Sunday, September 19, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeINDIA NEWSJanwani Exclusive: महापंचायत की पूरी खबर, बस क्लिक में वीडियो-फोटो

Janwani Exclusive: महापंचायत की पूरी खबर, बस क्लिक में वीडियो-फोटो

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत को लेकर किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी है। जिले के बॉर्डर को हाई अलर्ट पर रखा गया है। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत समेत अनेक खापों के चौधरी पंचायत स्थल पर मौजूद हैं।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी महापंचायत में आए हैं और केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर हैं। उन्होंने स्पष्ट किया है कि जब तक यह आंदोलन सफल नहीं होगा तबतक वह घर वापस नहीं लौटेंगे।

योगेंद्र यादव ने प्रदेश और केंद्र सरकार पर हमला करते हुए पांच आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य नहीं बढ़ा, फसल बीमा के नाम पर फरेब किया, दाना दाना खरीदने का वादे पर खरीद नहीं हुई, कर्जमाफी के नाम ढोंग किया और लोगों को धर्म के नाम पर बांट दिया। उन्होंने कहा कि सौ सुनार की अब किसानों ने एक लुहार की चोट मारी है।

10 और 11 सितंबर को लखनऊ में होगी अहम बैठक                    

आगामी 10 और 11 सितंबर को लखनऊ में तमाम किसान संगठन के पदाधिकारियों की एक अहम बैठक होगी, जिसमें प्रदेश स्तर और जिला स्तर पर संयुक्त मोर्चा बनाए जाने पर मुहर लगाई जाएगी।

वही महापंचायत के दौरान संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों में बलदेव सिंह राजेवाल, गुरनाम सिंह चड्डूनी, राकेश टिकैत समेत सभी पदाधिकारियों ने मंच से एलान किया कि यूपी मिशन की सोच के साथ महापंचायत की गई थी लेकिन अब यह पूरे देश का मिशन है।

27 सितंबर को भारत बंद का एलान                                                   

किसान महापंचायत के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से एलान कर दिया गया है कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के तहत 27 सितंबर को भारत बंद किया जाएगा। इसके अलावा यह भी एलान किया गया कि अब संयुक्त किसान मोर्चा का गठन देश के प्रत्येक राज्य में और प्रत्येक जिले में भी किया जाएगा।

मंच से लगे अल्लाहु अकबर के नारे                                              

महापंचायत के मंच से टिकैत ने कहा कि यूपी की योगी सरकार सांप्रदायिक दंगा कराने वाली सरकार है। भाजपा तोड़ने का काम करती है और हम जोड़ने का काम करते हैं। इसी धरती से अल्लाहु अकबर और हर हर महादेव के नारे लगते रहे हैं और लगते रहेंगे। इसी के साथ टिकैत ने वहां मौजूद लोगों से नारे भी लगवाए।

मंच से टिकैत ने कहा कि मोदी-योगी की सरकार झूठी है। किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई। किसानों को गन्ने का भाव 430 रुपये प्रति कुंतल नहीं मिला। अब जब तक मांग पूरी नहीं होगी दिल्ली में आंदोलन जारी रहेगा। पूरे देश में संयुक्त मोर्चा आंदोलन करेगा। जब तक यह आंदोलन सफल नहीं होगा तबतक घर वापस नहीं लौटूंगा।

राकेश टिकैत बोले- हमें भारत के संविधान को बचाना है                 

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अब यह मिशन यूपी नहीं अब मिशन भारत है। हमें भारत के संविधान को बचाना है। मोदी सरकार और योगी सरकार बिजली, एयरपोर्ट सब कुछ बेचने की तैयारी कर रहे हैं।

हमें वोट पर चोट करनी होगी: मेधा पाटेकर                                        

महापंचायत में पहुंचीं मेधा पाटेकर ने कहा कि हमें वोट पर चोट करनी होगी। मोदी ने नोटबंदी की थी कि हमें वोटबंदी करके मोदी योगी को हराना है।

व्यवस्था बिगड़ी तो माइक लेकर बोले राकेश टिकैत                          

महापंचायत के दौरान कुछ किसानों ने माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया तो राकेश टिकैत ने माइक लेकर लोगों को तीखे तेवर के साथ समझाया और शांति बनाए रखने की अपील की।

महिला न्यूज एंकर के साथ अभद्रता                                                 

महावीर चौक के पास जीआईसी ग्राउंड के बाहर एक न्यूज चैनल की महिला न्यूज एंकर के साथ भीड़ ने की जमकर अभद्रता की। कुछ लोगों ने बमुश्किल भीड़ से बचाकर महिला न्यूज एंकर को एक कार्यालय में पहुंचाया, जहां से पुलिस ने सुरक्षा के बीच उन्हें बाहर निकाला। बाद में महिला न्यूज एंकर बिना कवरेज किए वापस चली गईं।

किसान इस देश की आवाज: प्रियंका गांधी                                    

मुजफ्फरनगर में महापंचायत पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि किसान इस देश की आवाज हैं। किसान देश का गौरव हैं। किसानों की हुंकार के सामने किसी भी सत्ता का अहंकार नहीं चलता। खेती-किसानी को बचाने और अपनी मेहनत का हक मांगने की लड़ाई में पूरा देश किसानों के साथ है।

27 सितंबर को होगा भारत बंद                                                    

महापंचायत से किसान मोर्चा ने बड़ा एलान करते हुए बताया कि 25 सितंबर को भारत बंद का एलान किया था लेकिन किन्हीं कारणों से अब इसकी तारीख बदल दी गई है। अब 27 सितंबर को भारत बंद किया जाएगा। पंचायत से हर जिले में संयुक्त मोर्चा बनाने का भी एलान किया गया।

भाजपा सांसद वरुण गांधी का किसानों को समर्थन                          

भाजपा सांसद वरूण गांधी ने किसानों का समर्थन किया है। उन्होंने किसानों का दर्द समझने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट किया कि, मुजफ्फरनगर में आज लाखों किसान धरना प्रदर्शन में जुटे हैं, वे हमारा ही खून हैं। हमें उनके साथ सम्मानजनक तरीके से फिर से जुड़ने की जरूरत है। उनके दर्द समझें, उनका नजरिया देखें और जमीन तक पहुंचने के लिए उनके साथ काम करें।

सैलाब बनकर उमड़ा किसानों का रेला                                      

मुजफ्फरनगर के जीआईसी ग्राउंड में आयोजित इस महापंचायत को किसान एक पर्व की तरह देख रहे हैं। जिले के अलमासपुर चौराहे से कार्यक्रम स्थल तक किसानों की जबरदस्त भीड़ एक रेले के रूप में बढ़ रही है। सफेद कमीज व कुर्ता पायजामा, सिर पर हरी टोपी और गमछा लिए किसानों की लंबी लाइनें दूर तक नजर आ रहीं हैं।

किसानों ने लगाए नारे                                                      

महापंचायत शुरू होने से पहले आयोजकों ने राकेश टिकैत का हरे, नारंगी और सफेद गमछे हवा में लहराकर स्वागत किया और महापंचायत को शुरू कराने की हामी भरी। पंचायत स्थल पर भारी संख्या में युवा किसान नजर आए। किसानों का उत्साह किसी उत्सव से कम नहीं लग रहा है।

महापंचायत की पार्किंग से लेकर जीआईसी मैदान के मंच तक की व्यवस्था भाकियू और संयुक्त किसान मोर्चा के वालिंटियर ही संभाल रहे हैं। पुलिस फोर्स किसानों की जिले और शहर में सुरक्षित एंट्री और उनका सकुशल प्रस्थान तक ही व्यवस्था देख रही है, जबकि भोजन शिविर, भंडारे, पार्किंग, पानी, शौचालय, मीडिया, एंट्री और एग्जिट सभी व्यवस्थाएं वालिंटियर्स के हवाले हैं।सभी वालिंटियर्स को आईकार्ड दिए गए हैं, ताकि उनकी पहचान आसान हो सके।

महिलाओं ने भी बढ़चढ़कर दिखाई भागीदारी                                   

किसान महापंचायत में महिलाओं की बढ़चढ़कर भागीदारी नजर आ रही है। हरियाणा राज्य से काफी संख्या में महिलाएं किसान दलों के साथ पंचायत स्थल पर पहुंची है। बता दें कि कर्नाटक के भी कई किसान दल महापंचायत में शामिल होने पहुंचे हैं।

गुरनाम सिंह चढूनी और योगेंद्र यादव मंच पर पहुंचे                             

मुजफ्फरनगर में हो रही महापंचायत के मंच पर किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी, योगेंद्र यादव पहुंचे चुके हैं। इसके अलावा मेधा पाटेकर भी मंच पर मौजूद है।

गठवाला खाप के थांबेदार बाबा श्याम सिंह बने महापंचायत अध्यक्ष

भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत भी महापंचायत के मंच पर पहुंच चुके हैं। बता दें कि आज महापंचायत के मंच से टिकैत परिवार एकसाथ हुंकार भर रहा है। महापंचायत का अध्यक्ष गठवाला खाप के थांबेदार बाबा श्याम सिंह को बनाया गया है। किसान आंदोलनों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने वाली गठवाला खाप एक बार फिर ताकत दिखाने जा रही है। भाकियू नेता ओमपाल मलिक ने कहा कि गठवाला हमेशा की तरह सबसे खास भूमिका निभाएगा, सबसे बड़ी भागीदारी गठवाला की होगी।

मंच पर पहुंचे राकेश टिकैत                                                         

मुजफ्फरनगर महापंचायत में शिरकत करने के लिए भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पहुंच गए हैं। महापंचायत में किसानों का हुजूम उमड़ पड़ा है।

ट्विटर पर ट्रेंड हुई किसान महापंचायत                                              

किसान महापंचायत में शामिल होने वाले युवा किसान सोशल मीडिया पर महापंचायत की तस्वीरें व वीडियो शेयर कर रहे हैं। वहीं ट्विटर पर हैशटैग किसान महापंचायत ट्रेंड कर रहा है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बिल वापसी नहीं, तो घर वापसी नहीं का प्रण लिया था, जिसके बाद  राकेश टिकैत आज पहली बार अपने गृह जनपद पहुंचे हैं। खास बात यह भी है कि ऐसा पहली बार होगा कि जब टिकैत परिवार एक साथ महापंचायत के मंच पर नजर आएगा।

हालांकि भारतीय किसान यूनियन के नेता धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि राकेश टिकैत घर नहीं जाएंगे, यहां पंचायत के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर लौट जाएंगे।

गांधी, सुभाष, आजाद और भगतसिंह बनकर पहुंचे हरियाणा के किसान

हरियाणा के हिसार जनपद के गांव पावड़ा के ग्रामीण महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद और सरदार भगत सिंह बनकर किसान महापंचायत में पहुंचे हैं। लोग इन किसानों के साथ सेल्फी लेने के लिए उत्साहित दिखे।

इतिहास लिखने को बेताब किसान                                                     

मुजफ्फरनगर के जीआईसी मैदान से संयुक्त मोर्चा की होने वाली महापंचायत इतिहास लिखने को बेताब है। इस मैदान की खासियत रही है कि जब-जब यहां सत्ताधारी पार्टी के विरोध में पंचायत का आयोजन हुआ है तो सत्ताधारी पार्टी को आगामी चुनाव में मुंह की खानी पड़ी है। उत्तर प्रदेश के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, गुड़गांव अन्य राज्यों से भी किसान भारी संख्या में महापंचायत में पहुंच रहे हैं।

हाईवे पर दूर-दूर तक ट्रैक्टर ट्रॉली का काफिला दिखाई दे रहा है। इस दौरान हाईवे पर जाम की स्थिति भी बनी हुई है। जिस कारण अन्य वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। किसान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। वहीं, किसान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

गौरतलब है कि लंबे समय बाद सरकार के खिलाफ किसानों में ऐसा गुस्सा देखने को मिला है। महापंचायत में किसान, मजदूर, कर्मचारी, छात्र व महिलाएं भी बढ़-चढ़कर शामिल होने पहुंच रहे हैं। पंचायत में पहुंची महिलाओं ने कहा कि हमें अगली पीढ़ी को जवाब देना है। ये किसानों के हक की लड़ाई है जिसे वे जीतकर रहेंगे।

उधर, रालोद के किसान महापंचायत को समर्थन देने के बाद बागपत में समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने भी किसान महापंचायत को समर्थन देने का निर्णय लिया है। सपा कार्यकर्ता भी पंचायत स्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

खाप चौधरी भी पहुंचे महापंचायत स्थल                                         

जीआईसी मैदान में आयोजित किसान महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत समेत अनेक खापों के चौधरी पंचायत स्थल पर पहुंच गए। वहीं मेरठ के सिवाया टोल प्लाजा पर राकेश टिकैत के पहुंचने पर किसान कार्यकर्ताओं द्वारा पुष्पवर्षा कर उनका जोरदार स्वागत किया गया। यहां से वह पंचायत स्थल रवाना हुए।

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बिल वापसी नहीं, तो घर वापसी नहीं का प्रण लिया था, जिसके बाद राकेश टिकैत आज पहली बार अपने गृह जनपद पहुंचे हैं।

जनता कह रही है थेंक्यू किसान

धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि राकेश टिकैत महापंचायत के बाद अपने घर नहीं जाएंगे, यहां से वह गाजीपुर बॉर्डर पर लौट जाएंगे। खास बात यह भी है कि ऐसा पहली बार होगा कि जब टिकैत परिवार एक साथ महापंचायत के मंच पर नजर आएगा।

एक रन और युद्ध का होगा ऐलान: युद्धवीर सिह

सहारनपुर में शराब के सभी ठेके बंद                                             

किसान महापंचायत को लेकर सहारनपुर जिले में भी पुलिस प्रशासन सतर्क है। हरियाणा बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। किसानों की वापसी के दौरान भी रहेगी पुलिस अधिकारियों की पैनी नजर रहेगी। उधर, जिला प्रशासन ने महापंचायत के चलते शहर के सभी शराब के ठेके बंद करा दिए हैं।

जाटों की चौधराहट थी और भविष्य में भी रहेगी: खाप

किसान के सम्मान से सरकार को खतरा है: जयंत चौधरी                  

महापंचायत पर पुष्पवर्षा करने के लिए रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी को प्रशासन की तरफ से अनुमति नहीं दी गई, जिसके बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बहुत माला पहनी है मैंने, मुझे जनता ने बहुत प्यार और सम्मान दिया है। उन्होंने कहा कि मैं अन्नदाताओं पर पुष्पवर्षा कर किसानों को नमन और उनका सम्मान करना चाहता था। लेकिन प्रशासन ने इसके लिए अनुमति नहीं दी। इसके अलावा उन्होंने लिखा कि किसान के सम्मान से सरकार को खतरा है।

Live Janwani News: जानिए, मुजफ्फरनगर में महापंचायत तो मेरठ ये चल रहा

भाजपा को रालोद की चुनौती                                                      

किसान महांपचायत में बागपत से करीब 15 हजार किसान पहुंचे हैं। किसान बस, ट्रैक्टर-ट्रॉली, कार व बाइकों पर सवार होकर आए हैं। रालोद नेता भी अपने समर्थकों के साथ महापंचायत में पहुंचे। उनका कहना है कि भाजपा सरकार आगामी चुनाव में किसानों का उत्पीड़न करने का खामियाजा भुगतेगी।

Live Janwani News: जानिए, मुजफ्फरनगर में महापंचायत तो मेरठ ये चल रहा

किसानों को दिया जा रहा नाश्ता                                            

मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत में पहुंचने वाले किसानों को जानसठ रोड पर भंडारा लगाकर नाश्ता दिया जा रहा है। चौधरी चरण सिंह मार्केट के सामने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष शामली प्रसन्न चौधरी ने किसान ढाबे का उद्घाटन किया। उनके साथ रालोद जिलाध्यक्ष प्रभात तोमर, रालोद नेता कृष्णपाल राठी व अन्य मौजूद रहे।

अलसुबह ही गांव से महापंचायत के लिए मुजफ्फरनगर रवाना हुए किसान

नजर आ रही किसानों की भारी भीड़                                       

किसान महापंचायत के लिए सुबह से ही किसान निकलना शुरू हो गए। वहीं पंचायत स्थल पर किसानों की अभी से भारी भीड़ नजर आ रही है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि शाम तक भारी संख्या में किसान महापंचायत में शामिल होंगे। उधर, प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के चाक चौबंद इंतजाम किए हैं।

महापंचायत को लेकर आबकारी विभाग अलर्ट                            

महापंचायत को लेकर आबकारी विभाग भी अलर्ट हो गया है। शासन से निर्देश मिलने के बाद जिला आबकारी अधिकारी आलोक कुमार की ओर से भी सभी लाइसेंसियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी लाइसेंसी दुकानदारों को हिदायत दी गई है कि वह परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए दुकान खोलें। कहीं किसी तरह की विपरीत स्थिति बनती है तो तत्काल दुकान बंद कर दें और वीडियोग्राफी कराएं। उन्होंने बताया कि विभागीय टीमों को भी सक्रिय कर दिया गया है। वह भी संभावित स्थानों पर वर्दी में मौजूद रहकर अपनी ड्यूटी निभाएंगे।

अलर्ट मोड पर पुलिस, किसान बड़ी संख्या में रवाना

किसानों के स्वागत के लिए वॉलंटियर्स तैनात                               

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रेस प्रभारी शमशेर राणा ने बताया कि किसानों के स्वागत के लिए यूपी गेट से मुजफ्फरनगर तक रास्ते में पड़ने वाले सभी गांवों में वॉलंटियर्स तैनात किए गए हैं। उनके स्वागत में कोई कमी न रह जाये इसके लिए मुजफ्फरनगर में खाने तथा जलपान के करीब 600 भण्डारे लंगर की व्यवस्था की गई है। साथ ही चिकित्सा सुविधा हेतु 20-25 मेडिकल कैंप लगाए गए हैं। साथ ही यह भी ध्यान रखा गया है कि इस गैर राजनीतिक राष्ट्रीय महापंचायत में कोई भी राजनीतिक दल का नेता संबोधित न करें।

तैयार किया गया यातायात प्लान                                          

महापंचायत के लिए जिला प्रशासन ने भाकियू नेताओं के साथ विचार-विमर्श कर शहर का यातायात प्लान तैयार किया है। इसके लिए शहर में आईटीआई कॉलेज का मैदान, नुमाइश मैदान, इस्लामिया इंटर कॉलेज का मैदान, डीएवी इंटर कॉलेज का मैदान, रेलवे यार्ड और कूकड़ा नवीन मंडी स्थल पर वाहनों को खड़ा करने के लिए निर्धारित किए गए हैं।

आज लिया जाएगा बड़ा फैसला                                                 

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने एलान किया है कि महापंचायत में एक बड़ा फैसला लिया जाएगा। टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार को भारतीय जनता पार्टी की सरकार न कह कर इसे मोदी सरकार कहा जाए तो बेहतर होगा।

महापंचायत में उमड़ा सैलाब, दिखी किसान की ताकत

इस सरकार ने जो तीन कृषि कानून पास किए हैं। वह किसानों के हक में नहीं है। यह कानून पूरी तरह से देश को विदेशी हाथों में सौंपने की तैयारी है। उन्होंने कहा कि तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसान 9 महीने से दिल्ली के चारों तरफ बैठे हैं, लेकिन सरकार किसानों की सुनवाई नहीं कर रही है।

किसानों की आवाजाही                                            

महापंचायत के लिए शनिवार रात से ही बड़ी संख्या में किसानों की आवाजाही मुरादाबाद, संभल, बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ समेत कई जनपदों से जारी है। देर रात तक जिले के बॉर्डर पर पुलिस फोर्स मुस्तैद की गई है, जिससे किसानों को कोई परेशानी न हो।

बताया गया कि किसानों की सुरक्षा के मद्देनजर एसएसपी ने शनिवार रात में खुद ही बॉर्डर पर जाकर जांच की और ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों से बात भी की थी।  एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि पुलिस का ज्यादा फोकस मुजफ्फरनगर जाने वाले मार्ग पर है। इसको देखते हुए ही पुलिस की ड्यूटी लगाई है।

बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम                                       

जिले के बॉर्डर पर सुरक्षा के मद्देनजर सरधना, मवाना, किठौर, सीओ सदर देहात पुलिस फोर्स के साथ लगाए हैं। वहीं, एसपी सिटी, सीओ ब्रह्मपुरी व सीओ दौराला को परतापुर व दौराला टोल प्लाजा पर तैनात किया गया है। 14 इंस्पेक्टर, 35 दरोगा, 31 महिला कांस्टेबल, 30 पुलिसकर्मी ट्रैफिक पुलिस, 30 होमगार्ड, 133 कांस्टेबल व एक कंपनी पीएसी को तैनात किया जाएगा।

बस एक क्लिक में दैनिक जनवाणी का वाट्एप एडिशन

What’s your Reaction?
+1
9.8k

+1
500.6k

+1
56.9k

+1
51.3k

+1
1.3k

+1
10

+1
1

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments