Wednesday, May 12, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकोविड को लेकर सभी वार्डों में किया जा रहा सैनिटाइजेशन

कोविड को लेकर सभी वार्डों में किया जा रहा सैनिटाइजेशन

- Advertisement -
0
  • क्षेत्र में की सफाई पर भी दिया जा रहा ध्यान
  • मोबाइल पर शिकायत आते ही कार्य कर रहे कर्मचारी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना को लेकर कैंट बोर्ड की ओर से सभी वार्डों में प्रतिदिन सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। यह अभियान मंगलवार को भी जारी रहा। मंगलवार को सभी आठों वार्डों में सैनिटाइजेशन कराया गया। इसके अलावा क्षेत्र की सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया गया। बाजार बंदी को देखते हुए सभी बाजारों में विशेष रूप से अभियान चलाकर सैनिटाइजेशन कराया गया।

कोरोना केस की संख्या बढ़ने के बाद से प्रशासन हरकत में आया है। कैंट बोर्ड में भी केस निकलने के बाद से वह किसी प्रकार की लापरवाही बरतने के मूंड में नहीं है। पिछले कई दिनों से क्षेत्र में सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है। मंगलवार को भी यह अभियान जारी रहा।

सफाई अधीक्षक वीके त्यागी ने बताया कि कैंट बोर्ड के आठों वार्डों में प्रतिदिन सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। वार्डों के सभी गलियों घरों में यह कार्य कराया जा रहा है। कैंट बोर्ड प्रशासन क्षेत्र में किसी प्रकार की लापरवाही बरतने को तैयार नहीं है। इसके लिये 10 से अधिक टीमें बनाई गई हैं जो कि कैंट बोर्ड के आठों वार्डों में कार्य कर रही हैं। किसी भी वार्ड में लापरवाही नहीं बरती जाएगी। सभी जगहों की सफाई आदि पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

बंदी में बाजारों का रखा गया ध्यान

बाजार बंद होने के बाद से क्षेत्र के सभी बाजार आबूलेन, बेगमपुल, सदर, दालमंडी समेत तमाम बाजारों में मंगलवार को सैनिटाइजेशन कराया गया। प्रत्येक दुकान के बाहर सैनिटाइजेशन कराया गया। बाजार बंद होने के बाद से यह कार्य काफी आसानी के साथ पूरा हो गया।

अधिकारियों ने घर से कार्य किया शुरू

कोरोना के कारण चारों ओर त्राहि-त्राहि मची है। यहां बाजार के साथ-साथ अब विभगों ने भी कार्यालय बंद करने शुरू कर दिये हैं। अधिकांश विभागों के अधिकारी कार्यालय न जाकर घर से ही अपना कार्य करना पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा अधिकारियों के द्वारा लोगों को कोविड नियमों का इस्तेमाल करने के लिये जागरूक भी किया जा रहा है।

कोरोना के केस मेरठ में दिन-पर-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इस असर कैंट बोर्ड, आवास विकास, निर्वाचन कार्यालय, कलक्ट्रेट, तहसील आदि में देखने को मिल रहा है। आवास विकास परिषद कार्यालय में भी एक कर्मचारी सौरभ कोरोना पॉजिटिव निकला था, जिसके बाद लोगों ने यहां एतियात बरतना शुरू कर दिया। अधिकारी जरूरत पड़ने पर ही कार्यालय जा रहे हैं और लोगों को कोविड नियमों को प्रति जागरूक कर रहे हैं।

कैंट बोर्ड कार्यालय की बात करें तो यहां 10 से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव निकले जिनमें से एक की मौत भी हो गई। उसके बाद यहां कार्यालय बंद भी कर दिया और लोगों को आॅनलाइन कार्य कराने के लिये कहा गया। इसके अलावा यहां भी अधिकारी जरूरत पड़ने पर ही कार्यालय जा रहे हैं। उसके अलावा घर से ही कार्य किया जा रहा है। कलक्ट्रेट और चुनाव कार्यालय में भी कई पॉजिटिव केस सामने आये।

तहसील में निकले 12 पॉजिटिव

तहसील में दो दिन पूर्व सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की कोरोना जांच हुई। यहां 12 से अधिक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाये गये। जिसके बाद से यहां हड़कंप मच गया। इसके बाद कर्मचारियों के साथ-साथ अधिकारी भी यहां डरे हुए हैं। वह बिना कारण आॅफिस आना पसंद नहीं कर रहे हैं। घर पर रहकर ही कार्य करना पसंद कर रहे हैं। सोमवार और मंगलवार को भी यहां कुछ ऐसा ही हाल रहा। दिनभर कोरोना केसेज को लेकर लोग यहां कार्य कराने आने से डरते रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments