Tuesday, December 7, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutठेकेदार ने सिख श्रमिकों की पगड़ी फाड़ी, केश काटे

ठेकेदार ने सिख श्रमिकों की पगड़ी फाड़ी, केश काटे

- Advertisement -
  • पुलिस ने बिना जांच श्रमिकों को डाला हवालात में, परिजनों ने ठेकेदार सहित 15 अज्ञात के खिलाफ दी तहरीर

जनवाणी संवाददाता |

परीक्षितगढ़: दो दिन पूर्व क्षेत्र के गांव अहमदपुरी में नवनिर्माणाधीन बिजली प्लांट के ठेकेदार से मजदूरी का पैसा मांगने पर सिख समाज के श्रमिकों के साथ लाठी-डंडों से मारपीट कर कमरे में बंधक बना लिया।

जबरन पगड़ी से केश काट दिये और चोरी का आरोप लगाकर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों युवकों को हिरासत में लेकर हवालात में बंद कर दिया।

दिल्ली निवासी मुकेश सिंह, विक्रम सिंह गांव अहमदपुरी में नवनिर्माणधीन बिजली के प्लांट पर सरिया काटने व लिंटर डालने का कार्य कर परिवार का पालन-पोषण करते हैं।

दो दिन पूर्व मजदूरी के पेशे मांगने पर ठेकेदार ने दोनों सिख समाज के श्रमिकों के साथ लाठी-डंडों से बर्बरता से मारपीट करते हुए कमरे में बंधक बना लिया तथा दो सिख समाज के श्रमिकों की पगड़ी फाड़ते हुए केश काटकर चोरी का आरोप लगा थाना पुलिस को सूचना दी।

जिस पर थाना पुलिस ने दोनों श्रमिकों को बंधनमुक्त कर हिरासत में लेकर थाने ले आई और बिना जांच के ही दोनों को हवालात में डाल दिया।

इसके बाद मंगलवार को सिख समाज के लोगों को पगड़ी से केश काटने की जानकारी मिलने पर पुलिस के प्रति रोष व्याप्त हो गया और भाजपा नेता अमित मोहन टीपू के नेतृत्व में दर्जनों लोगों ने नगर में जुलूस निकालते हुए थाने में जमकर हंगामा-प्रदर्शन किया।

सिख समाज के लोगों ने ठेकेदार पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मुकदमा दर्ज कराने व दोनों युवकों को छोड़ने की मांग की। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने करीब दो घंटे बाद दोनों को श्रमिकों को थाने से छोड़ दिया। पीड़ित विक्रम की मां फूलकौर ने थाने में ठेकेदार सहित चार नामजद और 15 अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है।

गुरुद्वारा साहिब में गुजारी रात

चोरी के आरोप में जब मुकेश सिंह व विक्रम सिंह के परिवार को पता तो परिवार के लोग थाने पहुंचे और सोमवार को पूरे दिन पुलिस से मामले की जांच करने की बात कहते रहे, लेकिन पुलिस ने रात भी पीड़ित परिवार की एक नहीं सुनी।

देर रात होने पर दोनों श्रमिकों के परिवार के साथ महिलाएं गुरुद्वारा पहुंचे तथा गुरुद्वारा साहिब कमेटी के लोगों से आप बीती सुनाई। जिस पर सिख समाज के लोगों में रोष व्याप्त हो गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments