Tuesday, January 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसराफा बाजार में फैला तारों का जंजाल

सराफा बाजार में फैला तारों का जंजाल

- Advertisement -
  • बिजली के तार अभी तक नहीं हुए अंडरग्राउंड
  • सराफा व्यापारियों के लिये बने हैं परेशानी का सबब

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सराफा बाजार की बात करें तो यहां मेरठ में पश्चिमी उत्तर प्रदेश का बहुत बड़ा सराफा बाजार है। अन्य शहरों से भी लोग यहां खरीदारी करने आते हैं, लेकिन यहां मूलभूत सुविधाओं के नाम पर बाजार में कुछ भी नहीं है। यहां विद्युत विभाग की लापरवाही से कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

तारों का जाल पूरे बाजार में बिछा हुआ है, लेकिन अभी तक इसका समाधान नहीं किया गया है। जबकि मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन की ओर से कई बार इस समस्या को उठाया जा चुका है, लेकिन विद्युत विभाग कुछ नहीं कर रहा है।

शहर सराफा बाजार घंटाघर से वैली बाजार पहुंचने के बाद ही शुरू हो जाता है। इसके बाद बाजार में आप अंदर पहुंचेंगे तो यहां नील गली बाजार समेत कई छोटी-छोटी गलियों में बाजार है। यह बाजार दूसरी ओर गुदड़ी बाजार की ओर निकल जाता है। छोटी-छोटी गलियां होने के कारण यहां अक्सर भीड़ लगी रहती है।

बिजली व्यवस्था की बात करें तो यहां बाजार के ऊपर ही तारों का जाल बना हुआ है। पूर्व प्रदेश सरकार के दौरान यहां इन तारों के जाल को अंडरग्राउंड किये जाने की योजना तैयार की गई थी, लेकिन अभी तक कई वर्ष बीतने के बाद भी आज तक इस समस्या को कोई समाधान नहीं हो पाया है। कई बार मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन की इसकी मांग कर चुकी है, लेकिन उनकी मांग को नहीं सुना जा रहा है।

कभी भी हो सकता है हादसा

सराफा बाजार तंग गलियों में है कि कभी भी तारों के जंजाल से कोई हादसा या आगजनी हुई तो फायर ब्रिगेड तक नहीं पहुंच सकती। ऐसे में विभाग को समस्या का समाधान जल्द करना चाहिए, लेकिन उसके बावजूद उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा है। न तो तारों को ही यहां अंडरग्राउंड किया गया है और न ही यहां पर पार्किंग की कोई व्यवस्था है।

सांसद की महत्वाकांक्षी योजना भी नहीं चढ़ी परवान

मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन के महामंत्री विजय आनंद अग्रवाल ने बताया कि वर्ष 2016-17 में सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने इस समस्या को उठाया था और यहां के लिये अंडरग्राउंड तार किये जाने की योजना तैयार की गई थी, लेकिन विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते आज तक यह योजना परवान नहीं चढ़ सकी हे।

एसोसिएशन की ओर से भी कई बार इस मांग को उठाया गया, लेकिन कोई समाधान नहीं निकल सका। अब शायद अधिकारियों को यहां किसी बड़ी अनहोनी का इंतजार है। जिसके बाद शायद हालात सुधरे। उन्होंने विभाग की लापरवाही को लेकर नाराजगी जाहिर की। फिलहाल इस तारों के जाल को व्यवस्थित भी करा दिया जो भी हालात कुछ ठीक हो, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments