Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -
Homeसंवादसप्तरंगयशराज फिल्मस की चहेती बनती जा रही हैं मानुषी छिल्लर

यशराज फिल्मस की चहेती बनती जा रही हैं मानुषी छिल्लर

- Advertisement -
0


मिस वर्ल्ड रह चुकी मानुषी छिल्लर, ऐतिहासिक एक्शन ड्रामा ‘पृथ्वीराज‘ के साथ बॉलीवुड में कदम रखने जा रही हैं। इस फिल्म में वे अक्षय कुमार के अपोजिट लीड रोल निभा रही हैं जिसमें वो बेहतरीन क्लासिकल डांस करती नजर आएंगी।

आदित्य चोपड़ा द्वारा यशराज फिल्मस के लिए निर्मित और चंद्रप्रकाश द्विवेदी द्वारा निर्देशित फिल्म ‘पृथ्वीराज’ में अक्षय कुमार पृथ्वीराज चौहान का किरदार निभा रहे हैं जबकि मानुषी उनकी प्रेमिका संयोगिता के किरदार में नजर आएंगी।

मानुषी छिल्लर ने 2017 में ‘मिस वर्ल्ड’ का ताज अपने नाम करने के साथ ही देश को गौरवान्वित किया था। 23 की हो चुकी मानुषी छिल्लर बेहद खूबसूरत हैं और उम्मीद की जा रही है कि ऐश्वर्या राय बच्चन और प्रियंका चोपड़ा की तरह वह भी बॉलीवुड में अपने आगमन के साथ तहलका मचा देंगी। ‘पृथ्वीराज’ में मानुषी के काम से आदित्य चोपड़ा इतने अधिक प्रभावित हुए हैं कि उन्होंने इस फिल्म की रिलीज के पहले ही मानुषी को एक और फिल्म ‘द ग्रेट इंडियन फैमिली’ के लिए अनुबंधित कर लिया है। इसमें वह विक्की कौशल के साथ लीड रोल निभाएंगी।

मानुषी की पहली फिल्म ‘पृथ्वीराज’ जहां ऐतिहासिक किरदारों के इर्द गिर्द बुनी हुई फिल्म है, वहीं उनकी दूसरी फिल्म ‘द ग्रेट इंडियन फैमिली’ एक रोमांटिक कॉमेडी होगी। इस फिल्म की कहानी एक बिखरे हुए परिवार के आसपास घूमती है। यह फिल्म अगले साल रिलीज होगी।

‘द ग्रेट इंडियन फैमिली’ की शूटिंग 2 फरवरी से मध्यप्रदेश के महेश्वर और ओंकारेश्वर में हुई जहां शूटिंग का पहला शैडयूल कंपलीट किया गया। इस शेडयूल में मानुषी और विक्की कौशल के बीच दो रोमांटिक गीतों के अलावा रोमांटिक दृश्यों का फिल्मांकन किया गया।

इस फिल्म का निर्देशन विजयकृष्ण आचार्य कर रहे हैं। मानुषी का कहना है कि उसने अपनी इस डेब्यू फिल्म में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए साल भर तक जमकर मेहनत की है। इसलिए फिल्म के बारे में दर्शकों की प्रतिक्रिया जानने के लिए वह बेहद उत्सुक हैं।

मानुषी छिल्लर को हाल ही में महिलाओं के खिलाफ लिंग आधारित हिंसा के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए ‘आरेंज द वर्ल्ड’ नामक वैश्विक संस्था में शामिल किया गया है। मानुषी का कहना है कि महिलाओं को उनके प्रति होने वाली हिंसा के प्रति खामोश न बैठकर आवाज उठानी चाहिए। इसके लिए उन्हें अपनी सहन शक्ति बढ़ाने के बजाए सशक्तिकरण के लिए कोशिश करनी चाहिए।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments