Saturday, January 22, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeINDIA NEWSकरनाल: किसान महापंचायत आज, इंटरनेट सेवा बंद

करनाल: किसान महापंचायत आज, इंटरनेट सेवा बंद

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो|

नई दिल्ली: हरियाणा सरकार ने मंगलवार को करनाल में होने वाली किसान महापंचायत और मिनी सचिवालय के घेराव को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किए हैं। करनाल के अलावा राज्य के चार जिलों में मंगलवार रात 11:59 बजे तक इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं बंद रहेंगी। दिल्ली-चंडीगढ़, चंडीगढ़-दिल्ली रूट डायवर्ट किया गया है। वहीं हिंसा रोकने पर विशेष ध्यान रहेगा।

आईजी करनाल और करनाल रेंज के सभी एसपी को कानून व्यवस्था बनाए रखने का निर्देश दिया गया है। डीजीपी पीके अग्रवाल ने सोमवार को तैयारियों की समीक्षा करते हुए किसानों से शांति बनाए रखने की अपील की।

कुरुक्षेत्र विवि ने मंगलवार को होने वाली परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। इंटरनेट सेवाएं बंद रहने के कारण अब परीक्षाएं 28 सितंबर को होंगी। गृह विभाग के सचिव ने हालात के मद्देनजर दूरसंचार सेवाओं के अस्थायी निलंबन का आदेश जारी किया है।

इन जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

करनाल में किसानों की महापंचायत में उपद्रव की आशंका को देखते हुए सरकार ने कुरुक्षेत्र, जींद, पानीपत और कैथल में भी सात सितंबर रात 11: 59 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद करने का निर्णय लिया है।

सीआईडी के एडीजीपी ने सरकार को बताया है कि किसानों के प्रदर्शन के दौरान करनाल व आसपास के जिलों में स्थिति बिगड़ सकती है, इसलिए विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है।

सरकार और प्रशासन सतर्क: कानून व्यवस्था बिगाड़ी तो होगी कड़ी कार्रवाई 

करनाल में मंगलवार को होने वाली किसान महापंचायत और मिनी सचिवालय के घेराव को देखते हुए सरकार और प्रशासन सतर्क है। कानून व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कानून के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सरकार का मानना है कि इंटरनेट सेवाएं जारी रहने से जन सुरक्षा और कानून-व्यवस्था में व्यवधान हो सकता है।

असामाजिक तत्व मोबाइल एसएमएस, सोशल मीडिया के माध्यम से झूठी अफवाहें फैला सकते हैं। इससे सार्वजनिक संपत्ति और सुविधाओं को नुकसान पहुंचाने की स्पष्ट संभावना है। गृह विभाग के सचिव ने हालात के मद्देनजर दूरसंचार सेवाओं के अस्थायी निलंबन का आदेश जारी किया है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्थाओं का प्राथमिक उद्देश्य प्रदेश सहित विशेष रूप से करनाल में शांति व्यवस्था बनाए रखना, किसी भी तरह की हिंसा रोकना, यातायात व सार्वजनिक परिवहन प्रणाली का सुचारू संचालन व सार्वजनिक संपत्ति की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने और नागरिकों की सुरक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। कानून व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कानून के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

एनएच-44 का उपयोग करने वाले करनाल जाने से बचें

विर्क ने कहा कि राजमार्ग संख्या 44 (अंबाला-दिल्ली) पर करनाल जिले में यातायात बाधित हो सकता है। इसलिए एनएच-44 का उपयोग करने वाले नागरिकों को सलाह दी जाती है कि 7 सितंबर को करनाल शहर की तरफ यात्रा से बचें या अपने गंतव्य तक जाने के लिए वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करें। जरूरत पड़ने पर सुबह नौ बजे से रूट डायवर्ट किया जाएगा।

रूट डायवर्ट: दिल्ली से चंडीगढ़

दिल्ली की ओर से आने वाले वाहनों को पैप्सी पुल (पानीपत) से होते हुए मूनक से असंध व मूनक से गगसीना, घोघड़ीपुर से होते हुए करनाल के हांसी चौक, बाईपास पश्चिमी यमुना नहर से होते हुए कर्ण लेक जीटी रोड 44 से होते हुए चंडीगढ़ की ओर निकाला जाएगा।

हल्के वाहनों को मधुबन, दाहा, बजीदा, घोघड़ीपुर से होते हुए हांसी चौक, बाईपास यमुना नहर कर्ण लेक जीटी रोड 44 से होते हुए चंडीगढ़ की ओर निकालेंगे।

रूट डायवर्ट: चंडीगढ़ से दिल्ली

चंडीगढ़ की ओर से जाने वाले वाहनों को पीपली चौक (कुरुक्षेत्र) से लाडवा, इंद्री, ब्याना, नेवल, कुंजपुरा से होते हुए नंगला मेघा, मेरठ रोड से होते हुए अमृतपुर खुर्द, कैरवाली तथा घरौंडा से जीटी रोड 44 से होते हुए दिल्ली की ओर निकाला जाएगा।

हल्के वाहनों को रंबा कट तरावड़ी से रंबा चौक इंद्री रोड से होते हुए संगोहा, घीड़, बड़ागांव, नेवल, कुंजपुरा से हेते हुए नंगला मेघा, मेरठ रोड़ से होते हुए अमृतपनुर खुर्द, कैरवाली तथा घरौंडा से जीटी रोड़-44 से होते हुए दिल्ली की ओर निकालेंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments