Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutलॉकडाउन में शटर गिराकर चल रहे होटल

लॉकडाउन में शटर गिराकर चल रहे होटल

- Advertisement -
0
  • एनएच-58 समेत शहर में कई जगहों पर चल रहे होटल, शाम होते ही गाड़ियों की लग जाती है लाइन

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: लॉकडाउन के कारण बंदी की कगार पर पहुंचे शहर के होटल व रेस्टोरेंट संचालकों ने अब नया तरीका एजाज किया है। होटल संचालक शटर गिराकर अपने होटल को तो संचालित कर ही रहे है, साथ ही जोमैटो व स्वीगी की फ्रेंचाइजी लेकर खाने की होम डिलीवरी भी कर रहे है।

यही नहीं कुछ ग्राहकों को होटल से खाना पैक कर भी दें रहे है। जिस कारण शहर के कुछ होटलों पर शाम होते ही गाड़ियों की लाइन लग जाती है। ऐसे में अगर देखा जाए तो होटल व रेस्टोरेंट संचालक जिला प्रशासन की गाइड लाइन का खुलेआम उल्लंघन कर रहे है।

जिला प्रशासन ने जहां कोरोना महामारी के बचाव के चलते जिलेभर में लॉकडाउन लगा रखा है। वहीं, दूध, ब्रेड, किराना, फल व सब्जी की दुकानों को खोलने के लिए सुबह आठ से 11 बजे का समय दें रखा है, वहीं मेडिकल स्टोरों को पूरा दिन खोले जाने की अनुमति दें रखी है।

इसके बावजूद शहर की अन्य दुकानें, कारखाने व होटल-रेस्टोरेंट के खोले जाने पर पूरी तरह पाबंदी लगा रखी है। लेकिन होटल व रेस्टोरेंट संचालकों ने इस बार जोमैटो व स्वीगी की फे्रंचाइजी लेकर होम डिलीवरी का काम शुरू कर रखा है।

यही नहीं यह होटल संचालक फ्रेंचाइजी की आड़ में होटल आने वाले ग्राहकों को भी पैकिंग का खाना उपलब्ध करा रहे है। जिस कारण इन होटलों पर शाम होते ही गाड़ियों की लाइन लग जाती है। यही नहीं कुछ होटल संचालक को आधा शटर गिराकर बाहर काउंटर लगाकर बैठ जाते है। एनएच-58 समेत शहर के कई होटल संचालकों ने थाना पुलिस से सेटिंग कर अपने होटलों को बदस्तूर चला रहे है। यही नहीं इस ओर से प्रशासन व पुलिस विभाग भी आंखे बंद किए हुआ बैठा है।

लॉकडाउन का उल्लंघन या लोगों को मिल रही सुविधा

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जहां सबकुछ बंद है तो फिर होटल व रेस्टोरेंट आधा शटर गिराकर क्यों चल रहे है। यह लॉकडाउन का उल्लंघन नहीं तो फिर क्या लोगों के लिए सुविधा है। कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जिला प्रशासन ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रहा है।

इसके बावजूद लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले बाज नहीं आ रहे है। आखिर सवाल यह उठता है कि होटल व रेस्टोरेंट के चलने से लॉकडाउन का उल्लंघन हो रहा है या फिर लोगों को सुविधा मुहैया कराई जा रही है। गली-मोहल्लों की बात करें तो दुकानें भी खुल रही है और लोग भी अनलॉक की तरह सड़कों पर घूमते दिखाई दें रहे है। ऐसे में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस की सख्ती भी नाकाम दिखाई दें रही है।

दुकान बंद कराने गए चौकी इंचार्ज पर हमला, जान बचाकर भागे

लॉकडाउन में प्रशासन के नियमों को ताक पर रखकर कुछ लोग गली-मोहल्लों व कॉलोनियों में पूरा दिन दुकान खोले रखते है। जिन पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है। ऐसे ही रोहटा रोड स्थित वर्निका कॉलोनी में भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए दुकान खोली जा रही थी।

स्थानीय चौकी इंचार्ज को जब इस बारे में पता चला तो वह दुकान बंद कराने पहुंच गए। लेकिन दुकानदार समेत आसपास के लोगों ने वहां हंगामा कर दिया। मामला बढ़ते देख चौकी इंचार्ज वहां से बिना किसी कार्रवाई के ही वापस लौट गए।

जानकारी के मुताबिक रोहटा रोड स्थित वर्निका कॉलोनी में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए पूरा दिन किराना की दुकान खोली जा रही है। दुकान पर दिनभर ग्राहकों का भी आना-जाना लगा रहता है। शोभापुर चौकी इंचार्ज नरेश कुमार को जब इस संबंध पता चला तो वह दुकान को बंद कराने पहुंच गए, लेकिन पुलिस की गाड़ी को देख दुकानदार समेत आसपास के लोग वहां जमा हो गए और हंगामा शुरू कर दिया।

कॉलोनी के लोगों ने कहा कि यहां केवल एक दुकान है, अगर यह भी बंद हो जाएगी तो कॉलोनी के लोगों का सामान खरीदने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ेगा। वहीं कॉलोनी के लोगों ने भरोसा दिलाया कि दुकान पर किसी भी टाइम भीड़ नहीं होती है और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा पालन किया जाता है। लेकिन जब चौकी इंचार्ज ने लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का हवाला दिया तो कॉलोनी के लोग आक्रोशित हो गए और हंगामा शुरू कर दिया। जिसके बाद मामला बढ़ता देख चौकी इंचार्ज को बिना किसी कार्रवाई के ही वापस लौटना पड़ा।

हेड कांस्टेबल की युवक ने डंडे से की पिटाई

नेशनल हाइवे स्थित योगीपुरम पुलिस चौकी पर तैनात हेड कांस्टेबल की एक युवक द्वारा डंडे से पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें युवक हेड कांस्टेबल की ताबड़तोड़ डंडे से पिटाई करता हुआ दिखाई दे रहा है। दूसरी वीडियो में योगीपुरम पुलिस चौकी पर हेड कांस्टेबल एक अन्य युवक का गिरेबान पकड़कर खींचतान करते हुए दिखाई दे रहा है। जांच में बताया गया कि युवक विक्षिप्त था जो गांजे की पुड़िया लेने के लिए आया था और मौके से फरार हो गया था।

नेशनल हाईवे स्थित योगीपुरम पुलिस चौकी पर तैनात हेड कांस्टेबल सुभाष की दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। एक वीडियो फाजलपुर की बताई गई है। जिसमें नीली टीशर्ट पहने एक युवक ने हेड कांस्टेबल सुभाष पर डंडे से ताबड़तोड़ हमले किए और जमकर पिटाई की। दूसरी वीडियो योगीपुरम पुलिस चौकी की है।

जिसमें एक युवक को हेड कांस्टेबल सुभाष गिरेबान पकड़ कर खींच रहा है। वह युवक लगातार अपने आप को छुड़ाने का प्रयास कर रहा है, लेकिन हेड कांस्टेबल लगातार उसके साथ खींचतान करता हुआ दिखाई दे रहा है। इस संबंध में इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि जो युवक हेड कांस्टेबल हमला कर रहा है। वह मानसिक विक्षिप्त था जो पब्लिक पर पत्थर फेंक रहा था।

हेड कांस्टेबल ने उसे पकड़ने का प्रयास किया तो वह धक्का देकर भाग गया। दूसरी वीडियो के बारे में बताया गया कि वह गांजे की पुड़िया खरीदने के लिए जवाहरनगर गया था। जो संदिग्ध होने पर पकड़ा गया, लेकिन कुछ बरामद नहीं हो सका था। जिसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments