Friday, July 30, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarसुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बैरागी कैम्प में संतों का अवैध निर्माण...

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बैरागी कैम्प में संतों का अवैध निर्माण ध्वस्त 

- Advertisement -
  • निर्मोही अखाड़े के संतों ने की अधिकारियों और पत्रकारों से धक्का मुक्की
  • महाकुंभ के दौरान संतो ने अपर जिला अधिकारी हरवीर सिंह के साथ भी मारपीट की थी

जनवाणी ब्यूरो |

हरिद्वार: सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हरिद्वार के बैरागी कैम्प में किये गए अवैध निर्माण को प्रशासन की टीम ने ध्वस्त कर दिया। कार्रवाई करने पहुँची प्रशासन की टीम को साधु संत के विरोध का सामना भी करना पड़ा। कुम्भ मेले के दौरान हरिद्वार के बैरागी कैम्प में निर्मोही, दिगम्बर और निर्वाणी तीनो बैरागी अखाड़ों के साधु संतों ने पक्के अवैध निर्माण खड़े कर लिए थे जिस पर शनिवार को प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की।

इस दौरान मौके पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी और प्रशासन ने साधु संतों की एक न सुनी और अवैध निर्माण पर जमकर जेसीबी बरसाई। कार्रवाई के दौरान साधु संत उग्र हो गए और संतों और भक्तों ने अधिकारीयों और पत्रकारों से अभद्रता करते हए धक्का मुक्की की। इतना नहीं एक संत ने तो एसडीएम गोपाल सिंह चौहान की गाड़ी पर पथर से भी हमला कर दिया लेकिन गाड़ी की स्पीड तेज होने की वजह से एसडीएम बच गए।

इससे पूर्व भी महाकुंभ के दौरान संतो ने अपर जिला अधिकारी हरवीर सिंह के साथ भी मारपीट की थी। डिप्टी कलेक्टर अंशुल सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अवैध निर्माण की कार्रवाई की गई है, बैरागी कैम्प में अभी और भी कई अवैध निर्माण है, साधु संतों के साथ सामंजस्य बनाकर आगे भी इस तरह की कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई के दौरान साधु संत उग्र हो गए और ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गई कि अधिकारियों को बीच में कार कई बार कार्रवाई रोकनी पड़ी।

इस दौरान निर्मोही अखाड़े के अध्यक्ष ने प्रशासन की इस कार्रवाई को गलत ठहराया और हरिद्वार में कई जगह अवैध निर्माण पर कार्रवाई न होने पर सवाल भी खड़े किए। वही डिप्टी कलेक्टर अंशुल सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अवैध निर्माण की कार्रवाई की गई है, बैरागी कैम्प में अभी और भी कई अवैध निर्माण है, साधु संतों के साथ सामंजस्य बनाकर आगे भी इस तरह की कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान हरिद्वार, ज्वालापुर और रानीपुर कोतवाली और थाना प्रभारी अमरजीत सिंह, कुंदन सिंह राणा और कमल कुमार लुठि भी प्रभारी भारी पुलिस बल के साथ तैनात रहे।

पत्रकारों के साथ संतों और भक्तों ने की मारपीट करने कोशिश

इस दौरान मीडियाकर्मियों के साथ में निर्मोही अखाड़े के संतों और भक्तों ने अभद्रता की इतना ही नहीं पत्रकारों के साथ मारपीट करने की भी कोशिश की गई। जिसके बाद मीडिया कर्मी ने एकजुट होकर संतों का सामना किया।

सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह की रही अहम भूमिका

हरिद्वार में अतिक्रमण हटाने के दौरान अधिकारियों और संतों में कई बार नोंक झोंक व मारपीट की स्थिति उत्पन्न हो गई। जिसको अभय प्रताप सिंह सीओ सिटी ने कई बार मामला शांत कराया। साथ ही मीडिया कर्मियों के साथ अभद्रता कर रहे संतो पर भी अभय प्रताप सिंह ने कड़ी चेतावनी देते हुए वहां से हटाया।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments