Thursday, March 4, 2021
Advertisment Booking
Home संवाद संस्कार

संस्कार

सच्चा सुख हमारे अंदर ही स्थित होता है 

सनातन काल से ही मानव खुशियों की प्राप्ति के लिए परेशान रहा है। वह खुशियां हासिल करने की चाहत में बेशुमार प्रयत्न करता है,...

कलाओं का जन्म आनन्द की प्यास से होता है

विश्व मानवता का सतत विकास हुआ है। मनुष्य ने सुख स्वस्ति और आनन्द के लिए लगातार प्रयत्न किये हैं। प्रकृति और मनुष्य के बीच...

संसार का ज्ञान बड़ा जरूरी है

अमरत्व की प्यास प्राचीन है। उपनिषदों में भी अमृत की प्यास बार-बार दोहराई गई है। प्रश्नोपनिषद में अमरत्व प्राप्ति का साधन प्राण शक्ति...

संस्कार: प्रत्येक मनुष्य अद्वितीय है    

सभी मनुष्य जनहितकारी राजव्यवस्था और समाज व्यवस्था में रहना चाहते हैं। ऋग्वेद (9.111.10 व 11) में सोम देवता से प्रार्थना है कि जहां जीवन...

भैया दूज भाई-बहन के पावन संबंधों की मजबूती का पर्व

भाई-बहन के दिलों में पावन संबंधों की मजबूती और प्रेमभाव स्थापित करने वाला पर्व है ‘भैया दूज’। इस दिन बहनें अपने भाइयों को तिलक...

…और यह समय भी गुजर जाएगा

एक अति प्राचीन कथा है जिसके कथ्य प्रेरणा से ओत-प्रोत है। कहा जाता है कि किसी प्रदेश का एक सम्राट अपने राज्य की प्रजा...

सुहागिनों के अखंड सुहाग का प्रतीक है करवा चौथ  

करवा चौथ नारी को शक्ति की अवतारिणी के रूप में महामंडित करने का व्रत है और पारिवारिक एवं सामाजिक जीवन में यह संदेश लेकर...

हम साथ साथ चलें

भारतीय राजनीति लोकमंगल का उपकरण है। सभी दल अपनी विचारधारा को देशहित का साधन बताते हैं। विचार आधारित राजनीति मतदाता के लिए सुविधाजनक होती...

… या देवी सर्वभूतेषु

अनादि काल से मां भगवती की शक्ति के अवतार के रूप में पूजा की जाती है। उनके 108 नाम हैं। अनादि, अविचल, अविनाशी, अनंत,...

संस्कार: देवी उपासना का स्रोत जम्बूद्वीप है

प्रकृति दिव्यता है, सदा से है। देवी है। मनुष्य की सारी क्षमताएं प्रकृति प्रदत हैं। जीवन के सुख-दुख, लाभ-हानि व जय-पराजय प्रकृति में ही...

धार्मिक ग्रंथों में जल की महिमा

अनिरुद्ध जोशीे  पांच तत्वों में से एक है जल। पुराणों में वर्णित है जल की महिमा का महत्व। शुद्ध जल और पवित्र जल में फर्क...

संस्कार: माता-पिता के प्रति संतान के कर्तव्य 

स्वार्थ वश माता-पिता की आज्ञा का उलंघन कर के अलग रहने वाले पुत्र तो कृतघ्नी ही होते हैं। शास्त्रों में तो पुत्र के लिए...

Most Read