Thursday, February 25, 2021
Advertisment Booking
Home Delhi NCR जनवाणी लाइव: एम्स के सफाईकर्मी को लगा देश का पहला कोरोना का...

जनवाणी लाइव: एम्स के सफाईकर्मी को लगा देश का पहला कोरोना का टीका

- Advertisement -
+1

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश में पहले चरण के कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। आज तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 (COVID-19 Vaccine) के टीके की खुराक दी जाएगी। कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब वैक्सीन आ गई है और बहुत कम समय में आ गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, ‘आज मैं बहुत खुश और संतुष्ट हूं। हम पिछले एक साल से पीएम के नेतृत्व में कोविड-19 के खिलाफ लड़ रहे हैं। यह वैक्सीन COVID-19 की लड़ाई में संजीवनी का काम करेगी।’


देशभर में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान का आगाज आज से होगा। सुबह साढ़े 10 बजे पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस महाभियान को शुरू करेंगे। राज्यों ने इसके लिए जोरशोर से तैयारी कर रखी है। देशभर के राज्यों की टीकाकरण की तैयारियों पर एक रिपोर्ट:

भारत में आज दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू होने जा रही है। अब से कुछ ही घंटों बाद पीएम मोदी कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव का शुभारंभ करने वाले हैं। इस टीकाकरण अभियान के लिए सभी जरूरी तैयारियां कर ली गई हैं। सुबह 10:30 के बाद से देश में कोरोना की वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी। इस अभियान के साथ ही पीएम मोदी CoWIN ऐप भी लॉन्च करेंगे।

मुंबई के कूपर अस्पताल में जब कोरोना वैक्सीन पहुंचा तो वहां मौजूद सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने ताली बजाकर स्वागत किया।

आज से शुरू हो रही कोविड वैक्सीनेशन के लिए सेना को कुल 4000 वैक्सीन दी गई हैं। सबसे पहले लद्दाख में तैनात सेना के फ्रंटलाइन वर्कर्स यानि सैन्य-डाक्टर्स और पैरा-मेडिकल स्टाफ को वैक्सीन दी जाएगी। जानकारी के मुताबिक इन 4000 वैक्सीन में से कम से कम 3820 अकेले लद्दाख में तैनात सैनिकों (डॉक्टर्स इत्यादि) के लिए हैं। सूत्रों के मुताबिक वैक्सीनेशन का ये पहला चरण है।

जैसे-जैसे सरकार से वैक्सीन मिलनी शुरू हो जाएगी, दू‌सरी कमांड में तैनात फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण का काम शुरू हो जाएगा। लेह में मिलिट्री हॉस्पिटल के अलावा हार्ट सेंटर (अस्पताल) में भी देशभर की तरह कोरोना वैक्सीन कार्यक्रम की शुरूआत हो जाएगी। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। करीब छह हजार वैक्सीन पहले चरण में इस सेंटर में लगाई जानी है।

यूपी में आज 31,700 लोगों को लगेगा टीका, 28 दिन बाद दूसरी खुराक

प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि यूपी में 10 लाख 55 हजार 500 कोविशील्ड और 20,000 कोवैक्सीन के टीके मिल चुके हैं। प्रदेश के 8 लाख 57 हजार हेल्थ वर्कर्स के नाम सूचीबद्ध किए गए हैं। कोल्ड चेन पूरी तरह तैयार हैं। पहले इसकी क्षमता 80,000 लीटर थी, लेकिन इसे बढ़ाते हुए 2 लाख 3 हज़ार लीटर कर दी गई है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 317 केंद्रों पर यह वैक्सीन लगाई जाएगी। हर केंद्र पर 100-100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके लिए 5-5 सदस्यों की टीम बनाकर स्वाथ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। इसकी दूसरी डोज़ 28 दिन बाद लगाई जाएगी।

क्रांतिधारा मेरठ में भी कोरोना के विरुद्ध वैक्सीनेशन शुरू

वी विन शील्ड को किया लॉन्च

अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि विभाग कोरोना से लड़ने और जीतने के लिए पूरी तरह कमर कस चुका है।‌ विभाग ने वी-विन शील्ड बनाई है। इसे पहन कर ही सभी कर्मी वैक्सीन लगाने का काम करेंगे। अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूपी के कुछ लोगों से बात भी कर सकते हैं। इसके लिए झांसी व वाराणसी में व्यवस्था की गई है। हर केंद्र पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है।

बिहार में सफाईकर्मी को लगेगा पहला टीका

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति में आईजीआईएमएस में सुबह 10.45 बजे टीका लगाने की शुरुआत होगी। राज्य में पहले दिन 30 हजार रजिस्टर्ड लोगों को टीका दिया जाएगा। पहला टीका आईजीआईएमएस के सफाईकर्मी रामबाबू और दूसरा टीका इसी अस्पताल के एंबुलेंस चालक अमित कुमार को दिया जाएगा। टीकाकरण कार्य सबसे निचले स्तर पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और ऊपरी स्तर पर मेडिकल कॉलेज अस्पतालों और एम्स में दिया जाएगा।

टीकाकरण के लिए राज्य में 300 सेंटर बनाए गए हैं, जहां प्रतिदिन 100 निबंधित लोगों का टीकाकरण होगा। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने शुक्रवार को राज्य स्वास्थ्य समिति के सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। राज्य में चार लाख 64 हजार 160 लोगों का टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। बताया कि राज्य में कुल 300 सेंटरों पर टीकाकरण होगा, जिसमें 259 सेंटर सरकारी जबकि 41 निजी सेंटरों पर टीकाकरण होगा।

डीएम ने अपनी निगरानी में कोविड19 टीकाकरण का किया शुभारंभ

केंद्र का कोविन पोर्टल क्रैश

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना टीकाकरण के पहले चरण को सफलतापूर्वक क्रियान्वित करने और शत प्रतिशत लाभार्थियों को टीका दिए जाने के लिए अपने स्तर से एसएमएस भेजने और फोन कर सूचित करने का निर्देश जिलों को दिया। शुक्रवार की देर रात टीकाकरण के लिए बनाए गए केंद्र सरकार के कोविन पोर्टल के क्रैश होने के कारण ये निर्देश दिया गया।

इसी पोर्टल के माध्यम से लाभार्थियों को मैसेज भेजे जाने थे। कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने कहा कि जैसे ही कोविन पोर्टल ठीक हो जाएगा, उससे भी लाभार्थियों के मोबाइल से मैसेज भेजा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग पहले दिन शतप्रतिशत लाभार्थियों को टीका उपलब्ध कराने को लेकर तैयार है।

उत्तराखंड के 33 स्वास्थ्य केंद्रों में होगा आगाज

उत्तराखंड के 33 स्वास्थ्य केंद्रों में शनिवार से कोविड 19 वैक्सीन टीकाकरण शुरू हो जाएगा। बड़े जिलों में चार-चार केंद्रों तो छोटे जिलों में दो से तीन केंद्रों में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। देहरादून, हरिद्वार, यूएसनगर, नैनीताल के स्वास्थ्य केंद्रों में चार चार जगह टीकाकरण होगा। इसके अलावा पहाड़ के दूसरे जिलों में स्वास्थ्य केंद्रों में दो से तीन जगह टीकाकरण होगा।

जिला अस्पताल, मेडिकल कालेज, संयुक्त चिकित्सालय में टीकाकरण की प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। करीब 87 हजार फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा। राज्य को केंद्र से 1.13 लाख वैक्सीन मिली हैं। जो पुलिस, स्वास्थ्य कर्मी, डॉक्टर समेत सभी फ्रंटलाइन वर्कर को लगेंगी। टीकाकरण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं कई स्वास्थ्य केंद्रों में लोगों से ऑनलाइन बात करेंगे। राज्य में भी देहरादून और हल्द्वानी में पीएम मोदी एक दो लाभांवित फ्रंट लाइन वर्कर से बात कर उनके अनुभवों को जानेंगे।

कैप्टन अमरिंदर ने कोविशील्ड वैक्सीन के लिये पीएम मोदी को कहा धन्यवाद

पंजाब-हरियाणा में चौकस इंतजाम

टीकाकरण अभियान के लिए पंजाब में 59 और हरियाणा में 77 स्थान निर्धारित किए गए हैं। पंजाब को कोविड-19 टीके की 2.04 लाख खुराक, जबकि हरियाणा को 2.41 लाख खुराकों की खेप दी गयी है। पंजाब में करीब 1.74 लाख स्वास्थ्यकर्मी हैं। हफ्ते में चार दिन टीके दिए जाएंगे।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि कोविन साइट पर जिन लोगों का नाम होगा, उन्हें ही टीके की खुराक दी जाएगी। हरियाणा में करीब दो लाख स्वास्थ्यकर्मियों को टीके की खुराक दी जाएगी। चंडीगढ़ में चार स्थानों पर टीकाकरण होगा। चंडीगढ़ को टीके की 12,000 खुराकों की खेप मिल गई है।

मध्यप्रदेश में पहला टीका भोपाल में एक सुरक्षा गार्ड को लगेगा

मध्यप्रदेश में शनिवार को पहला टीका एक अस्पताल में तैनात एक सुरक्षा गार्ड को जेपी अस्पताल में लगाया जाएगा, जबकि इंदौर जिले में पहला टीका एक महिला स्वास्थ्य कर्मी को लगाया जाएगा। मध्यप्रदेश के अपर संचालक, टीकाकरण, संतोष शुक्ला ने शुक्रवार को बताया, 16 जनवरी को मध्यप्रदेश में कोविड-19 का पहला टीका भोपाल स्थित जेपी अस्पताल में चतुर्थ श्रेणी के एक कर्मी को लगेगा।

हालांकि, उन्होंने उस कर्मचारी का नाम यह बताने से इनकार कर दिया। इस बीच भोपाल स्थित जेपी अस्पताल के सुरक्षा गार्ड हरिदेव यादव ने यहां मीडिया से कहा, मुझे शनिवार को सबसे पहले कोराना वायरस का टीका जेपी अस्पताल में लगेगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है कि मैं मध्यप्रदेश में यह टीका लगवाने वाला पहला व्यक्ति होने जा रहा हूं। वहीं, मध्यप्रदेश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित इंदौर जिले में इस महामारी से बचाव का पहला टीका लगवाने जा रहीं स्वास्थ्य कर्मी आशा पवार ने कहा कि वह और उनका परिवार इस टीकाकरण को लेकर एकदम निश्चिंत हैं। 55 साल की पवार जिला चिकित्सालय में आया के रूप में पदस्थ हैं।

राजस्थान में पहला टीका मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को लगेगा

राजस्थान में पहला टीका जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी को लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शनिवार को अपने आवास से टीकाकरण कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत करेंगे। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि राज्य में 161 स्थलों के अतिरिक्त जयपुर जिले के छह स्थलों पर भी टीकाकरण होगा। 13 जनवरी तक राजस्थान को टीके की दो कंपनियों से करीब 5 लाख 63 हजार खुराक प्राप्त हुए हैं, जिसमें कोविशील्‍ड के 4,43,000 और कोवैक्सीन की 20,000 खुराक शामिल हैं। कोविन सॉफ्टवेयर में राज्य के छह लाख से अधिक लाभार्थियों का डेटा 14 जनवरी की शाम तक अपलोड किया जा चुका है।

गुजरात: दो अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षक सबसे पहले टीका लगवाएंगे

अहमदाबाद और गांधीनगर में सरकारी अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षक शनिवार को गुजरात में कोरोना वायरस का टीका सबसे पहले लगवाने वाले लोगों में शामिल होंगे। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने पर दिन के दौरान राज्य में 16 हजार से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण अभियान शनिवार की सुबह पूरे राज्य में 161 केन्द्रों पर एक साथ शुरू होगा।

पहले दिन 16 हजार से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा। अहमदाबाद सिविल अस्पताल के अधीक्षक डा. जे वी मोदी (46) और गांधीनगर सिविल अस्पताल की अधीक्षक डा. नियति लखानी (58) सबसे पहले टीका लगवाने वाले लोगों में शामिल होंगे। पहले चरण के लिए गुजरात स्वास्थ्य विभाग ने 4.31 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों की पहचान की है, जिनमें डॉक्टर और नर्स शामिल हैं। टीकाकरण कार्य के लिए लगभग 15,000 कर्मियों को प्रशिक्षित किया है।

गोवा में 700 स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा टीका

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 टीकाकरण अभियान के प्रथम दिन 16 जनवरी को करीब 700 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि टीकाकरण शुरूआत में सात केंद्रों पर होगा, जिनमें दो निजी केंद्र भी शामिल हैं।

सात केंद्रों में से प्रत्येक पर कम से कम 100 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा। वहीं, गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) के डीन डॉ शिवानंद बांडेकर ने बताया कि प्रथम चरण में जीएमसीएच से संबद्ध करीब 5,000 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा।

मिजोरम: 8,000 स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण होगा

मिजोरम में कोविड-19 टीकाकरण के लिए पहले चरण में 18,500 टीकों की पहली खेप गुरुवार को नई दिल्ली से आइजोल पहुंच गयी। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। राज्य के टीकाकरण अधिकारी ललजवमी ने बताया कि टीकाकरण के लिए कुल 14,607 स्वास्थ्य कर्मियों ने पंजीकरण कराया है। पहले चरण में 8,000 स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण होगा।

तेलंगाना में 139 केंद्रों पर चलेगा टीकाकरण कार्यक्रम

तेंलगाना में टीकाकरण कार्यक्रम शनिवार को 139 केंद्रों पर शुरू होगा। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ई राजेंद्र ने कहा कि वह हैदराबाद स्थित गांधी सरकारी अस्पताल में कार्यक्रम में शिरकत करेंगे, जबकि राज्यपाल टी सौंदरराजन सरकारी निज़ाम आयुर्विज्ञान संस्थान (एनआईएम) में कार्यक्रम में भाग लेंगी। टीका लगाने के लिए राज्य में 10,000 कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। राज्य में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के करीब 3,15,000 स्वास्थ्य कर्मियों ने टीका लगवाने के लिए ‘कोविन’ साफ्टवेयर पर पंजीकरण कराया है।

झारखंड के 200 स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा उम्मीद का टीका

झारखंड के 48 केंद्रों पर कोरोना के खिलाफ उम्मीद का टीका दिया जाएगा। रांची के सदर अस्पताल में बनाए गए टीकाकरण केंद्र से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन राज्य में टीकाकरण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। केंद्र में मुख्यमंत्री टीका लेने वालों से बात भी करेंगे।सभी जिलों में शनिवार को पहले दिन दो केंद्रों पर टीके की लांचिंग होगी। इसमें राज्यभर में 4800 लोगों को टीका देने का लक्ष्य है। बाद के दिनों में टीका लेने वालों की संख्या में इजाफा किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ में 97 टीकाकरण केंद्रों से अभियान शुरू होगा

छत्तीसगढ़ में 2.67 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों को टीकाकरण के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉक्टर प्रियंका शुक्ला ने बताया कि राज्य में टीकाकरण की तैयारी पूरी कर ली गई है। 16 जनवरी से 97 टीकाकरण केंद्रों में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। राज्य में सबसे पहले रायपुर स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अस्पताल में महिला स्वच्छताकर्मी 51 साल की तुलसा तांडी को टीका लगाया जाएगा। 1,349 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं।

असम में सबसे पहले 12 बड़े डॉक्टरों को टीका

असम के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने कहा है कि देशव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को पहली शीशी से जिन स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा, उनमें राज्य के 12 जाने-माने डॉक्टर शामिल हैं। मंत्री ने गुवाहाटी के एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि राज्य में 33 जिलों में 65 स्थानों पर टीका लगाने की शुरुआत की जाएगी।

राज्य में मुख्यमंत्री डिब्रूगढ़ के असम मेडिकल कॉलेज अस्पताल एवं स्वास्थ्य मंत्री यहां गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में इस अभियान का उद्घाटन करेंगे। 1.9 लाख स्वास्थ्यकर्मियों में से 6500 को पहले दिन टीका लगाया जाएगा। श्रीमंत शंकरदेव स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. उमेश चंद्र शर्मा टीका लेने वाले पहले व्यक्ति होंगे। पद्मश्री से सम्मानित डॉ. इलियास अली, साहित्य अकादमी पुरस्कार पा चुके बारपेटा मेडिकल कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. अच्युत और उसके अधीक्षक डॉ. अभिजीत शर्मा एवं अन्य बड़े डॉक्टर टीका लगवाएंगे।

दिल्ली: डॉक्टर, नर्स और सफाई कर्मचारी को लगेगा टीका

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में शनिवार को एलएनजेपी अस्पताल में एक डॉक्टर, एक नर्स और एक सफाई कर्मचारी को कोविड-19 का टीका दिया जाएगा। टीकाकरण अभियान की शुरुआत सुबह के समय होगी और केजरीवाल दिल्ली के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल लोकनायक जयप्रकाश नारायण (एलएनजेपी) का दौरा करने वाले हैं जिसने पूरे महामारी के दौरान बेहतर सेवा प्रदान की है। राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को 81 केंद्रों पर कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू होगा।

जनवाणी लाइव: आज से कोरोना के अंत की शुरुआत, उत्सव जैसा माहौल

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments