Sunday, July 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसंसदीय समिति ने देखा शहीद स्मारक, औघड़नाथ मंदिर

संसदीय समिति ने देखा शहीद स्मारक, औघड़नाथ मंदिर

- Advertisement -
  • गॉडविन होटल में समिति ने पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों की ली बैठक

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: अंग्रेजों के खिलाफ हुई 1857 की क्रांति की शुरुआत करने वाली क्रांतिधरा मेरठ की सरजमीं पर स्थित ऐतिहासिक और धार्मिक स्थल का दौरा करने आई लोकसभा की सरकारी आश्वासनों संबंधी समिति ने जहां औघड़नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की, वहीं भगवान शिव का जलाभिषेक भी किया। समिति के सदस्यों ने शहीद स्मारक को देखा और शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित की। इसके बाद समिति ने होटल गॉडविन में पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर तमाम बिंदुओं पर चर्चा की।

लोकसभा की सरकारी आश्वासनों संबंधी समिति के अध्यक्ष सांसद राजेन्द्र अग्रवाल के नेतृत्व में पहले 11 सदस्यीय समिति को आना था, लेकिन अपरिहार्य कारणों से बुधवार को सिर्फ चार सदस्य सांसद रमेश चंद्र कौशिक, निहाल चंद चौहान और सांसद कौशलेन्द्र कुमार आए। समिति सबसे पहले होटल गॉडविन पहुंची, जहां समिति के चेयरमैन सांसद राजेन्द्र अग्रवाल समेत सभी सदस्य मौजूद रहे।

01 4

समिति शाम के वक्त औघड़नाथ मंदिर गई। मंदिर में औघड़नाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष समिति के अध्यक्ष सतीश कुमार सिंहल एवं महामंत्री राजेंद्र कुमार गुप्ता, उपाध्यक्ष ब्रजभूषण गुप्ता, ज्ञानेन्द्र अग्रवाल, संजय बंसल व सदस्यों द्वारा बेहद गर्मजोशी से संसदीय समिति के सदस्यों का पटका पहनाकर और स्मृति चिह्न देकर अभिनंदन किया। समिति के सदस्यों ने सबसे पहले भगवान शिव की पूजा-अर्चना कर जलाभिषेक किया। समिति के सदस्यों ने मंदिर के इतिहास को लेकर जानकारी हासिल की।

सदस्यों को जब पता लगा कि 1857 की क्रांति की शुरुआत इसी मंदिर से जुड़ी है तो उनके चेहरे खिल गए। समिति ने मंदिर लगे उस शिलापट को बारीकी से देखा, जिसमें अंग्रेजों के खिलाफ बगावत करने वालों के नाम दर्ज हैं। इसके बाद समिति के सदस्यों ने राधा कृष्ण मंदिर में जाकर पूजा की और प्रसाद ग्रहण किया। सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने भी इस मंदिर की ऐतिहासिकता के बारे में व्यापक जानकारी दी।

समिति के सदस्य इसके बाद शहीद स्मारक गए। परिसर में गगनचुंबी स्मारक को देखकर समिति के सदस्य हतप्रभ रह गए। शहीद स्माकर के केयरटेकर हरिओम ने स्मारक के बारे में जानकारी दी। समिति के सदस्यों ने अपना अधिकांश समय संग्रहालय को देखने में लगाया। अंग्रेजों के खिलाफ वेस्ट यूपी के अलावा आगरा, झांसी और कानपुर में हुई जंग और शहीदों की गाथाओं के बारे में जानकारी दी गई। सदस्यों ने शहीद स्मारक परिसर और पुरातात्विक सामग्रियों को देखकर खुशी जाहिर की।

02 3

सांसद राजेन्द्र अग्रवाल के अलावा बाकी तीन सांसदों ने क्रांतिधरा के ऐतिहासिक महत्व को लेकर आपस में चर्चा भी की। बाद में समिति ने होटल गॉडविन के सभागार में पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों के साथ गोपनीय बैठक की। माना जा रहा है कि समिति ने क्रांति स्थलों के अलावा हस्तिनापुर, सरधना आदि के पुरातात्विक स्थलों के बारे में भी चर्चा की। समिति के मेरठ आने पर डीएम दीपक मीणा और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने समिति से मुलाकात की।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments