Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatन्याय पंचायत स्तर पर 19 एडीओ को बनाया गया प्रशासक

न्याय पंचायत स्तर पर 19 एडीओ को बनाया गया प्रशासक

- Advertisement -
  • कृषि, सहकारिता, पंचायत, आईएसबी, पीपी विभाग के एडीओ को सौंपी गयी पंचायत की जिम्मेदारी
  • एक एडीओ को सौंपी गयी दो से तीन न्याय पंचायत की जिम्मेदारी, अधूरे कार्यों को कराया जाएगा पूरा
  • प्रधानों से जमा कराए गए बस्ते, कार्यकाल हुआ पूरा, प्रधान नहीं कर पाएंगे कोई भी हस्ताक्षेप

जनवाणी संवाददाता |

बागपत: प्रधानों का कार्यकाल पूरा होने के बाद अब एडीओ को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। एडीओ को न्याय पंचायत स्तर पर जिम्मेदारी दी गयी है। जनपद में छह ब्लॉक पर 46 न्याय पंचायत पर 19 एडीओ को प्रशासक नियुक्त करते हुए उनको अधूरे कार्य पूरा करने व रूका हुआ भुगतान करने के आदेश जारी कर दिए है।

न्याय पंचायत में कृषि, जिला कृषि रक्षा, पंचायत, सहकारिता व आईएसबी विभाग के एडीओ को प्रशासक बनाया गया है। वहीं प्रधानों से भी बस्ते जमा करा लिए गए है और अब प्रधान किसी भी कार्य में कोई भी हस्ताक्षेप नहीं कर पाएंगे। डीएम ने सभी एडीओ को ईमानदारी के साथ कार्य करने के आदेश दिए है, ताकि यहां किसी भी तरह की गडबडी न हो सकें।

25 दिसंबर की रात बारह बजे प्रधानों का कार्यकाल पूरा हो गया है और इससे पहले प्रधानों व पंचायत सचिवों ने बजट को ठिकाने लगाने के लिए पूरा दिन लग रहे। जैसे ही घड़ी में रात के बारह बजे तो उनसे अधिकार छीन लिए गए और उनसे बस्ते मंगवाकर जमा करा लिए गए।

वहीं कुछ प्रधानों के बस्ते जमा नहीं करने पर उनको समय देते हुए जमा कराने के आदेश दिए गए है। अब प्रधानों का कार्यकाल पूरा होने के बाद एडीओ को प्रशासक के रूप में तैनात कर दिए गए है। जनपद में छह ब्लॉक में 46 न्याय पंचायत है और इनमें 19 एडीओ को तैनात किए गए है, जिसमें कृषि, सहकारिता, पंचायत, आईएसबी, पीपी विभाग के एडीओ पंचायत की जिम्मेदारी सौंप दी गयी है।

यह सभी एडीओ पंचायतों में रखे अधूरे कार्यों को पूरा करने व लंबित भुगतान को पूरा कराने की जिम्मेदारी रहेगी। इतना ही नहीं वह पंचायतों के साथ-साथ अपने विभाग का कार्य भी पूरा करेंगे। अब प्रधान अपनी ग्राम पंचायत के एडीओ के कार्य में किसी भी तरह का हस्ताक्षेप नहीं कर पाएंगे, क्योंकि उनको किसी भी तरह का अधिकार नहीं रहा है।

अब सिर्फ एडीओ को ही तय करना है कि यहां किसी नियम के अनुसार कार्य कराना है। डीएम शकुंतला गौतम ने सभी एडीओ की बैठक लेकर उनको कार्य को ईमानदारी के साथ पूरा करने के आदेश दिए है। साथ ही निर्देश दिए कि यदि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही मिली तो जिम्मेदारी तय करते हुए कार्रवाई भी अमल में लायी जाएगी।

इनको सौंपी गयी जिम्मेदारी

बिनौली ब्लॉक की न्याय पंचायत गांगनौली, पुसार, बामनौली में योगेन्द्र मलिक, निरपुडा, मवीकलां, दाहा में रणधौल सिंह, मुसलम, बिजवाडा में संजय कुमार, बिनौली, बरनावा में सतपाल सिंह, छपरौली ब्लॉक की न्याय पंचायत कुर्डी, चांदनहैडी में धीरज कुमार, रठौडा, राजपुर, रमाला में भूपेन्द्र सिंह, बड़ौत ब्लॉक की न्याय पंचायत फतेहपुर चक, कासिमपुर खेडी, कंडेरा, बरवाला में तेजपाल सिंह, सिनौली, लुहारी, बिजरौल में नरेश कुमार, अंगदपुर, बडका व बागपत ब्लॉक की न्याय पंचायत सरूरपुर कलां में कृष्णपाल सिंह, सूजरा, गाधी में नितिन त्यागी, धनौरा सिल्वरनगर, सुल्तानपुर हटाना में राजपाल सिंह, नौरोजपुर गुर्जर, मीतली में रामबीर सिंह, पिलाना ब्लॉक की न्याय पंचायत डौला, हिसावदा में सुधीर चौहान, बुढसैनी, बालैनी में राजपाल सिंह, खट्टा प्रहलादपुर, ढिकौली में सतीश कुमार, पिलाना, मुकारी में सुदेशपाल, खेकड़ा ब्लॉक की न्याय पंचायत काठा, सांकरौद, फिरोजपुर में विक्रम सिंह, बडागांव, रटौल में उपेन्द्र सिंह व ललियाना, फुलैरा में रोहित कुमार एडीओ को जिम्मेदारी सौंपी गयी है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments