Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorनई पेंशन योजना पूरी तरह से असुरक्षित: हाजी दानिश

नई पेंशन योजना पूरी तरह से असुरक्षित: हाजी दानिश

- Advertisement -
0
  • शिक्षकों ने न्यू पेंशन स्कीम का काली पटटी बांधकर विरोध जताया

जनवाणी संवाददाता |

किरतपुर: राष्ट्रीय मूवमेंट आफ ओल्ड पेंशन स्कीम एवं अटेवा के राष्ट्रीय आह्वान पर जनपद में न्यू पेंशन स्कीम के विरोध में काला दिवस मनाया गया। जनपद के विभिन्न कॉलेजों में पुरानी पेंशन बंद करने और एक अप्रैल से नई पेंशन लागू करने के विरोध में महात्मा गांधी मेमोरियल पब्लिक मुस्लिम इंटर कॉलेज के शिक्षकों ने विद्यालय में काली पट्टी बांधकर न्यू पेंशन स्कीम के विरोध में कार्य किया और संवैधानिक रूप से न्यू पेंशन स्कीम के विरोध में अपना विरोध दर्ज कराया।

पूर्व शिक्षक एमएलसी प्रत्याशी हाजी दानिश अख्तर ने बताया कि एक अप्रैल 2005 से उत्तर प्रदेश सरकार ने सरकारी नौकरियों में पुरानी पेंशन योजना बंद करके उसकी जगह नई पेंशन योजना लागू की जो कि पूरी तरह से असुरक्षित और शेयर बाजार पर आधारित है। उन्होंने कहा कि जब देश में एक विधान एक संविधान है तो देश के सांसदों को और विधायकों को क्यों पुरानी पेंशन दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन कर्मचारियों शिक्षकों का संवैधानिक अधिकार है जिसे हर हाल में लेकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि जब शिक्षक कर्मचारी रिटायर होकर अपने घर जाएगा तो वह खाली हाथ होगा उन्होंने पुरानी पेंशन को बुढ़ापे की लाठी की संज्ञा दी। पूरे देश में राष्ट्रीय नेशनल मूवमेंट ऑफ ओल्ड पेंशन स्कीम के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु सड़क से लेकर सत्ता तक पुरानी पेंशन बहाली के लिए संघर्षरत है।

उन्होंने शिक्षक कर्मचारियों से आह्वान किया कि वह पुरानी पेंशन बहाली के लिए जन जागरण अभियान चलाकर आंदोलन को गति प्रदान करें। विद्यालयों में पुरानी पेंशन बहाली के लिए पीएफआरडीए बिल की प्रतियां भी जलाई।

इस मौके पर फिरोज अहमद, बिलाल, आसिफ, जावेद हुसैन, आसकार आलम, नावेद अहमद, मोहम्मद वसीम, आदिल, मोहम्मद हारुन, अजहर महमूद, सुखबीर सिंह, कपिल चौहान, महफूज खान, महमूद आलम, दिलशाद आलम, अफजाल अहमद व विशाल खान आदि रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments