Friday, February 3, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsखतरनाक वन्य जीवों से आम जनमानस के बचाव के लिए वन विभाग...

खतरनाक वन्य जीवों से आम जनमानस के बचाव के लिए वन विभाग ने दी जानकारी

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

बलरामपुर: प्रभागीय वनाधिकारी, सोहेलवा वन्य जीव प्रभाग एम0 सेम्मारन ने बताया कि वन्य जीव प्रभाग के भांभर रेंज के अन्तर्गत विगत तीन माह से मानव वन्य जीव संघर्ष की लगातार घटनाएं घटित हो रही है विगत तीन माह में लगातार हिसंक वन्य जीव तेन्दुआ द्वारा आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले बच्चों अमन चैधरी पुत्र मोहन चैधरी नि0-विशुनपुर कोडर, थाना पचपेड़वा जनपद बलरामपुर, संदीप यादव पुत्र राम सनेही नि0 मगजंवा खुर्द, थाना पचपेड़वा, जनपद बलरामपुर एवं सुनीता यादव पुत्री सदानन्द यादव नि0-ग्रा0 रेहरा, थाना पचपेड़वा जनपद बलरामपुर पर लगातार 03 बार आक्रमण कर मार दिया गया है।

उन्होंने इन परिस्थितियों को देखते हुये वन्य जीवों से आम जनमानस के बचाव के लिए क्या करें क्या न करें सम्बन्धी जानकारी दी है ताकि वन क्षेत्र के आस-पास निवास करने वाले ग्रामीणों/आम जनमानस को हिंसक वन्य जीव/तेन्दुए से बचाव हेतु जागरूक किया जा सके। उन्होंने कहा कि खेतों में कम से कम 02 या 05 व्यक्तियों के समूह में ही जाएं। गन्ने के खेतों में गन्ना काटने से पहले कम से कम 20 व्यक्तियों के समूह में हाॅका (जोर-जोर से आवाज निकालना) लगाएं। छोटे बच्चों को स्कूल, खेल के मैदान, बाजार व आबादी क्षेत्र से बाहर न जाने दें।

खेतों पर जाते समय खेत पर पहुॅचकर मोबाइल/रेडियों से लगातार ध्वनि का प्रसारण करें। गन्ने की कटाई के समय कार्य कर रहे मजदूरों की निगरानी हेतु एक व्यक्ति निगरानी करता रहे। गन्ने की कटाई एवं कृषि क्षेत्र में कोई कार्य झुक कर न करें, ऐसी स्थिति बनने पर लेपर्ड मानव न समझकर किसी वन्य जीव की आकृति समझकर हमला करता है। सामान्यतः लेपर्ड की घटनाओं मंे प्रायः देखा गया है कि लेपर्ड द्वारा झुके लोगों पर ही हमला किया गया है।

गन्ने की कटाई के समय लेपर्ड की उपस्थिति के पूर्वाभास हेतु कुत्तों को साथ ले जाना सहायक होगा। खेतों में कार्य करते समय सर पर हेलमेट नैकपैड के साथ पहने, रात्रि में खेतों की सुरक्षा हेतु मचान पर ही रहे। ज्यादातर रात्रि के समय खेतों पर न जाएं। रात्रि के समय खेतों में सिंचाई हेतु पानी में आॅटो कटर उपकरण लगाएं ताकि आवश्यकतानुसार पम्प स्वतः बन्द हो सके। वन्य जीव की जानकारी होने पर निकटतम क्षेत्रीय वनाधिकारी/वनकर्मियों को जानकारी अवश्य दें।

इस सम्बन्ध में सूचना क्षेत्रीय वनाधिकारी भांभर के मो0न0-9761370553, प्रभारी क्षेत्रीय वनाधिकारी रामपुर-7752979493, क्षेत्रीय वनाधिकारी तुलसीपुर-9517170830, क्षेत्रीय वनाधिकारी यूनिट तुलसीपुर 7983940669, क्षेत्रीय वनाधिकारी बरहवा-8423743407, क्षेत्रीय वनाधिकारी बनकटवा-9415355934, प्रभारी क्षेत्रीय वनाधिकारी पूर्वी सोहेलवा- 9838091751, प्रभारी क्षेत्रीय वनाधिकारी पश्चिमी सोहेलवा- 9793479802 दे सकते है।

उन्होंने कहा कि खेतों में अकेले न जाएं। बच्चों को अकेले कहीं न भेंजे। खेतों में जाते समय टाॅर्च अवश्य साथ में रखे। गन्ने की कटाई बैठकर या झुक कर न करें। वयस्क, बच्चे एवं महिलाएं शौच हेतु खेतों में न जाए। वन क्षेत्र के अन्तर्गत पालतू पशुओं को चराने अथवा लकड़ी चुगान हेतु न जाए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments