Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजुबैर हत्याकांड के पांच आरोपी हिरासत में, आरोपी के बेटे ने खुद...

जुबैर हत्याकांड के पांच आरोपी हिरासत में, आरोपी के बेटे ने खुद को गोली मारी

- Advertisement -
  • सुसाइड नोट में पिता को लेकर तनाव बताया
  • पुलिस ने बेटे के सुपुर्देखाक के लिये आरोपी को छोड़ा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: नगर निगम के वार्ड-80 के पार्षद और एआइएमआइएम नेता जुबैर अंसारी की हत्या के आरोप में दो दिन से थाने पर बैठक प्रॉपर्टी डीलर के बेटे ने शास्त्रीनगर के सेक्टर तेरह स्थित आवास में माथे पर गोली मारकर जान दे दी। मरने से पहले युवक ने सुसाइड नोट भी लिखा था।

गंभीर रूप से घायल युवक को इलाज के लिये दिल्ली ले जाया गया जहां गंगाराम मेमोरियल अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया। रविवार को शव का दिल्ली में पोस्टमार्टम किया जाएगा। पुलिस ने बेटे के शव को सुपुर्देखाक करने के लिये आरोपी को छोड़ दिया है।

नौचंदी के शास्त्रीनगर सेक्टर-13 निवासी सपा नेता हाजी फतेहयाब के बेटे सालिम ने शनिवार सुबह 7.30 बजे मकान की दूसरी मंजिल के बेडरूम में 32 बोर के पिस्टल से अपने माथे में गोली मार ली। परिवार वाले उसे पहले न्यूटिमा अस्पताल ले गए। वहां से उसे आनंद अस्पताल लेकर गए जहां से दिल्ली रेफर कर दिया।

परिजन दिल्ली में गंगाराम अस्पताल ले गए जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। हत्यारोपी के बेटे के सुसाइड करने की सूचना मिलते ही नौचंदी पुलिस, सीओ सिविल लाइन देवेश सिंह और एसपी सिटी विनीत भटनागर भी मौके पर पहुंचे। मौके से 32 बोर का पिस्टल और सुसाइड नोट कब्जे में लिया।

एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि एआइएमआइएम के पार्षद जुबैर अंसारी की हत्या में मृतक सालिम के पिता फतेहयाब को शक के आधार पर उठाया गया है। हत्या का राजफाश होने के डर से ही सालिम ने आत्महत्या की है। सुसाइड नोट में सालिम ने इसका जिक्र भी किया है।

सालिम का शव रविवार को दिल्ली में पोस्टमार्टम होने के बाद लाया जाएगा। सीओ सिविल लाइन देवेश सिंह का कहना है कि पुलिस अभी मामले की जांच कर रही है आरोपी के बेटे ने गोली क्यों मारी इसका जल्द पता लगाया जाएगा। वहीं आरोपी के घर पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।

वहीं मृतक के परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि सालीम के पिता फतेहाआब को पुलिस ने दो दिन से हिरासत में लिया हुआ है। पुलिस उसे जुबेर की हत्या में जेल भेजने की तैयारी कर रही थी। इसी कारण से सलीम मानसिक तनाव में था।

जुबैर हत्याकांड में फतेहयाब और जब्बार के खिलाफ साक्ष्य मिलने पर दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही थी। इसी बीच फतेहयाब के बेटे सालिम ने सुसाइड कर लिया है।                       -प्रभाकर चौधरी, एसएसपी

जुबैर हत्याकांड खोलने की तैयारी से पहले सुसाइड

20 दिन पहले हुए पार्षद जुबैर अंसारी हत्याकांड को खोलने के करीब पुलिस पहुंच गई है और संभावना जताई जा रही थी कि पुलिस शनिवार को केस खोल देती, लेकिन सुबह के वक्त एक आरोपी के बेटे के सुसाइड करने की घटना ने पुलिस को थोड़ा वक्त और दे दिया है।

गत 28 अगस्त की सुबह जुबैर अंसारी को उस वक्त गोलियों से भून दिया गया था। जब वह एल ब्लॉक स्थित कोठी के बाहर खड़ा हुआ था। जुबैर के भाई ने रवि शंकर पुत्र बुद्ध प्रकाश, लक्ष्य पुत्र रवि शंकर, अक्षय पुत्र रवि शंकर निवासी मोहनपुरी, दिलशाद निवासी श्याम नगर, जब्बार निवासी रार्धना, हाजी फतेहआब निवासी शास्त्रीनगर और राजकुमार निवासी धनौटा पर शक जाहिर करते हुए मेडिकल थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

पुलिस ने पानीपत से शहजाद को उठाने के बाद जुबैर हत्याकांड की कड़ी को कड़ी से जोड़ने का काम शुरू करके नामजद लोगों को उठाकर पूछताछ शुरू कर दी थी। पुलिस जुबैर के हत्यारों तक पहुंच गई थी और एक दो दिन में केस को खोलने की बात भी चल रही थी तभी हाजी फतेहआब के बेटे सालिम ने गोली मारकर सुसाइड कर लिया। अब पुलिस सालिम के सुपुर्दे खाक होने के बाद ही केस को खोलने का मन बना रही है।

पुलिस के खिलाफ परिजनों में आक्रोश

जुबैर हत्याकांड में हाजी फतेहआब को मेडिकल पुलिस ने दो दिन से हिरासत में ले रखा है। इससे परिवार तनाव में चल रहा था। परिजनों का आरोप है कि पुलिस हाजी को आरोपी बनाने का प्रयास कर रही है। इस कारण 24 वर्षीय बेटे सालिम ने डर के मारे गोली मारकर जान दे दी। पूरे मौहल्ले में तमाम तरह की चर्चाएं दिन भर चलती रही कि पुलिस के दबाव में आकर सालिम ने सुसाइड किया है। परिवार के लोग मीडिया से बात करने से कतरा रहे थे और उनका पूरा गुस्सा पुलिस पर फूट रहा था।

जुबैर हत्याकांड के आरोपी हाजी फतेहयाब के बेटे सालिम के सुसाइड करने ने पुलिस को एक बड़ा सबूत दे दिया है। पुलिस को मौके से 32 बोर की अवैध पिस्टल और कारतूस मिला है। एसपी सिटी का कहना है कि 28 अगस्त को जब जुबैर अंसारी की हत्या की गई थी उसमें भी 32 बोर की पिस्टल का प्रयोग किया गया था। उस वक्त मौके से इसी बोर के खोखे भी मिले थे।

यह जांच का विषय है कि आरोपी के घर 32 बोर की पिस्टल कहां से आई। इसका जबाव मांगा जाएगा। यह भी देखा जा रहा है कि कहीं जुबैर हत्याकांड से इस पिस्टल का कोई कनेक्शन तो नहीं है। पुलिस का कहना है कि आरोपी के खिलाफ यह बिंदू महत्वपूर्ण कड़ी साबित होगा। पुलिस फतेहयाब और जब्बार के खिलाफ साक्ष्य मिलने के बाद लगातार पूछताछ कर रही थी।

मम्मी हिम्मत हार चुका हूं, आंसू नहीं देख सकता

पुलिस को सपा नेता हाजी फतेहआब के पास से ऐ सुसाइड नोट मिला है जिसका एक हिस्सा खून के कारण खराब हो गया था। सलीम ने रोमन लिपि में मम्मी को संबोधित करते हुए सुसाइड नोट लिखा है। पत्र में उसने लिखा है कि मम्मी मुझे माफ करना जो मैं आपको कठिन वक्त में छोड़कर जा रहा हूं।

मैं आपकी आंखों में आंसू नहीं देख सकता हूूं। पापा के बारे में सोचता हूं तो दिल फट जाता है। इस वक्त पापा पर क्या क्या जुल्म हो रहे होंगे। मम्मी मैं बहुत कमजोर हूं और मेरे पास इसके अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। पापा का ख्याल रखना और जिंदगी से कोई आसरा नहीं रह गया है इसलिये यह कदम उठा रहा हूं।

देहरादून की प्रॉपर्टी बनी हत्या का कारण

पुलिस जुबैर अंसारी हत्याकांड को खोलने के लिये तैयारी पूरी कर चुकी है। जिन पांच लोगों को इस संबंध में उठाया गया है उनसे पूछताछ के बाद कड़ी से कड़ी जुड़ती चली गई है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि देहरादून की करीब डेढ़ करोड़ की प्रापर्टी को लेकर विवाद चल रहा था।

आरोपियों ने जुबैर से पैसे तो ले लिये थे, लेकिन हकीकत में यह जमीन देहरादून में नहीं थी। इसको लेकर जुबैर तगादा करता था और आए दिन इसको लेकर बवाल हो जाता था। अधिकारी ने बताया कि जिन लोगों को उठाया गया है उनके तार इससे जुड़ते जा रहे हैं। जुबैर हत्याकांड के मामले में पुलिस को एक सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मिली थी। जिसमें एक युवक जुबैर को गोली मार रहा है, जबकि दूसरा बाइक पर पिस्टल लेकर बैठा हुआ है। दोनों ही बदमाशों की पहचान हो गई और पुलिस ने दो दिन पहले उनको पकड़ लिया था।

पीड़ित परिवार और एआईएमआईएम के नेताओं ने चेतावनी दी थी कि जुमे की नमाज के बाद वह धरने पर बैठेंगे। जिन्हें पुलिस ने आश्वासन दिया कि जल्द खुलासा कर देंगे। शुक्रवार को एसओजी की टीम ने दोनों शूटरों की निशानदेही पर तीन आरोपियों को पकड़ लिया था। जुबैर की हत्या के लिए भाड़े के शूटर हायर किए गए। जिन्होंने हत्या की वारदात को अंजाम दिया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments