Sunday, January 23, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliनिजीकरण के विरोध में बैंक कर्मचारियों का प्रदर्शन

निजीकरण के विरोध में बैंक कर्मचारियों का प्रदर्शन

- Advertisement -
  • आज से शुरू है बैंकों की दो दिवसीय हड़ताल

जनवाणी संवाददाता |

शामली: बुधवार की शाम यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन शामली के जिला संयोजक विपिन पूनिया के नेतृत्व में धीमानपुरा स्थित इंडियन ओवरसीज शाखा के बाहर के राष्ट्रीयकृत बैंक के कर्मचारियों ने ‘बैंकिंग ला अमेंटमेंट बिल 2021’ के विरोध में प्रदर्शन किया। जिला संयोजक विपिन पूनिया ने बताया कि इस बिल के पास होने से सरकार 76 प्रतिशत इक्विटी बेच सकेगी। यें बैंकों पर सरकार के नियंत्रण को बदलकर प्राइवेट हाथों में देना होगा।

सभी बैंक कर्मचारी इसका पुरजोर विरोध करते हैं। बैंकों का निजीकरण देशहित में नहीं है। विगत वर्षों में कई प्राइवेट बैंक फेल हो चुके हैं, जिसमें आम जनता का पैसा डूब गया है। सरकारी बैंकों में सरकार जनता के धन की सुरक्षा की गारंटी लेती है। प्राइवेट होने पर शाखाओं में कमी होगी।

निजीकरण से बैंकों के दरवाजे धीरे-धीरे आम आदमी के लिए बंद हो जाएंगे। सैंटल बैंक आफ इंडिया व इंडियन ओवरसीज बैंक के निजीकरण का प्रस्ताव ला रही हैं। सरकार की नीति के तहत भविष्य में धीरे-धीरे सारे बैंकों का निजीकरण होगा। सभी बैंक कर्मचारी 16 व 17 दिसम्बर को हड़ताल कर ‘बैंकिंग ला अमेंटमेंट बिल 2021’ बिल का विरोध करेंगे। सरकार यदि मानती है आंदोलन तेज होगा।

प्रदर्शनकारियों में शैलेंद्र कुमार, कृष्णपाल, मनोहर, ललित कुमार, रविकांत, निशांत, तुषार, शशांक, मनोज, रजनीश, रमेश चंद, सुनील कुमार, संजय जैन, प्रमोद मुक्ता, विनेश गुप्ता, अंशु सिंह, गुलबहार, राहुल देशवाल, विजय, विजेंद्र, वीरेंद्र वर्मा, प्रदीप, संदीप, विभाकर पांडेय, सुभाष तोमर, रामपाल सिंह आदि शामिल रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments