Saturday, June 19, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliअसहयोग पर आंगनवाड़ियों पर हो कठोर कार्रवाई: डीएम

असहयोग पर आंगनवाड़ियों पर हो कठोर कार्रवाई: डीएम

- Advertisement -
0
  • डीएम ने निगरानी समिति के साथ कलक्ट्रेट में की बैठक

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: जिलाधिकारी जसजीत कौर ने वैश्विक महामारी कोरोना की चेन तोड़ने के लिए निगरानी समिति एवं स्वच्छता के मद्देनजर किए जा रहे कार्यों को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया।

सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में डीएम जसजीत कौर ने समीक्षा करते हुए कोविड-19 को लेकर संवेदनशीलता के साथ कार्य करने के कठोर निर्देश दिए। निगरानी समिति के माध्यम से ग्राम वार डोर टू डोर सर्वे कराकर लक्षण युक्त सभी लोगों को मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए और उनकी टेस्टिंग कराई जाए जिससे कोरोना की चैन पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।

यदि कोई ग्रामीण किट नहीं लोता तो उसे किट के फायदों के बारे में समझाया जाए। साथ ही कोरोना के प्रति जागरुकता को मंदिर मस्जिद से लाउडस्पीकर से आडियो संदेश से प्रचार कराया जाए। गांव के अंदर सैनिटाइजेशन साफ-सफाई प्रभावी रूप से हो और गांव के अंदर जितने भी नालियां हो उनके किनारे ब्लीचिंग पाउडर डाला जाए। इस कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देशित किया कि जिन आंगनवाड़ी कार्यकत्री द्वारा निगरानी समिति के साथ अपेक्षित सहयोग प्रदान नहीं किया जा रहा है, उन पर कार्रवाई की जाए। वहीं डीपीआरओ को निर्देशित किया कि जो भी नए प्रधान बने हैं और जिनकी उम्र 45 वर्ष से ऊपर है वह अपना वैक्सीनेशन जरूर कराएं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शंभू नाथ तिवारी, समस्त एसडीएम, जिला विकास अधिकारी प्रमोद कुमार, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, जिला पंचायत राज अधिकारी आलोक शर्मा सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

आंगनवाड़ी केंद्र-विद्यालयों में पेयजल व्यवस्था कराएं

जिलाधिकारी जसजीत कौर की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में ही जल जीवन मिशन के संबंध में बैठक हुई। डीएम ने जल जीवन मिशन के तहत किए जाने वाले कार्यों की समीक्षा कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। डीएम जसजीत कौर ने विद्यालयों के बाहर 46 आंगनवाड़ी केंद्रों पर पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया गया।

साथ ही विद्यालयों में भी पेयजल की वयवस्था दुरूस्त करने के निर्देश दिए। 225 ग्रामों में पेयजल योजना बननी है जिसके लिए डीएम ने संबंधित एसडीएम एवं बीडीओ को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत जो भी कार्य किए जाने हैं उसको त्वरित गति देते हुए समय से पूरा किया जाए। किसी भी प्रकार की शीथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

साथ ही प्रधानों की शपथ जो 25 व 26 को होगी और प्रथम बैठक जो 27 मई को होगी उसके सम्बंध में आवश्यक व्यवस्थाए सुनिश्चित करने एवं दैनिक भरण पोषण करने वाले का चिह्नीकरण 27 मई तक पूर्ण करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments