Saturday, October 23, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatकिसान आंदोलन में खाना लेकर जा रहे किसानों को रोका, हंगामा

किसान आंदोलन में खाना लेकर जा रहे किसानों को रोका, हंगामा

- Advertisement -
  • किसानों ने डूंडाहेडा पुलिस चौकी के पास लगाया जाम, समझाने के बाद शांत हुए किसान
  • पेरिफेरवल हाइवे पर बनायी अस्थाई पुलिस चौकी, पुलिस बल किया गया है तैनात

जनवाणी संवाददाता |

खेकड़ा: नए कृषि कानून के विरोध में गाजीपुर बार्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के लिए खाना लेकर जा रहे किसानों को डूंडाहेड़ा चौकी पर रोकने पर हंगामा कर दिया। हंगामा कर उन्होंने दिल्ली सहारनपुर हाइवे की एक तरफ जाम लगा दिया। प्रशासन के काफी समझाने के बाद किसान वापिस लौट गए। वहीं बढ़ते आंदोलन को देखते हुए प्रशासन ने एक्सप्रेस-वे पर अस्थाई पुलिस चौकी बना दी और वहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

नए कृषि कानून के विरोध में किसान गाजीपुर बार्डर पर आंदोलन कर रहे है। जिनके लिए भाकियू कार्यकर्ता गुरुवार को खाना लेकर जा रहे थे। जैसे ही वह डूंडाहेड़ा चौकी पर पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया, जिससे किसान भड़क गए। उन्होंने दिल्ली-सहारनपुर हाइवे की एक तरफ ट्रेक्टर ट्राली खड़ा कर जाम लगा दिया।

किसानों का कहना था कि वहां जो किसान आंदोलन कर रहे है। वह उनके भाई है। वह उनके लिए भोजन लेकर जा रहे है, लेकिन प्रशासन ने उन्हें रास्ते में ही रोक दिया। वह केवल आंदोलन कर रहे किसानों को भोजन देने के लिए ही तो जा रहे है। आंदोलन तो नहीं कर रहे फिर प्रशासन उन्हें क्यो रोक रहा है।

क्या किसान इस देश मे पराया हो गया है। जिसको भोजन तक लाने ले जाने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान तो भूखा रहकर भी आंदोलन कर लेंगे, लेकिन इस देश के लोग किसान के बिना रह सकते है। उन्होंने कहा कि शासन प्रशासन किसानों के सब्र का इम्तिहान ना ले।

वरना परिणाम बहुत बुरा होगा। वह प्रशासन से भोजन ले जाने की जिद पर अड़े रहे। काफी मशक्कत के बाद प्रशासन ने किसानों को वापिस लौटा दिया। जिसके बाद जाम खुला। इस अवसर पर हरेंद्र दांगी, अशोक, धर्मपाल, बबलू, श्याम पाल, शुशील, महावीर, विनोद, यशवीर, सतवीर आदि किसान मौजूद रहे।

एक्सप्रेस-वे पर बनायी अस्थाई चौकी

नए कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे हरियाणा व पंजाब के किसान यूपी भी पहुंच रहे है। जिसको लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। तीन दिन पूर्व एसडीएम अजय कुमार ने तहसीलदार व नायब तहसीलदार को हाइवे पर निगरानी रखने के निर्देश दिए थे।

जिसके बाद पेरिफेरवल हाइवे पर यमुना नदी के पुल पर बेरियर लगाए गए थे, लेकिन ठंड बढ़ने के कारण हाइवे पर रुकना मुश्किल हो रहा था। ठंड से बचाव व सतर्क निगरानी के लिए हाइवे पर अस्थाई पुलिस चौकी का निर्माण किया जा रहा है।

अस्थाई चौकी पर लगने वाले तंबु के लिए स्थान देखने के लिए एसपी अभिषेक सिंह, एडीएम अमित कुमार व एएसपी मनीष मिश्रा गुरुवार को पेरिफेरवल हाइवे पर पहुंचे। वहां पर निरीक्षण करने के बाद उन्होंने हाइवे के बीच बने डिवाइडर पर ही चौकी बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने हाइवे से गुजरने वाले प्रत्येक वाहन की सघन चेकिंग करने के भी निर्देश दिए। उनके निर्देश के बाद हाइवे पर अस्थाई चौकी बना दी गई।

यमुना नदी पर किसानों को रोका

गुरुवार को हरियाणा की तरफ से प्रशासन को पंजाब के किसानों के आने की सूचना मिली। सूचना मिलते प्रशासन ने पेरिफेरवल हाइवे पर यमुना नदी के पुल पर डेरा जमा लिया। वहां पहुंचे किसानों को प्रशासन ने हाइवे पर ही रोक दिया। जिसपर किसान भड़क गए।

उनका कहना था कि वह पलवल में लंगर लगाने के लिए जा रहे है, लेकिन प्रशासन ने उन्हें रास्ते में ही रोक दिया है। सिंधु बार्डर पर किसानों के धरने के चलते वह इस हाइवे से होकर पलवल जा रहे है। लेकिन गाड़ियों पर किसान संगठनों के झंडे होने के चलते प्रशासन ने उन्हें आगे भेजने से साफ इंकार कर दिया। लेकिन हरियाण से आए किसान भी जिद पर अड़ गए।

जिसके बाद एसडीएम खेकड़ा अजय कुमार भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने भी उन्हें वापिस लौटने के लिए काफी समझाया। लेकिन किसान पलवल में लंगर लगाने की जिद पर अड़े रहे। जिसके वाद प्रशासन ने उन्हें गाजियाबाद की तरफ रवाना कर दिया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments