Tuesday, June 15, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurटीकाकरण: 45 वर्ष से अधिक आयु वालों का आनलाइन पंजीकरण अनिवार्य

टीकाकरण: 45 वर्ष से अधिक आयु वालों का आनलाइन पंजीकरण अनिवार्य

- Advertisement -
0
  • खांसी जुकाम हो तो हल्के में कतई न लें
  • मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने लोगों को किया सावधान

वरिष्ठ संवाददाता |

सहारनपुर: 45 वर्ष से ऊपर के समस्त नागरिकों का प्रथम डोज का टीकाकरण आनलाइन पंजीकरण कराने के पश्चात ही किया जायेगा। वॉक इन के माध्यम से आन द स्पॉट पंजीकरण की व्यवस्था प्रथम डोज के लिये 10 मई से अग्रिम आदेशों तक के लिये स्थगित कर दी गयी है। द्वितीय डोज के टीकाकरण का कार्य पूर्व की भांति ही किया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीएस सोढ़ी ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने जनपद के 45 वर्ष एवं उससे अधिक उम्र के नागरिकों से अपील की है कि वह कोविड टीकाकरण की प्रथम डोज हेतु कोविन पोर्टल अथवा आरोग्य सेतु एप के माध्यम से अपना आनलाइन पंजीकरण कराने के उपरान्त ही टीकाकरण स्थल पर जाएं।

डॉ. सोढ़ी ने कहा कि टीके की उपलब्धता के अनुरूप जनपद के जिला चिकित्सालय, राजकीय मेडिकल कॉलेज सरसावा एवं सामुदायिक अथवा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सोमवार से शनिवार तक प्रतिदिन प्रात: 09 बजे से सांय 05 बजे तक नि:शुल्क टीकाकरण किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि 18 वर्ष से 44 वर्ष की आयुवर्ग के नागरिकों का टीकाकरण सोमवार से आरंभ हो चुका है। सीएमओ ने कोरोना के नए व पुराने लक्षणों को बताते हुए कहा कि यदि किसी व्यक्ति को बुखार, खासी, सांस फूलने, सिरदर्द, बदन दर्द, दस्त, कमजोरी, जैसे लक्षणों का दिखना शुरू हो गया है तो उसको सचेत होने की जरूरत है। इसे लेकर बिल्कुल घबराएं नहीं बल्कि सही समय पर सही इलाज कराएं।

इस बार संक्रमण सीधे फेफड़ों तक पहुंच जा रहा है। लोगों को जब तक यह पता चलता है कि वह कोविड-19 पाजिटिव हो गए हैं, तब तक काफी देर हो चुकी होती है। इस बार फेफड़ों को प्रभावित करने के बाद कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। कुछ उपचाराधीनों की दो से तीन दिन में ही तबीयत बिगड़ जा रही है। कोरोना की चपेट में आते ही उन्हें सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इस बार एक और बात सामने आई है कि गंभीर उपचाराधीनों का आक्सीजन सैचुरेशन लेवल चिकित्सकीय मानक 94 फीसद से बहुत जल्दी कम हो जा रहा है। उन्होंने बताया शरीर में इन लक्षणों का दिखना शुरू हो गया है तो सचेत होने जरूरत है, चिकित्सकीय सलाह आवश्यक है। घबराएं नहीं बल्कि सही समय पर सही इलाज कराएं।

कोरोना के नए व पुराने लक्षण

सिर में लगातार दर्द होना। यह सामान्य सिरदर्द ही है लेकिन यह लंबे समय तक होता रहता है। दवा खाने के बाद भी ज्यादा आराम नहीं मिले तो सतर्क होने व जरूरत है। कोरोना के नए स्ट्रेन का लक्षण आंख लाल होने के साथ कई लोगों में आंखों में सूजन भी हो सकती है। बदन में दर्द होने के साथ जोड़ों में दर्द होता है। सांस फूलना, सांस लेने में तकलीफ होना। स्वाद एवं खुशबू का न पता चलना।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments