Wednesday, January 19, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजाफरवाला बाग की होगी बाउंड्रीवॉल

जाफरवाला बाग की होगी बाउंड्रीवॉल

- Advertisement -
  • कैंट बोर्ड की ओर से मेरठ कोलेज को दी गई स्वीकृति

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जाफरवाला बाग बंगला नंबर-68, 69 पर किसका कब्जा रहेगा इसे लेकर अटकलें दूर हो गई हैं। यहां मेरठ कालेज बाउंड्रीवॉल करायेगा। इसके लिये कैंट बोर्ड की ओर से स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। साथ ही कैंट बोर्ड की ओर से डीईओ को भी पत्र लिखा गया है। जिसे लेकर रक्षा संपदा विभाग की ओर से आज इसका निरीक्षण भी किया जायेगा।

बता दें कि जाफरवाला बाग पर पिछले कई सालों से मेरठ कालेज प्रबंधन का कब्जा चला आ रहा है। यहां मेरठ कालेज का नाम इसके दस्तावेजों में दर्ज है। यह रक्षा संपदा विभाग की जमीन मेरठ कालेज के पास लीज पर थी, लेकिन यहां असामाजिक तत्वों के कारण और यहां हुए अवैध कब्जों को लेकर इसपर विवाद चला आ रहा था, जिसे लेकर रक्षा संपदा अधिकारी ने अभी बीते अगस्त माह में यहां का निरीक्षण कर यहां से अवैध निर्माण करने वालों को हटाने के निर्देश दिये थे और मेरठ कालेज प्रबंधन को भी अपने कार्यालय में बुलाया था।

जिसके बाद मेरठ कालेज के प्रधानाचार्य डा. युद्धवीर सिंह ने डीईओ हरेन्द्र चौधरी से मुलाकात की थी, जिसके बाद उन्होंने प्रधानाचार्य को यहां अतिक्रमण हटाने और अवैध निर्माण करने वालों को चिह्नित करने की बात कही थी। उधर, इस मामले को लेकर मेरठ कालेज प्रबंध समिति के अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज जैन ने भी डीईओ से मुलाकात की और यहां पर बाउंड्रीवॉल बनाये जाने की मांग की थी, जिसके बाद डीईओ ने इस संबंध में कैंट बोर्ड सीईओ से मिलने के लिये कहा था।

इसके बाद कालेज प्रबंधन ने कैंट बोर्ड सीईओ नवेन्द्र नाथ से मिलकर यहां पर बाउंड्रीवॉल बनाये जाने की मांग की थी। अब इस संबंध में कैंट बोर्ड सीईओ की ओर से यहां मेरठ कोलेज को बाउंड्रीवॉल बनाये जाने की स्वीकृति दे दी गई है। मेरठ कालेज के प्रबंध समिति के अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज व सचिव डा. ओम प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि कैंट बोर्ड सीईओ ने बाउंड्रीवॉल बनाने के लिये यहां स्वीकृति प्रदान कर दी है। डीईओ विभाग की ओर से इसका डिमारकेशन किया जायेगा। इसमें रक्षा संपदा अधिकारी हरेन्द्र चौधरी ने एडीईओ सेंकेट को डिमारकेशन के लिये नियुक्त किया है। वह आज यहां का निरीक्षण करेंगे।

मेरठ कालेज को मिली राहत खेल मैदान की योजना

कैंट बोर्ड की ओर से इस मामले में स्वीकृति दिये जाने से मेरठ कालेज को काफी राहत मिली है। मेरठ कालेज प्रबंधन की ओर से यहां रह रहे लोगों को नोटिस पहले ही जारी किये जा चुके हैं। अब मेरठ कालेज की जिम्मेदारी है कि वह यहां कितने समय में यह कार्य कर पाता है। उधर, यहां मेरठ कालेज ने पहले ही खेल मैदान बनाने की मांग की थी। अब मेरठ कालेज अगर ठीक प्रकार से इसका रखरखाव कर पाता है तो यहां खेल गतिविधियां भी शुरू हो सकेंगी, जिससे कालेज प्रबंधन को काफी लाभ पहुंचेगा।

इसके साथ-साथ यहां पर शूटिंग रेंज बनाये जाने की भी योजना कालेज प्रबंधन की ओर से की जा रही है जिसे लेकर प्राचार्य की ओर से मांग भी की गई थी। यहां बाउंड्री वॉल होने के बाद 17 एकड़ की इस जमीन का सही से इस्तेमाल किया जा सकेगा। मेरठ कालेज चाहे तो इसका इस्तेमाल युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिये कर सकेगा। प्रबंध समिति के अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज ने कहा कि यहां अतिक्रमण हटाये जाने के बाद इसका सौंदर्यीकरण किया जायेगा और इसका इस्तेमाल खेल गतिविधियों के लिये किया जायेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments