Thursday, October 21, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपांच माह से होमगार्ड लापता, हंगामा

पांच माह से होमगार्ड लापता, हंगामा

- Advertisement -
  • छात्र नेताओं ने कलक्ट्रेट और कमिश्नरी पर किया प्रदर्शन
  • गंगानगर थाना क्षेत्र से था लापता, पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: करीब पांच माह से लापता होमगार्ड के जवान की बरामदगी की मांग को लेकर परिजनों ने तमाम छात्र नेताओं को लेकर कमिश्नरी और कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। परिजनों ने काफी देर तक डीएम आफिस के बाहर धरना भी दिया और एसएसपी के नाम ज्ञापन एसीएम चंद्रेश कुमार सिंह को भी दिया।

परिजनों ने कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर बेटे की बरामदगी न हुई तो आंदोलन किया जाएगा। कमिश्नरी पर प्रदर्शन कर रहे परिजनों ने बताया कि सुमित मलिक व विनीत मलिक पुत्र जितेंद्र मलिक दोनों अपनी मां इंद्रेश देवी पत्नी जितेंद्र निवासी इखलास नगर डाबका थाना कंकरखेड़ा में रह रहे हैं।

गत 20 जुलाई 2020 को सुमित मलिक आयु करीब 26 वर्ष ग्राम रजपुरा मवाना रोड थाना गंगानगर में गया था, लेकिन वापस नहीं आया। वह होमगार्ड में जवान हैं। घटना के बारे में युवक के भाई विनीत मलिक ने गत 23 जुलाई को थाना गंगानगर में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

उन्होंने आशंका जताई थी कि गांव के ही कृष्णपाल पुत्र अजीत सिंह ने दोनों पुत्र विनीत मलिक व सुमित मलिक को शराब पिलाकर जमीन का इकरारनामा करा लिया था, जिसका विरोध युवकों की मां ने कई बार किया था। अब जल्दी बैनामें का समय होने वाला है।

इस कारण उसके पुत्र सुमित मलिक को लापता कर दिया गया है। आरोप था कि कृष्णपाल उसके साथी युवक की मां इंद्रेश देवी पर बैनामा कराने के लिए दबाव बना रहे हैं और ये कह रहे हैं कि उनके बेटे विनीत मलिक को भी उन्होंने कुछ रुपये दिए गए हैं। इसलिए उस जमीन का बैनामा हमें कर दें।

जमीन में बेटों की हिस्सेदारी खुली नहीं है। कृष्णपाल ने बिना हिस्सेदारी किए बेइमानी से ही इकरारनामा करा लिया है और अब धमकी दे रहा है कि यदि बैनामा नहीं किया तो उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा देगा। गंगानगर पुलिस ने भी लापता युवक के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की।

परिजनों ने आशंका जताई कि युवक की हत्या जमीन के लालच में घर से ले जाकर कहीं कर दी गई है। इसके साथ ही सुमित की मां व उसके भाई विनीत की भी जान को खतरा बना हुआ है, क्योंकि उनकी भी हत्या कर जमीन हड़पी जा सकती है।

एसीएम ने परिजनों को आश्वासन दिया कि उनके दर्द को पुलिस सुनेगी और कार्रवाई भी करेगी। प्रदर्शन करने वालों में सचिन चौधरी, नितिन बालियान, शेरा जाट, भानु प्रताप, सम्राट मलिक, निशांत चौधरी, तरुण चौधरी, कादिर राजपूत, विशाल बाफर, अंकुश बालियान आदि रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments