Monday, July 26, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorउत्तराखंड सीमा तक ही जा रही यूपी की बसें, परेशानी

उत्तराखंड सीमा तक ही जा रही यूपी की बसें, परेशानी

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

नजीबाबाद: उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड जाने वाले यात्रियो को इन दिनों भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यात्रियों को कोरोना की पाजिटिव रिपोर्ट और ई-पास से ही उत्तराखंड में प्रवेश दिया जा रहा है। नजीबाबाद डिपो की बसों को केवल भागूवाला तक ही जाने दिया जा रहा है जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

विगत माह से उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड दोनों ही राज्यों में वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर सरकारों ने लाकडाउन जारी कर दिया था। हालांकि एक जून से उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से 14 जनपदों को छोड़कर बाकी में कोरोना कर्फ्यू में सुबह सात बजे से रात्रि सात बजे तक के लिए सप्ताह में शनिवार व रविवार को छोड़कर छूट दे दी गयी है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों का संचालन कोरोना कर्फ़्यू के दौरान भी प्रदेश भर में जारी रखा गया।

इस दौरान भी उत्तर प्रदेश की बसों को उत्तराखंड सीमा में प्रवेश नहीं दिया जा रहा था और अभी भी स्थिति जस की तस बनी हुयी है। जिसके चलते यात्रियों को उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड जाने के लिए दोनों प्रदेशों की सीमा पर कोटावाली नदी पुल के समीप या भागू वाला में बसों की अदला-बदली करनी पड़ रही है। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में बैठकर बार्डर पर पहुंचने वाले यात्रियों को उत्तराखंड सीमा में उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों के न मिलने पर उन्हें थ्रीव्हीलर (विक्रम) पर सवार होकर हरिद्वार आदि के लिए सफर करना पड़ रहा है।

उधर उत्तराखण्ड सरकार की ओर से प्रदेश में प्रवेश के लिए यात्री के पास कोरोना जांच की पाजिटिव रिपोर्ट तथा ई-पास का होना अनिवार्य किया गया है। उत्तराखंड राज्य में वहां की सरकार की ओर से सात दिन का लाकडाउन बढ़ा दिए जाने से उत्तर प्रदेश राज्य से उत्तराखंड में प्रवेश पाने वाले यात्रियों को कोई राहत नहीं मिल पा रही है। उत्तर प्रदेश की सीमा में उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के मुरादाबाद डिपो, सीतापुर डिपो, केसरबाग डिपो, पीतल नगरी डिपो, विकास नगर डिपो, नजीबाबाद डिपो, चांदपुर डिपो, बिजनौर डिपो समेत कई डिपो की बसें यात्रियों को लाने-ले जाने का काम कर रही हैं परंतु उत्तराखण्ड राज्य की सीमा में यात्रियों के लिए बसों की कमी के चलते यात्रियों को घंटों बसों की प्रतीक्षा करनी पड़ती है।

जिसके चलते वहां से हरिद्वार के लिए चलाए जा रहे टैम्पो व थ्रीव्हीलर संचालन दो गुने से भी अधिक तक का मनमाना किराया वसूल रहे हैं। इस संबंध में एआरएम प्रभात चौधरी ने बताया कि उत्तराखंड में नजीबाबाद डिपो की 10 बसे चल रहीं है जो केवल बॉर्डर तक जा रही है जिससे आय भी प्रभावित हो रही है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments