर नहीं मिल रहे हैं। जिससे परेशानी खड़ी हो रही है। उन्होंने शहर की जनता से खाली सिलेंडर जमा कराने की अपील की है। उधर लोगों का भी कहना है कि सांसद जी ने खाली सिलेंडर तो मांगे हैं, लेकिन खाल सिलेंडर मिलेगा कहां इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि लोगों को तत्काल आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया जा सके। इसके लिये ही उन लोगों से सिलेंडर मांगे गये हैं जिनके पास खाली सिलेंडर है। लेकिन खाली सिलेंडर को लेकर उन्होंने कहा कि खाली सिलेंडर हैं ही नहीं। इसलिये किल्लत पड़ रही है। अगर सिलेंडर हों तो लोगों को समय पर आॅक्सीजन उपलब्ध कराई जा सके।

तीनों सेंटरों पर जमा हुए 129 सिलेंडर

प्लांटों पर आॅक्सीजन की आपूर्ति आम आदमी के लिये बंद होने के दो दिन बाद तीसरे दिन प्लांटों पर आॅक्सीजन लेने वालों की संख्या बढ़नी शुरू हुई। मंगलवार को प्रशासन की ओर से बनाये गये तीनों केन्द्रों पर 129 लोगों ने आॅक्सीजन सिलेंडर भरवाने के लिये जमा कराये। इस दौरान 21 मरीजों की स्थिति नाजुक देखने हुए प्रशासन की ओर से मात्र सात घंटे में उन लोगों को आॅक्सीजन सिलेंडर भरवाकर उपलब्ध करवाये। बाकी को अगले दिन आॅक्सीजन सिलेंडर देने की बात कही गई।

बता दें कि प्रशासन की ओर से आम आदमी को आॅक्सीजन सिलेंडर वितरित करने के लिये शहर में तीन केन्द्र बनाये गये हैं। परतापुर स्थित नवभार विद्यापीठ, कंकरखेड़ा स्थित सामुदायिक केन्द्र और जागृति विहार स्थित सामुदायिक केन्द्र पर आॅक्सीजन सिलेंडर वितरित किये जा रहे हैं।

पहले दिन रविवार को जहां मात्र 67 लोगों ने आॅक्सीजन सिलेंडर भरवान के लिये अपने सिलेंडर जमा कराये थे वहीं मंगलवार को यह संख्या 129 तक पहुंच गई। सोमवार को भी 95 लोगों ने आॅक्सीजन सिलेंडर जमा कराये थे जिन्हें मंगलवार सुबह को ही आॅक्सीजन सिलेंडर भरवाकर दे दिये गये।

अपर नगरायुक्त श्रद्धा शाण्डिल्यान ने बताया कि मंगलवार को 129 लोगों ने आॅक्सीजन सिलेंडर जमा कराये। जिसमें से 21 लोगों को इमरजेंसी थी। इन लोगों के मरीजों की स्थिति को देखते हुए प्रशासन की ओर से 7 घंटे के अंदर इन लोगों को आॅक्सीजन सिलेंडर भरवाकर उपलब्ध कराये गये। अन्य को बुधवार को सिलेंडर वितरित किये जाएंगे।

सिलेंडर पाने के बाद लोगों ने किया धन्यवाद

इमरजेंसी में सिलेंडर पाने वाले अमित, सुमित, राजसिंह व अन्य लोगों ने प्रशासन की इस प्रक्रिया पर धन्यवाद जताया। गढ़ रोड निवासी अमित ने बताया कि उन्होंने आज सुबह ही सिलेंडर जमा कराया था। लेकिन उनके चाचा कि तबीयत इस कदर खराब थी कि उन्हें कोविड सेंटर में आॅक्सीजन की कमी के कारण भर्ती नहीं कराया जा रहा था।

प्रशासन की ओर से 6 घंटों के अंदर ही सिलेंडर उपलब्ध करा दिया गया। जिसके बाद शाम को उन्होंने अपने चाचा को अस्पताल में भर्ती कराया। प्रशासन की इस योजना से कई लोगों को लाभ पहुंचने की उम्मीद है और काफी हद तक आॅक्सीजन की कालाबाजारी भी अंकुश लग गया है।

बोले कमिश्नर-आॅक्सीजन की कमी से नहीं जाएगी जान

आॅक्सीजन की कमी के कारण अब किसी की जान नहीं जायेगी। कमिश्नर ने आॅक्सीजन की कमी की लगातार शिकायतें मिलने पर कमान अपने हाथों में संभाल ली है। मंगलवार को उन्होंने इसे लेकर प्रशासन की ओर से बनाये गये आॅक्सीजन वितरण केन्द्रों का निरीक्षण किया।

उन्होंने कहा कि इमरजेंसी की हालत में मरीज के परिजनों को तत्काल आॅक्सीजन उपलब्ध कराई जाये, किसी मरीज की जान आॅक्सीजन के कारण नहीं जानी चाहिए। इस दौरान उन्होंने सभी को कोविड़ नियमों का भी सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये।

आॅक्सीजन को लेकर पिछले कई दिनों से आॅक्सीजन प्लांटों पर हाहाकर मचा था। आॅक्सीजन की किल्लत के चलते रोजाना किसी न किसी की जान जा रही थी और आॅक्सीजन की कालाबाजारी भी चल रही थी। जिसके कारण उन लोगों तक आॅक्सीजन नहीं पहुंच पा रही थी जिन्हें हकीकत में इसकी जरूरत है।

इसके बाद प्रशासन ने इस मामले में सख्ती करते हुए कमान अपने हाथों में संभाली और आॅक्सीजन वितरण के लिये शहर में तीन केन्द्र बना दिये और प्लांटों पर आम आदमी के लिये आॅक्सीजन का वितरण बंद कर दिया। वर्तमान में जागृति विहार, कंकरखेड़ा और परतापुर में लोगों को आॅक्सीजन वितरित कराई जा रही है।

पहले और दूसरे दिन आॅक्सीजन सिलेंडर जमा कराकर अगले दिन आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराये। लेकिन कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह के निरीक्षण के बाद से मंगलवार से लोगों को आॅक्सीजन सिलेंडर जल्दी उपलब्ध कराये गये।

इमरजेंसी में तुरंत उपलब्ध करायें आॅक्सीजन सिलेंडर

कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह आॅक्सीजन वितरण को लेकर चल रही परेशानियों को दूर करन के लिये परतापुर स्थित नवभारत विद्यापीठ केन्द्र पर निरीक्षण किया। उन्होंने यहां रखे हुए सिलेंडरों की जानकारी मांगी। जिसके बाद उन्होंने इस पर नाराजागी जताई उन्होंने कहा कि खाली सिलेंडर जैसे ही एकत्र हों उन्हें प्लांटों पर रिफिल करने के लिये भेजा जाये।

उधर उन्होंने इमरजेंसी मरीजों को तत्काल आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कहा कि इमरजेंसी में आने वाले सभी लोगों को तुरंत आॅक्सीजन सिलेंडर भरकर उपलब्ध करायें जाएं। किसी भी मरीज की आॅक्सीज की कमी के कारण जान नहीं जानी चाहिए। उसने इसके लिये सभी को विशेष दिशा निर्देश दिये। साथ ही कहा कि केन्द्रों पर कोविड नियमों का सख्ती के साथ पालन किया जाये।

नहीं मिल पा रहे खाली सिलेंडर

अधिकारियों की मानें तो खाली सिलेंडरों की कमी के कारण यह परेशानी सामने आ रही है। अगर खाली सिलेंडर हों तो लोगों को तत्काल ही आॅक्सीजन सिलेंडर मिल जायें। प्रशासन ने इसकी व्यवस्था तो कर दी है अब खाली सिलेंडर उनके सामने परेशानी बने हुए हैं।

ज्यादातर लोगों ने या तो आॅक्सीजन सिलेंडर भरकर अपने घरों में स्टॉक करके रख ली है या लोग खाली सिलेंडरों को ऐसे ही अपने पास रखे हुए हैं जिससे खाली सिलेंडरों की समस्या बढ़ रही है। अस्पतालों के यहां भी काफी संख्या में सिलेंडर हैं, लेकिन वहां भी खाली सिलेंडर उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं।

अब आॅक्सीजन सिलेंडर मिलेगा 400 रुपये में

कोरोना नियंत्रण को लेकर कमिश्नर सुरेंद्र सिंह ने मंगलवार को मंडल के सभी डीएम, सीडीओ व सीएमओ के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की। जिसमें कमिश्नर ने आॅक्सीजन सिलेंडर की रिफलिंग की दर को निर्धारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आॅक्सीजन की रिफलिंग दर अब 600 रुपये से 400 रुपये की जाएं। ताकि आमजन को इसका फायदा मिल सकें।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments