Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeCricket Newsआमिर ने क्रिकेट को अलविदा कहा 

आमिर ने क्रिकेट को अलविदा कहा 

- Advertisement -
  • बोर्ड प्रबंधन पर लगाया ‘मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप
 कराची, भाषा: पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला करते हुए आरोप लगाया कि उनका राष्ट्रीय बोर्ड प्रबंधन उन्हें ‘मानसिक रूप से प्रताड़ित’ कर रहा है।
पाकिस्तान की वेबसाइट ‘खेल-शेल’ द्वारा जारी वीडियो साक्षात्कार में 28 साल के इस तेज गेंदबाज ने यह हैरानी भरी घोषणा की। अभी श्रीलंका में मौजूद आमिर ने स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के कारण लगे प्रतिबंध के संदर्भ में कहा कि मैं इस बार क्रिकेट को अलविदा कह रहा हूं क्योंकि मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। मैं अब इस प्रताड़ना का सामना नहीं कर सकता। मैंने 2010 से 2015 तक प्रताड़ना का सामना किया, कारण चाहे कुछ भी रहा हो मैं क्रिकेट से दूर रहा। मैंने सजा का सामना किया और सब कुछ किया। उन्होंने कहा कि लेकिन लगातार हो रही इस चर्चा से मैं प्रताड़ित महसूस कर रहा हूं कि पीसीबी (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) ने मेरे ऊपर निवेश किया। मैं मौजूदा प्रबंधन के अंतर्गत नहीं खेल सकता। सोशल मीडिया पर आमिर का वीडियो वायरल होने के बाद पीसीबी के मुख्य कार्यकारी वसीम खान ने इस तेज गेंदबाज से बात की और संक्षिप्त बयान जारी किया। बयान के अनुसार, 29 साल के इस खिलाड़ी (आमिर) ने पीसीबी के मुख्य कार्यकारी को पुष्टि की है कि उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का कोई इरादा या इच्छा नहीं है और ऐसे में भविष्य के अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए उनके नाम पर विचार नहीं होगा। इसमें कहा गया कि यह मोहम्मद आमिर का निजी फैसला है जिसका पीसीबी सम्मान करता है और इस समय इस मुद्दे पर और कोई बयान नहीं देगा। आमिर ने सीमित ओवरों के क्रिकेट पर ध्यान लगाने के लिए पिछले साल टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था क्योंकि उन्हें लगा कि उनका शरीर सभी प्रारूपों में खेलने के बोझ का सामना नहीं कर सकता। इस तेज गेंदबाज ने 2009 में पदार्पण के बाद 36 टेस्ट में 119 विकेट हासिल किए। स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में उन्हें 2010 से 2015 तक प्रतिबंध का सामना भी करना पड़ा। आमिर ने कहा कि मैं सीमित ओवरों के क्रिकेट में पाकिस्तान के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकता हूं। लेकिन हर महीने या दो महीने में वे मेरी गेंदबाजी के बारे में कुछ कहते हैं या कहते हैं कि मैं धोखा दे रहा हूं, मेरे ऊपर काम का कोई बोझ नहीं है, वगैरह-वगैरह।
What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments