Monday, October 3, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliविद्युत करंट से दो चचेरे भाइयों समेत तीन मासूमों की मौत

विद्युत करंट से दो चचेरे भाइयों समेत तीन मासूमों की मौत

- Advertisement -
  • पंखे में करंट से चचेरे भाइयों व कूलर के कंरट से मासूम की मौत
  • मासूम बच्चों की मौत से परिजनों में मचा कोहराम

जनवाणी संवाददाता |

बाबरी/शामली: पंखे और कूलर में करंट से दो चचेरे भाइयों समेत तीन मासूम बच्चों की मौत हो गई। चचेरे भाइयों की मौत गांव भंदौड़ा में जबकि तीसरे बच्चे की मौत कस्बा बनत में हुई है। आनन-फानन में बच्चों को अस्पताल भी ले जाया गया था लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। गमगीन माहौल में चचेरे मासूम भाइयों सहित तीन मासूमों में दफना दिया गया।

बाबरी थाना क्षेत्र के गांव भंदौड़ा में मंगलवार की सुबह सुनील और धन्ना के घरों में कोहराम मच गया। सुबह करीब 10 बजे सुनील का छह वर्षीय पुत्र विक्रांत और धन्ना का सात वर्षीय बेटा विनय धन्ना के घर पर खेल रहे थे। मासूम बच्चे विक्रांत और विनय चचेरे भाई थे। खेलने के दौरान गर्मी लगने के चलते बच्चों ने बंद रखे को उठाने का प्रयास करने लगे लेकिन पंखे में करंट दौड़ रहा था और विक्रांत तथा विनय करंट की चपेट में आ गए और वहीं बेहोश हो गए। कुछ देर बाद परिजनों ने कमरे में जाकर देखा तो आनन फानन में पंखे की बिजली सप्लाई के तार हटाकर बच्चों को पहले बाबरी और फिर शामली अस्पताल ले गए लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया और गांव में शोक की लहर दौड़ गई। सूचना पर बाबरी पुलिस भी पहुंची लेकिन परिजनों ने किसी कार्रवाई से इंकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने पंचनामा भरकर दोनों बच्चों के शवों को परिजनों को सौंप दिया। जिसके बाद गमगीन माहौल में मासूमों के शवों को बच्चा श्मशान में दफना दिया गया। मृतक विक्रांत की एक बड़ी बहन गोधो (8) व भाई कार्तिक है। वहीं दूसरे मृतक बच्चे विनय की एक बड़ी बहन संध्या (8), छोटा भाई अभय (4) और छोटी बहन राशि (छह माह) है।

उधर, आदर्श मंडी थाना क्षेत्र के कस्बा बनत के आजाद नगर में शाहनवाज के मकान में मंगलवार की सुबह को कोहराम मच गया। सुबह करीब सात बजे शाहनवाज का दो साल का मासूम बच्चा उमर घर में नंगे पांव ही घूम रहा था। इसी दौरान मासूम उमर ने आंगन में रखा कूलर पकड़ लिया और करंट की चपेट में आ गया। जबकि उस समय कूल बंद था। बच्चे की चीख निकलने पर वहीं मौजूद शाहनवाज ने मासूम को हटाया तो उसे भी करंट लग गया। तभी शाहनवाज ने तार हटाकर बच्चे को हटाया लेकिन तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी। मासूम बच्चे की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। दोपहर बाद दो बजे गमगीन माहौल में मासूम बच्चे के शव को सुपुर्द ए खाक कर दिया गया था।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments