Monday, June 14, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliसूर्यदेव का चढ़ा पारा, 41 डिग्री सैल्सियस पहुंचा तापमान

सूर्यदेव का चढ़ा पारा, 41 डिग्री सैल्सियस पहुंचा तापमान

- Advertisement -
0
  • झुलसा देने वाली गर्मी से जनमानस के साथ पशु भी व्याकुल
  • बिजली की अघोषित कटौती से नागरिकों को जीना मुहाल

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: बुधवार को सूर्यदेव का पारा चढ़ा तो तापमान 41 डिग्री सैल्सियस पहुंच गया मानो आसामान से मानों आग बरसने लगी। झुलसा देने वाली कड़ी धूप से जन मानस के साथ पशु पक्षी भी व्याकुल हो उठे और पानी की तलाश में इधर, उधर भटकने लगे। तेज धूप के साथ लू के थपेडों से लोगों का जीना मुहाल हो गया। भीषण गर्मी में बिजली की अघौषित कटौती ने लोगों को बेहाल कर दिया।

जून माह के प्रथम पखवाड़े में गर्मी अपने चरम पर पहुंच चुकी है। पिछले दो दिनों सें गर्मी प्रचंड होती जा रही है। बुधवार सवेरे जैसे ही दिन निकला तो आसमान में बादल छाए हुए थे और हवाएं भी चल रही थी, लेकिन जैसे ही बादल हटे तो तेज धूप निकल आई। चंद घंटों में ही आसमान से झुलसा देने वाली धूप आग की मानिंद बरसने लगी। जिसके तापमान 41 डिग्री सैल्सियस तक पहुंच गया।

तेज धूप के कारण सडकों पर सन्नाटा पसर गया। कई बाजारों में तो लोग इक्का दुक्का ही देखने को मिले। गर्मी से राहत पाने के लिए लोगों ने कई जतन किए, जिसमें ठंडा पानी पीना, जूस पीना, नहाना, सिर ढक कर चलने आदि जतन किए लेकिन किसी को कोई फायदा नही हो सका। भीषण गर्मी में शहर में अघोषित विद्युत कटौती से नागरिकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

ऊन: कोल्हू में लगी आग, गुड, शक्कर और छप्पर जलकर राख

प्रचंड गर्मी के चलते भंभेडी शाहपुर में कोल्हू में आग लग गई आग के कारण कोल्हू मालिक को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। गत 4 दिनों से गर्मी अपने चरम पर है जिससे आगजनी की घटनाएं भी होने लगी है। गांव भंभेडी शाहपुर निवासी पवन पुत्र रामकुमार के कोल्हू में अचानक आग लग गई।

जिससे कोल्हू में बना छप्पर, खोई, 10 कुंतल गुड, 15 कुंतल शक्कर व 15 कुंतल चीनी जलकर खाक हो गई। ग्रामीणों ने मशक्कत कर आग पर काबू पाया लेकिन तब तक भारी नुकसान हो चुका था। कोल्हू मालिक पवन ने बताया कि करीब एक लाख रुपए का नुकसान हो गया है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments