Wednesday, December 8, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliरागिनी के माध्यम से सुनाया जाट महापुरुषों का इतिहास

रागिनी के माध्यम से सुनाया जाट महापुरुषों का इतिहास

- Advertisement -
  • राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति का दीपावली मिलन समारोह

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति के तत्वावधान में करनाल रोड स्थित एक बैंकटहॉल में दीपावली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें रागिनी के माध्यम से जाट समाज के महापुरूषों के गौरवशाली इतिहास के बारे में बताया गया और समाज में फैली बुराइयों को दूर करने का आहवान किया गया।

रविवार को शहर के करनाल रोड स्थित एमएस फार्म में राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति के पदाधिकारियों द्वारा दूसरा दीपावली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ बाबा श्याम सिंह, बाबा संजय कालखांडे ने जाट समाज के महापुरूषों को याद करके किया। इस दौरान जाट समाज के गौरवशाली इतिहास पर बाहर से आये कलाकारों द्वारा रागनी प्रस्तुत की गई, जिसमें जाट महापुरूषों को सराहा गया।

इस दौरान मुख्य अतिथि विपिन सिंह बालियान, देवराज चौधरी व विनोद प्रमुख ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जाट समाज हिन्दु, मुस्लिम और सिख तीनों समुदाय में है। जाटों को एकजुट होकर एक मंच पर आने की जरूरत है। ऐसे कार्यक्रमों के माध्यम से सभी को एक साथ आने का मौका मिलता है।

कार्यक्रम आयोजक प्रमेन्द्र सिंह नंबरदान ने कहा कि समिति द्वारा प्रत्येक वर्ष दीपावली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, ताकि जाटों को एक मंच पर लाया जा सके और समाज में फैली बुराईयों को दूर किया जा सके। उन्होने आगामी जिला पंचायत चुनाव में भी जाटों की भूमिका पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन सचिन चौधरी व जिलाध्यक्ष देवराज पहलवान ने किया।

इस अवसर पर युवा अध्यक्ष वीरेन्द्र मलिक, पंकज सरोहा, अनिल मलिक, सुनील मलिक, राजबीर सिंह मुडेट, राजन जावला, शेर मौहम्मद, मनोज तेवतियां, अक्षय चौधरी बधेव, सुनील चौधरी आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments