Monday, July 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरोहटा में बेटे के सामने मां की गोली मारकर हत्या

रोहटा में बेटे के सामने मां की गोली मारकर हत्या

- Advertisement -
  • गोद में नाती और कनपटी में गोली मारी बदमाशों ने
  • विरोध करने पर बेटे को दी धमकी, हमलावर हुए फरार

जनवाणी संवाददाता |

रोहटा: रोहटा गांव में सोमवार की शाम एक सनसनीखेज वारदात में घर के बाहर खड़ी मां की बेटे के सामने तीन बाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हालांकि इस दौरान बेटे ने विरोध किया तो हमलावर हथियार तान कर जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए।

11 20

घटना को लेकर पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस संबंध में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वहीं, सरेशाम हुई घटना को लेकर गांव में दहशत कायम हो गई। अभी घटना के कारण स्पष्ट नहीं हो पाए हैं।

यह सनसनीखेज वारदात सोमवार की शाम पांच बजे के करीब उस वक्त हुई, जब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पीछे गांव निवासी सुखपाल की 50 वर्षीय पत्नी नीलम नाती को गोद में लेकर खड़ी थी। इस दौरान एक बाइक पर सवार होकर तीन हमलावर मुंह लपेटे हुए आए और उन्होंने बाइक रोककर नीलम से युवक ने बातचीत शुरू की। जबकि पीछे बैठे युवक ने हथियार निकाल कर नीलम की कनपटी से सटाकर तमंचे से गोली मारकर उसे वहीं ढेर कर दिया।

09 20

हालांकि घटना होते देख मौके पर मौजूद महिला का बेटा भोलू उर्फ शुभम ने विरोध किया तो हमलावरों ने उसकी और भी हथियार तान दिया और मारने की धमकी देते हुए आराम से बाइक पर फरार हो गए। घटना के बाद लहूलुहान महिला को परिवार वाले बराबर में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस ने परिवार वालों से घटना के बारे में जानकारी ली। महिला के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इंस्पेक्टर उपेंद्र सिंह ने बताया कि घटना के बाद बाइक सवार हमलावर की तलाश में क्षेत्र की नाकेबंदी करके तलाशी अभियान चलाया, लेकिन कोई सफलता नहीं मिल पाई। वहीं सरेशाम हुई घटना को लेकर मृतक के परिवार वाले दहशत में है।

08 20

वहीं, दूसरी सीओ सरधना आरपी शाही ने बताया कि मृतका के पति सुखपाल की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हो गई है। जबकि हत्या के कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाए हैं। बाद में मौके पर पहुंचकर एसपी देहात केशव कुमार ने भी घटना की जानकारी ली और खुलासे के लिए पुलिस को निर्देश दिए।

जेठ के दो बेटों को हो चुकी है उम्रकैद

नीलम के जेठ धर्मपाल के दो बेटों धर्मेंद्र और जितेंद्र ने वर्ष 2007-08 में गांव के ही मोंटू की हत्या कर दी थी। जिसमें उसी समय दोनों जेल चले गए थे और अदालत ने दोनों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई हुई है। जिसके बाद से तभी से दोनों जेल में बंद है।

10 20

पुलिस इस मामले को भी हत्या से जोड़कर देख रही है। हालांकि अभी पुलिस ने इसको स्पष्ट नहीं किया कि इसका हत्या से कुछ लेना देना है या नहीं, लेकिन पुलिस इसे शामिल करके जांच-पड़ताल को आगे बढ़ा रही है।

हत्या का चश्मदीद है बेटा

हत्यारोपियों ने सुखपाल की पत्नी नीलम पर हमलावरों ने सटाकर गोली मारने चाही तो मौजूद बेटे भोलू उर्फ कपिल ने कहा कि मां के साथ क्या कर रहे हो तो हमलावरों ने उसकी और हथियार तानते हुए बोले तू दूर ही चुप खड़ा रह, वरना तेरा भी यही अंजाम होगा और यह कहते हुए नीलम के कनपटी से सटाकर गोली मारकर उसे वहीं ढेर कर दिया। जबकि बेटा यह सब देखता हुआ अवाक रह गया और मां को बचा नहीं पाया। तभी से वो गहरे सदमे में भी है।

गोद में मासूम और हत्या

नीलम की गोद में ज्योति की बेटी भी मौजूद थी। मासूम की आंखों में अज्ञात हमलावरों की तस्वीर उतर गई, लेकिन वो उन्हें पहचान नहीं सकती है। हालांकि हमलावरों ने सीधे नीलम की कनपटी से सटाकर गोली मारी और नीलम की गोद में मासूम को खरोंच तक नहीं आई। इसे लेकर मासूम के सामने ही हमलावरों ने खून की होली खेली, लेकिन मासूम को कुछ पता नहीं। मासूम फायरिंग की आवाज होने के बाद नीचे गिरी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments