Monday, January 17, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखेल विवि के आधारशिला से खिलाड़ियों के खिले चेहरे

खेल विवि के आधारशिला से खिलाड़ियों के खिले चेहरे

- Advertisement -

‘जनवाणी‘ ने यादगार पल के गवाह बने खिलाड़ियों से की बातचीत, जताया पीएम मोदी का आभार

जनवाणी संवाददाता  |

मेरठ: खेलो इंडिया खेलो के नारे को सफल बनाने के लिए पीएम मोदी ने सरधना के सलावा क्षेत्र में प्रदेश की पहली खेल यूनिवर्सिटी का रविवार को शिलान्यास किया। जिसके बाद खिलाड़ियों के चेहरे खिल उठे हैं। इस यादगार पल के गवाह बने खिलाड़ियों ने पीएम का आभार जताते हुए अपने मन की बात साझा की।

उभरते हुए खिलाड़ियों की यह सोच पीएम मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सामने आई है। यह बात सही है कि मेरठ में प्रदेश की पहली खेल यूनिवर्सिटी से न केवल पश्चिमी उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश में इसका असर नजर आएगा। यहां पर एक हजार से अधिक खिलाड़ी हर साल तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है।

जिनमें 540 महिला व इतने ही पुरुष खिलाड़ी शामिल होंगे। यह खिलाड़ी जब आधुनिक खेल विश्वविद्यालय से बाहर आएंगे तो ठीक उसी तरह होंगे। जैसे आग में तपकर सोना बाहर निकलता है और अपनी चमक से सभी को चकाचौंध कर देता है। सलावा में खेल विश्वविद्यालय की नींव रखने के दौरान कार्यक्रम में शामिल रहे खिलाड़ियों ने की जुबानी-

खेड़ा निवासी राहुल सोम जेबलिन थ्रोअर ने कहा कि पीएम मोदी ने जो काम किया है। वह पहले किसी ने नहीं किया। सरधना गांव के सलावा में खेल विश्वविद्यालय बनने के बाद न केवल मेरठ के खिलाड़ियों को फायदा होगा, बल्कि आसपास के जिलों के खिलाड़ी भी इसका लाभ उठाएंगे। पहले उनके लिए न अच्छा मैदान था न ही अन्य आधुनिक सुविधाएं, लेकिन अब यह सब यही पर ही मिलेगा। कहीं बाहर जाने की जरूर भी नहीं है।

सरधना क्षेत्र के खेड़ा गांव निवासी माधव पंवार जेबलिन थ्रोअर ने कहा कि जब पीएम ने रिमोट से खेल विश्वविद्यालय के शिलापट से पर्दा उठाया तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि एक दिन वह पीएम को अपने सामने इस तरह से खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखते हुए अपनी आंखों से देखेगा। यह बात उसके लिए एक यादगार लम्हे की तरह सारी उम्र दिल में बसी रहेगी।

सरधना के कुशावली गांव निवासी कुनाल सोम 100 मीटर दौड़ एथलीट मानता है कि पीएम की बाते सुनकर बहुत अच्छा लगा, जिस तरह से उन्होंने देश के खिलाड़ियों को हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया है। वह काबिले तारीफ है। अब मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनने के बाद उसे अपना फौज में जाने का सपना पूरा करने का मौका मिलेगा। वह खेल कोटे से फौज में जाना चाहता है, लेकिन कोई जरिया सामने नहीं था। अब शायद सपना पूरा हो जाएगा।

200 मीटर की दौड़ में अपना भविष्य उज्जवल बनाने का सपना देखने वाले खिलाड़ी शाहरुख मलिक का कहना है, जो सौगात पीएम मोदी ने खिलाड़ियों को दी है। वह हमेशा याद रहेगी। गांव व आसपास के क्षेत्रों का भी इससे विकास होगा, लोगों को रोजगार भी मिलेगा। नई पीढ़ी के बच्चों में खेलों के प्रति रूझान बढ़ेगा, पीएम ने कार्यक्रम में जब अपना संबोधन शुरू किया तो ऐसा प्रतीत हुआ मानों मन की सारी मुराद पूरी हो गई।

 

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments